जिम में ओवरट्रेनिंग से बचने के उपाय

जिम में व्‍यायाम करने से शरीर स्‍वस्‍थ तो होता है। लेकिन अति हर चीज की बुरी होती है, फिर चाहे वो जिम में जाकर व्‍यायाम करना ही क्‍यों न हो। रोजाना ओवरट्रेनिंग करना सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकता है।

Nachiketa Sharma
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Nachiketa SharmaPublished at: Sep 26, 2012
जिम में ओवरट्रेनिंग से बचने के उपाय

स्‍वस्‍थ और सुडौल शरीर बनाने की इच्‍छा सभी की होती है। इसके लिए लोग जिम में जमकर पसीना बहाते हैं। कुछ लोग कम समय में ही शरीर को 'वी शेप' देना चाहते हैं, इसके लिए जिम में ज्‍यादा कसरत करते हैं। जिम में व्‍यायाम करने से शरीर स्‍वस्‍थ तो होता  है। लेकिन अति हर चीज की बुरी होती है, फिर चाहे वो जिम में जाकर व्‍यायाम करना ही क्‍यों न हो। रोजाना ओवरट्रेनिंग करना सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकता है। जानते हैं ओवरट्रेनिंग के नुकसान-

overexercising in hindi




हड्डियों की कमजोरी

व्‍यायाम करने से हड्डियां मजबूत होती हैं। लेकिन आजकल के युवा जल्‍दी से जल्‍दी अपने शरीर को वी शेप देना चाहते हैं जिसके लिए जरूरत से ज्‍यादा व्‍यायाम करते हैं। इसके कारण हड्डियों पर दबाव बढ़ता है और हड्डियां मजबूत होने के बजाय कमजोर हो जाती हैं। बढ़ती उम्र के साथ-साथ हड्डियों में दर्द होना आम समस्‍या हो जाती है। इसके अलावा गठिया रोग होने की भी संभावना होती है।

 

ऐसा क्‍यों होता है

व्‍यायाम करने से शरीर पर दबाव बढ़ता है। जिम में कसरत करने के बाद जब आदमी आराम की मुद्रा में आता है तब यही दबाव हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाता है। लेकिन ओवरट्रेनिंग करने से शरीर को पर्याप्‍त आराम नहीं मिल पाता। इस‍का परिणाम यह होता है कि हड्डियां व मांसपेशियां मजबूत होने के बजाय कमजोर होने लगती हैं। इसके कारण थकान होने लगती है और शरीर में ऊर्जा का स्‍तर घटने लगता है।


ओवरट्रेनिंग के अन्‍य नुकसान

ज्‍यादा कसरत करने से खून का दबाव बढ़ता है और शरीर से इंसुलिन और एचडीएल कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर घटता है। इसके चलते दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

 

ओवरट्रेनिंग की पहचान

अगर आप हर रोज जिम जाकर पसीना बहाते हैं लेकिन इसी बीच कोई गैप हो जाता है तो और इस गैप के कारण आप तनाव और थकान महसूस करते हैं तो यह ओवरट्रेनिंग का नतीजा हो सकता है। इसके अलाव एक्‍सारइज करने के बाद कुछ देर तक आप चिड़चिड़ापन महसूस कर रहे हैं तो यह ज्‍यादा व्‍यायाम करने का नतीजा है।


ऐसे बचें ओवरट्रेनिंग से

शरीर की बनावट के अनुसार ही व्‍यायाम कीजिए। कसरत के दौरान शरीर की मुद्रा को ठीक रखिए। एक घंटे से ज्‍यादा देर तक व्‍यायाम करने से बचिए। कम से कम आठ घंटे की भरपूर नींद लीजिए। सप्‍ताह में एक दिन शरीर को आराम दीजिए। अगर व्‍यायाम के बाद लगातार थकावट महसूस हो तो कुछ दिनों के लिए व्‍यायाम करना छोड़ दीजिए।

 

व्‍यायाम शरीर को फिट बनाने के लिए किया जाता है, लेकिन आपकी जल्‍दबाजी और गलती इसे फिट बनाने के बजाय अस्‍वस्‍थ बना सकती है। इसलिए शरीर को स्‍वस्‍थ्‍य और शेप में लाने के लिए पूरा समय दीजिए। कोशिश यह कीजिए कि आप जिस जिम में एक्‍सरसाइज कर रहे हैं वहां पर ट्रेनिंग देने वाला कुशल ट्रेनर हो। इससे आपका शरीर स्‍वस्‍थ और सुडौल तो होगा साथ ही कोई गंभीर बीमारी भी नहीं होगी।

 

Image Source : Getty Images 

Read More Articles on Health and fitness in Hindi.

Disclaimer