क्या है बच्चों में तेजी से फैल रही बीमारी टोमैटो फ्लू? जानें इसके लक्षण और बचाव के टिप्स

केरल के कुछ हिस्सों में बच्चों में 80 से ज्यादा टोमैटो फ्लू या टोमैटो फीवर के मामले दर्ज किये गए हैं, जानें क्या है टोमैटो फ्लू, इसके लक्षण और बचाव।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 11, 2022Updated at: May 11, 2022
क्या है बच्चों में तेजी से फैल रही बीमारी टोमैटो फ्लू? जानें इसके लक्षण और बचाव के टिप्स

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच देश में एक नई बीमारी ने दस्तक दे दी है। केरल के कई हिस्सों में एक नए वायरस का पता चला है जिसकी चपेट में सबसे ज्यादा बच्चे आ रहे हैं। गौरतलब हो कि इससे पहले केरल में फूड पॉइजनिंग के मामले सामने आये थे। जिसके बाद अब केरल में लगभग 80 बच्चों में टोमैटो फीवर की पुष्टि हुई है। टोमैटो फीवर या टोमैटो फ्लू (Tomato Flu in Hindi) की बीमारी 5 साल से कम उम्र के बच्चों में देखने को मिल रही है। कोरोना के रोजाना सामने आ रहे नए मामलों के बीच टोमैटो फ्लू के मामलों ने चिंता बढ़ा दी है। टोमैटो फ्लू दरअसल एक दुर्लभ बीमारी है जिसके चपेट में 80 से ज्यादा बच्चों के आने की पुष्टि हुई है। हालांकि केरल के अलावा देश के दूसरे राज्यों में इस बीमारी की पुष्टि की खबर अभी तक नहीं है। केरल राज्य में दर्ज हुए मामलों में यह देखा गया है कि संक्रमित बच्चों के शरीर पर टमाटर की तरह गोल-गोल दानें और चक्कते इसके लक्षण हैं। इसके अलावा टोमैटो फ्लू से संक्रमित बच्चों में तेज बुखार की समस्या भी देखी गयी है।

क्या  है टोमैटो फ्लू? (What is Tomato Flu?)

केरल में 80 से ज्यादा बच्चों में एक नई बीमारी की पुष्टि हुई है जिसे टोमैटो फीवर या टोमैटो फ्लू का नाम दिया गया है। यह एक तरह का वायरल फ्लू है जो सबसे ज्यादा 5 साल से कम उम्र के बच्चों में देखने को मिल रहा है। टोमैटो फ्लू से संक्रमित होने पर बच्चों के शरीर पर टमाटर की तरह से लाल रंग के दानें हो जाते हैं और इसकी वजह से उन्हें स्किन पर जलन और खुजली होती है। इसके अलावा इस बीमारी से संक्रमित होने पर मरीज को तेज बुखार भी आता है। टोमैटो फ्लू से संक्रमित होने वाले बच्चों को डिहाइड्रेशन की समस्या के साथ-साथ शरीर और जोड़ों में दर्द भे गंभीर रूप से होता है। केरल के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा दी गयी जानकारी के मुताबिक यह संक्रमण 5 साल से कम उम्र के बच्चों में देखने को मिला है और तेजी से फैल रहा है।

इसे भी पढ़ें : लिवर से जुड़ी रहस्यमयी बीमारी से हुई 1 बच्चे की मौत, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने की पुष्टि, जानें पूरा मामला

Tomato-Flu-in-Hindi

टोमैटो फ्लू के लक्षण (Tomato Flu Symptoms in Hindi)

टोमैटो फ्लू एक तरह का अज्ञात बुखार है जिसके मामले केरल में देखने को मिले हैं। इस समस्या में बच्चों के शरीर पर टमाटर जैसे लाल रंग के दानें और निशान हो रहे हैं जिसकी वजह से इसे टोमैटो फ्लू नाम दिया गया है। चूंकि यह एक दुर्लभ बीमारी है जिसके बारे में पर्याप्त जानकारी अभी तक नहीं मिली है। इसलिए यह कहना भी मुश्किल है कि यह बीमारी डेंगू या चिकनगुनिया के कारण हो रही है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से चेतावनी देते हुए यह कहा भी गया है कि अगर इस बीमारी को समय रहते कंट्रोल नहीं किया गया तो यह तेजी से राज्य में फैल सकती है। टोमैटो फ्लू के कुछ प्रमुख लक्षण इस प्रकार से हैं। 

  • शरीर पर टमाटर जैसे चकत्ते और दानें। 
  • तेज बुखार। 
  • शरीर और जोड़ों में दर्द। 
  • जोड़ों में सूजन। 
  • पेट में ऐंठन और दर्द। 
  • जी मिचलाना, उल्टी और दस्त। 
  • खांसी, छींक और नाक बहना। 
  • हाथ के रंग में बदलाव। 
  • मुंह सूखना। 
  • डिहाइड्रेशन। 
  • अत्यधिक थकान। 
  • स्किन में जलन। 

टोमैटो फीवर या टोमैटो फ्लू के कारण (Tomato Flu Causes in Hindi)

टोमैटो फीवर या टोमैटो फ्लू के 80 से ज्यादा मामले केरल राज्य के अलग-अलग हिस्सों में दर्ज किये गए हैं। दरअसल यह एक दुर्लभ बीमारी है और 5 साल से कम उम्र के बच्चों में देखने को मिल रही है इसलिए इसके बारे में अभी तक कोई सटीक जानकारी सामने नहीं आई है। केरल राज्य का स्वास्थ्य विभाग लगातार स्थिति पर नजर बनाये हुए है। विशेष रूप से यह बीमारी 5 साल से कम उम्र के बच्चों में हो रही है इसलिए चिंता और बढ़ गयी है। इसके बारे में जानकारी की कमी की वजह से अभी यह कह पाना बेहद मुश्किल है कि यह बीमारी किस वजह से फैल रही है या इसके कारण क्या हैं।

इसे भी पढ़ें : कोरोना वायरस के बाद अब 'मंकीपॉक्स' का खतरा, ब्रिटेन में सामने आये मामले, जानें इस बीमारी के लक्षण

टोमैटो फ्लू से बचने के टिप्स (Tomato Flu Prevention Tips in Hindi)

चूंकि विशेषज्ञों के पास भी अभी तक टोमैटो फ्लू को लेकर कोई विशेष जानकारी नहीं है इसलिए इसका कोई सटीक कारण और इलाज नहीं है। चूंकि यह एक प्रकार का दुर्लभ फ्लू है इसलिए इससे संक्रमित बच्चों का इलाज भी फ्लू की तरह से किया जा रहा है। टोमैटो फ्लू के तेजी से फैलने के खतरे को देखते हुए केरल राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी जारी की है। टोमैटो फ्लू से बच्चों को बचाने के लिए सबसे पहले इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि इसके लक्षण दिखते ही डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। इसके अलावा साफ-सफाई का उचित ध्यान रखने, सही डाइट और संक्रमित लोगों से दूर बनाकर रखने से आप इस स्थिति का शिकार होने से अपने बच्चों को बचा सकते हैं।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer