Doctor Verified

इन 4 विटामिन्स की कमी से जोड़ों में हो सकता है दर्द, जानें कैसे पूरी करें इनकी कमी

Vitamins Cause Joint Pain: जोड़ों में दर्द कौन-कौन से विटामिंस की कमी से हो सकता है? चलिए जानते हैं इसके बारे में-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 04, 2022Updated at: Apr 04, 2022
इन 4 विटामिन्स की कमी से जोड़ों में हो सकता है दर्द, जानें कैसे पूरी करें इनकी कमी

Joint Pain in Hindi: जोड़ों में दर्द आजकल बेहद आम हो गया है। पहले जहां बढ़ती उम्र में लोगों को जोड़ों का दर्द परेशान करता था, वही अब छोटी उम्र के लोगों को भी जोड़ों में दर्द हो रहा है। पुरुषों की तुलना में महिलाएं जोड़ों के दर्द से अधिक परेशान रहती हैं। शरीर में कुछ खास विटामिंस की कमी जोड़ों में दर्द के मुख्य कारण (Joint Pain Causes in Hindi) होते हैं। इसके साथ ही खराब लाइफस्टाइल, फिजिकली फिट न रहना और अस्वस्थ आहार भी जोड़ों में दर्द का कारण बन सकते हैं।  फैमिली फिजिशियंस ऑफ इंडिया, ग्रेटर नोएडा के अध्यक्ष डॉक्टर रमन कुमार से जानें किस विटामिन की कमी से जोड़ों में दर्द होता है-  

1. विटामिन बी12 (Vitamin B12 in Hindi)

शरीर में विटामिन बी12 की कमी जोड़ों में दर्द का मुख्य कारण हो सकता है। विटामिन बी12 की कमी से ज्वाइंट्स, लोअर बैक में पेन बढ़ सकता है। शरीर में विटामिन बी12 की कमी से एड़ी में दर्द, हाथ पैरों में दर्द, मसल्स में दर्द की समस्या हो सकती है। हर समय थकान महसूस करना भी विटामिन बी12 की कमी का लक्षण (vitamin B12 Deficiency Symptoms in Hindi) होता है। इतना ही नहीं विटामिन बी12 की कमी एनीमिया का कारण भी बन सकती है। इसलिए आपको विटामिन बी12 डाइट लेना बहुत जरूरी है। सैल्मन, टूना, दूध और डेयरी प्रोडक्ट और अंडा विटामिन बी12 के अच्छे (Vitamin B12 Sources in Hindi) सोर्स हैं। जोड़ों में दर्द होने पर आपको अपनी डाइट में विटामिन बी12 जरूर शामिल करना चाहिए।

vitamin D

2. विटामिन डी (Vitamin D Deficiency in Hindi)

विटामिन डी की कमी शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को प्रभावित कर सकती है। आजकल अधिकतर लोगों में विटामिन डी की कमी देखने को मिलती है। जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, कूल्हों और पैरों में दर्द विटामिन डी की कमी के लक्षण (Vitamin D Deficiency Symptoms in Hindi) होते हैं। इसके अलावा कमजोरी, थकान भी विटामिन डी की कमी के लक्षण होते हैं।

दरअसल, विटामिन डी एक पोषक तत्व है जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को नियंत्रित करने में मदद करता है। विटामिन डी हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। धूप लेना विटामिन डी का एक सबसे बेस्ट (Vitamin D Sources in Hindi) सोर्स है। इसके अलावा सैल्मन, मैकेरल और टूना मछली, अंडे की जर्दी, मशरूम और दूध भी विटामिन डी के अच्छे सोर्स हैं। 

इसे भी पढ़ें - घर पर पता लगाएं शरीर में किस विटामिन या मिनरल की है कमी, डॉक्टर से जानें कुछ खास संकेत

3. कैल्शियम (Calcium Deficiency)

35 की उम्र के बाद अधिकतर महिलाओं में कैल्शियम की कमी देखने को मिलती है। इसके अलावा बच्चों, बुजुर्गों में भी कैल्शियम की कमी देखने को मिलती है। हड्डियों के कमजोर होने पर जोड़ों में दर्द होने लगता है। हड्डियों में दर्द, जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में ऐंठन, हाथ-पैरों में झुनझुनाहट आदि शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण (Calcium Deficiency Symptoms in Hindi) होते हैं। चिया सीड्स, खसखस के बीज, तिल, चीज, दही, दाल, फली, बादाम, हरी पत्तेदार सब्जियां, दूध और मछली कैल्शियम के बेहतरीन सोर्स (Calcium Sources Food) हैं। शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर आप इन फूड्स का सेवन कर सकते हैं।

joint pain

(image source: reidhealth.org)

4. विटामिन बी कॉम्पलेक्स (Vitamin B Complex Deficiency in Hindi)

आजकल अधिकतर लोगों को विटामिन बी कॉम्पलेक्स की कमी का भी सामना करना पड़ रहा है। विटामिन बी कॉम्पलेक्स की कमी की वजह से भी जोड़ों में दर्द की समस्या हो सकती है। जिन लोगों को शरीर में बहुत ज्यादा दर्द होता है, खासकर शाम के समय। उनमें विटामिन बी कॉम्पलेक्स की कमी देखने को मिलती है। इस दौरान पैरों, कमर और पीठ में दर्द (Vitamin B Complex Deficiency Symptoms in Hindi) रहता है। साथ ही पैरों में क्रैम्पस भी पड़ सकते हैं। अगर आपको भी जोड़ों में दर्द, शरीर में दर्द रहे तो विटामिन बी की जांच करवा सकते हैं। दूध, चीज, अंडे, चिकन, मीट, मछली, पालक आदि विटामिन बी कॉम्पलेक्स के अच्छे सोर्स (Vitamin B Complex Sources in Hindi) होते हैं।

इसे भी पढ़ें - केला और घी एक साथ खाने से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें कैसे करें सेवन

अगर आपको लंबे समय तक जोड़ों में दर्द हो, तो आपको विटामिन की जांच जरूर करवानी चाहिए। विटामिन की कमी पाए जाने पर आप हेल्दी डाइट ले सकते हैं, साथ ही जिन विटामिंस की कमी होती है डॉक्टर की सलाह पर उनके सप्लीमेंट भी ले सकते हैं। 

(main image source: jointflex.com)

Disclaimer