डेंगू के मरीजाें में प्लेटलेट्स कम होने का कारण बनती है विटामिन बी12 की कमी, जानें इस विटामिन के स्त्राेत

विटामिन बी12 की कमी डेंगू के मरीजाें में लगातार प्लेटलेट्स गिरने का कारण हाे सकता है। आपकाे इससे भरपूर खाद्य पदार्थ अपनी डाइट में शामिल करने चाहिए।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Oct 04, 2021
डेंगू के मरीजाें में प्लेटलेट्स कम होने का कारण बनती है विटामिन बी12 की कमी, जानें इस विटामिन के स्त्राेत

आजकल डेंगू के मरीजाें की संख्या में लगातार बढ़ाेत्तरी हाे रही हैं। डेंगू एक ऐसा वायरस है, जाे एडिज इजिप्टी मच्छर (aedes aegypti mosquito) के काटने से फैलता है। यह एक खास तरह का मच्छर हाेता है,  जिसके काटने से तेज बुखार आता है और डेंगू की शिकायत हाेती है। डेंगू एक गंभीर बीमारी है, लगातार तेज बुखार इसका एक सामान्य लक्षण है। डेंगू में व्यक्ति की प्लेटलेट्स गिरने लगती है, जाे समस्या काे गंभीर बनाता है। अगर प्लेटलेट्स सामान्य तरीके से गिरे ताे व्यक्ति काे जल्दी से रिकवर किया जा सकता है, लेकिन कुछ स्थिति में प्लेटलेट्स तेजी से और लगातार गिरते हैं। जिन डेंगू मरीजाें में विटामिन बी12 की कमी हाेती है, उनके प्लेटलेट्स लगातार गिरते हैं। साथ ही उन्हें रिकवर करने में भी लंबा समय लगता है। 

इस बारे में जानने के लिए हमने मणिपाल अस्पताल, ओल्ड एयरपाेर्ट राेड की सलाहकार-संक्रामक राेग विशेषज्ञ डॉक्टर नेहा मिश्रा (Dr. Neha Mishra, Consultant - Infectious Diseases, Manipal Hospitals Old Airport Road)  से बातचीत की-

dengue

(Image Source : Ayogyaonline.com)

क्या विटामिन बी12 की कमी से गिरते हैं डेंगू मरीजाे में प्लेटलेट्स?

डॉक्टर नेहा मिश्रा बताती हैं कि डेंगू एक ऐसी बीमारी है, जिसमें प्लेटलेट्स में गिरावट आ जाती है। साथ ही यह कभी-कभी रक्तस्त्राव का कारण भी बनता है। डेंगू हेमाेरेजिक बुखार नामक स्थिति काे भी जन्म देता है। डॉक्टर नेहा बताती हैं कि विटामिन बी12 उचित प्लेटलेट्स संरचना कार्य और वितरण के लिए जिम्मेदार हाेता है। इसलिए विटामिन बी12 की कमी गंभीर थ्राेम्बाेसाइटाेपेनिया के लिए जिम्मेदार हाेता है। विटामिन बी12 की कमी डेंगू मरीजाें की प्लेटलेट्स लगातार कम हाेती जाती है। विटामिन बी12 की कमी से शरीर में रेड ब्लड सेल्स का निर्माण नहीं हाे पाता है। इसलिए यह रिकवरी में देरी का कारण बनता है। डॉक्टर नेहा बताती हैं कि जिन लाेगाें में विटामिन बी12 की कमी हाेती है,  उन्हें डेंगू से स्वस्थ हाेने में अधिक समय लगता है। साथ ही प्लेटलेट्स भी सामान्य डेंगू मरीज से अधिक चढ़ाने की जरूरत पड़ती है। ऐसे में डेंगू मरीजाें काे विटामिन बी12 से भरपूर खाद्य पदार्थाें काे अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - क्या एक बार ठीक हाेने के बाद दाेबारा भी हाे सकता है डेंगू बुखार? डॉक्टर से जानें बचाव टिप्स

क्या है विटामिन बी 12 (What is Vitamin B12)

विटामिन बी12 हमारे शरीर के लिए जरूरी विटामिन में से एक है। यह हमारे दिमाग और नर्वस सिस्टम के लिए बहुत जरूरी विटामिन है। शरीर में रेड बल्ड सेल्स बनाने के लिए विटामिन बी12 की जरूरत हाेती है। विटामिन बी12 शरीर में फॉलक एसिड ऑब्सर्ब करता है, जिससे एनर्जी मिलती है। दरअसल, हमारे शरीर में हर मिनट लाखाें रेड ब्लड सेल्स बनते हैं। शरीर में विटामिन बी12 की कमी हाेने पर ये ब्लड सेल्स नहीं बन पाते हैं। इसलिए इसे शरीर के लिए जरूरी विटामिन माना जाता है। अगर डेंगू में लगातार प्लेटलेट्स गिरे, ताे यह विटामिन बी12 का कमी का लक्षण हाे सकता है ।

B12 source

(Image Source : Brainstudy.info)

विटामिन बी12 के स्त्राेत (Vitamin B12 Source)

इन दिनाें डेंगू का वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है। ऐसे में इससे बचाव करने के लिए आपकाे अपनी डाइट का खास ध्यान रखना बहुत जरूरी हाेता है। डेंगू के मरीजाें काे जल्दी रिकवरी करने के लिए अपनी डाइट में विटामिन बी12 काे जरूर शामिल करना चाहिए। क्याेंकि इसकी कमी डेंगू के मरीजाें की देरी से रिकवरी का कारण बन सकता है। जानें विटामिन बी12 के स्त्राेत- 

डेयरी प्राेडक्ट

डेयरी प्राेडक्ट काे स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है। डेयरी प्राेडक्टर प्राेटीन और विटामिंस के साथ ही विटामिन बी12 से भी भरपूर हाेता है। डेयरी उत्पाद में आप पनीर, दही, दूध, घी आदि का सेवन कर सकते हैं। अगर राेजाना डेयरी प्राेडक्ट्स का सेवन किया जाए, ताे विटामिन बी12 की कमी से बचा जा सकता है। साेया मिल्क भी शाकाहारियाें के लिए एक अच्छा बी12 का स्त्राेत है। विटामिन बी12 दिल और दिमाग दाेनाें के लिए जरूरी हाेता है।

पशु मांस

अगर आप मांसाहारी है, ताे आपके शरीर में विटामिन बी12 की कमी शायद ही देखने काे मिले। अकसर मांसाहारी की तुलना में शाकाहारी लाेगाें में इसकी अधिक कमी हाेती है। चिकन, मटन, अंडे में भरपूर मात्रा में विटामिन बी12 पाया जाता है। इसके अलावा मछली में भी विटामिन बी12 हाेता है। हाडॉक और टूना मछली में विटामिन बी12 भरपूर मात्रा में हाेता है। मांसाहारी है ताे इनके सेवन से इसकी कमी काे पूरा कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - बुखार आने पर कितने दिन में करवाना चाहिए डेंगू और मलेरिया का टेस्ट? डॉक्टर से जानें इसके बारे में

समुद्री भाेजन

समुद्री भाेजन में विटामिन बी12 काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। अगर आप समुद्री भाेजन खा रहे हैं, इसका मतलब है कि आपके शरीर काे विटामिन बी12 अच्छी मात्रा में मिल रहा है।

डॉक्टर नेहा बताती हैं कि जाे लाेग पूरी तरह से वीगन डाइट पर रहते हैं, उनमें विटामिन बी12 की कमी अधिक देखने काे मिलती है। अगर किसी डेंगू मरीज में विटामिन बी12 की कमी है, ताे उसे सप्लीमेंट के जरिए पूरी किया जा सकता है। लेकिन आपकाे इसका सप्लीमेंट डॉक्टर की सलाह पर ही लेना हाेता है।

Disclaimer