थायराइड में बहुत फायदेमंद होता है तुलसी का सेवन, जाने उपयोग का तरीका और फायदे

tulsi benefits for thyroid : थायराइड के मरीजों के लिए तुलसी खाना बेहद फायदेमंद माना जाता है। जानें कैसे करना चाहिए इसका सेवन-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Nov 03, 2021Updated at: Nov 03, 2021
थायराइड में बहुत फायदेमंद होता है तुलसी का सेवन, जाने उपयोग का तरीका और फायदे

क्या तुलसी से थायराइड को कंट्रोल में रखा जा सकता है? बदलती जीवनशैली और खान-पान की आदतों ने लोगों को ताउम्र साथ रहने वाली कई बीमारियों का शिकार बना दिया है। इन्हीं में से एक है थायराइड। थायराइड आजकल की एक बेहद सामान्य समस्या बन गई है। यह एक लाइफस्टाइल डिसीज है, जो लाइफस्टाइल सही न रहने की वजह से लोगों में देखने को मिलती है। थायराइड एक ग्रंथि होती है, जो गले में सामने की तरफ स्थित होता है। यह समस्या शरीर में आयोडीन की कमी की वजह से होता है। यह दो तरह का होता है- हाइपरथायरायडिज्म और हाइपोथायरायडिज्म। थायराइड ग्रंथि हॉर्मोन का उत्पादन करता है, जब यह बहुत अधिक हॉर्मोन का उत्पादन करने लगता है, तो इस स्थिति को हाइपरथायरायडिज्म कहा जाता है। वही जब यह ग्रंथि हॉर्मोन का बहुत कम उत्पादन करता है, तो इस स्थिति को हाइपोथायरायडिज्म कहते हैं। 

thyroid

थायराइड पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक देखने को मिलता है। आजकल हर दूसरी महिला थायराइड की बीमारी से जूझ रही हैं, इस दौरान उनका वजन काफी तेजी से बढ़ने लगता है और शरीर कमजोर पड़ जाता है। थायराइड के दौरान बढ़ा हुआ वजन कई अन्य गंभीर बीमारियों का भी कारण बन जाता है। ऐसे में इसे कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी होता है। थायराइड को कंट्रोल में रखने के लिए आपको दवाइयों के साथ ही अपनी डाइट का भी खास ध्यान रखना जरूरी होता है। थायराइड को कंट्रोल में रखने के लिए आप अपनी डाइट में तुलसी को शामिल कर सकते हैं, इससे काफी लाभ मिलेगा।

थायराइड के लक्षण (thyroid symptoms)

थायराइड के लक्षण सभी मरीजों में एक समान देखने को नहीं मिलते हैं। साथ ही शुरुआत में आपको इसके लक्षण पहचानने में मुश्किल हो सकती है, इसलिए हम आपको कुछ बेहद आम लक्षण बता रहे हैं, जिन्हें आपको बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

  • वजन का लगातार बढ़ना
  • वजन का लगातार कम होना
  • गले में सूजन होना
  • हृदय गति में बदलाव होना
  • मूड स्विंग होना
  • बालों का झड़ना

थायराइड में तुलसी का उपयोग (tulsi for thyroid)

थायराइड को कंट्रोल करने के लिए वैसे तो दवाइयों का सेवन बहुत जरूरी होता है, लेकिन डाइट में कुछ चीजें शामिल करके भी इसे कंट्रोल करने में मदद मिल सकती है। उन्हीं में से एक है तुलसी। तुलसी थायराइड के मरीजों के लिए एक काफी अच्छा घरेलू उपाय है। तुलसी का सेवन थायराइड को कंट्रोल करने के लिए किया जा सकता है।

थायराइड रोगियों के लिए तुलसी का सेवन असरकारी हो सकता है। तुलसी के सेवन से थायराइड के कई लक्षणों को कंट्रोल किया जा सकता है। दरअसल, तुलसी में एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो थायराइड में होने वाली कई परेशानियों को दूर करता है।

tulsi benefits

तुलसी में पोषक तत्व

तुलसी को स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी फायदेमंद माना जाता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। तुलसी की पत्तियों का सेवन करने से थायराइड को भी कंट्रोल में किया जा सकता है। तुलसी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व-

  • विटामिन सी
  • कैल्शियम
  • जिंक
  • आयरन
  • सिट्रिक
  • टार्टरिक
  • मैलिक एसिड

थायराइड में कैसे करें तुलसी का सेवन 

थायराइड में तुलसी का सेवन करना काफी लाभदायक होता है। इसके सेवन से थायराइड को काफी हद तक कंट्रोल में रखा जा सकता है। इसके लिए आपको तुलसी का सेवन कुछ अलग तरह से करना होगा। थायराइड में ऐसे करें तुलसी का सेवन-

थायराइड को कंट्रोल में करने के लिए तुलसी की ताजी पत्तियां तोड़ लें। अब इनका रस निकालें. करीब 2 चम्मच तुलसी का रस निकाल लें। अब इस रस में आधा चम्मच एलोवेरा जूस मिलाएं। इन दोनों को एक साथ मिलाकर सेवन करें। ऐसा करने से आप अपने थायराइड को काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं।

अगर आप भी थायराइड की बीमारी से जूझ रहे हैं, तो इस स्थिति में तुलसी का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। लेकिन आपको इसके सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए। 

Disclaimer