इन 5 तरीकों से बनाएं अपनी रोजाना की डाइट को पौष्टिक, रहेंगे स्वस्थ

निरोगी शरीर के लिए जरूरी है कि आप हेल्दी फूड हैबिट्स को अपने अंदर लाएं। उसके लिए लाइफस्टाइल में बदलाव जरूरी है। 

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Jun 03, 2021
इन 5 तरीकों से बनाएं अपनी रोजाना की डाइट को पौष्टिक, रहेंगे स्वस्थ

नया साल आता है हम प्रण करते हैं, इस साल कुछ भी जंक फूड नहीं खाएंगे। लेकिन एक महीने के भीतर प्रण टूट जाता है और बर्गर किंग दिखते ही जुबान बर्गर का टेस्ट लिए बिना रुकती नहीं है। यही नहीं कई लोग मोटापे को कम करने के लिए हर महीने संकल्प करते हैं कि इस महीने इतनी कैलोरी बर्न करनी हैं कि एकदम आलिया भट्ट बन जाऊं। लेकिन सच्चाई क्या होती है, वो आप भी जानते हैं। ऑनलाइन डिलेवरी का बढ़ता चलन और स्टेटस सिंबल बनता जंक फूड अनहेल्दी लाइफस्टाइल को प्रमोट कर रहा है। ऐसे में हेल्दी डाइट को लेकर खुद से की गई कस्में हम खुद ही तोड़ देते हैं। लेकिन आज के इस लेख में हम आपको बता रहे हैं कि आप अपनी डाइट को हेल्दी कैसे बना सकते हैं। कानपुर के एलपीएस इंस्टिट्यूट ऑफ कार्डियोलॉजी अस्पताल में डायटीशियन अमृता मसीह का कहना है कि स्वस्थ व्यक्ति के लिए समग्र स्वास्थ्य के 12 पिलर्स को पूरा करना जरूरी है। तभी व्यक्ति पूरी तरह स्वस्थ रह सकता है। डॉ. अमृता ने ओन्ली माई हेल्थ को कुछ आसान टिप्स दिए हैं जिससे आप अपनी डाइट को हेल्दी बना सकते हैं। 

inside6_Healthyeating

क्या हैं 12 पिलर्स?

डॉ. अमृता कहती हैं कि 12 पिलर्स को 3 हिस्सों में बांट सकते हैं। कोर, लाइफस्टाइल और एक्सटरनल। कोर सिस्टम में शरीर की फिजिकल हेल्थ को मेटेन किया जाता है। जिसमें पाचन, डिटॉक्सीफिकेशन, हार्मोनल और इम्युनिटी पर ध्यान दिया जाता है। लाइफस्टाइल में कोर पिलर्स को सपोर्ट करने वाले तत्वों पर ध्यान दिया जाता है। एक्सटरनल पिलर्स में सोशल, एनवायरमेंटल, ऑक्यूपेशनल और फाइनेंशियल पिलर्स शामिल हैं। डॉक्टर कहती हैं कि इन सभी पिलर्स से हमारी मानसिक और शारीरिक हेल्थ स्वस्थ रहती है।

डाइट को पौष्टिक ऐसे बनाएं

1. धीरे-धीरे खाएं

डॉक्टर अमृता का कहना है कि स्वस्थ शरीर के लिए जरूरी है कि खाना धीरे-धीरे और चबाकर खाना चाहिए। ताकि भोजन का स्वाद में अच्छे आ सके और भोजन ठीक से पच सके। जब खाना सही से पचेगा तो पाचन संबंधी परेशानियां नहीं होंगी। साथ ही डॉक्टर का कहना है कि ज्यादा गर्म या ज्यादा ठंडा भोजन भी न करें। इससे सेंसिटिविटी की दिक्कत होगी। और ज्यादा गर्म या ठंडो होने की वजह से आप खाना जल्दी खाएंगे और वह ठीक से पचेगा नहीं। 

2. वजन कम करने के लिए भोजन को छोड़ें

डॉक्टर अमृता कहती हैं कि कई लोगों को आदत होती है कि वे मोटापा कम करने के लिए खाना खाना बंद कर देते हैं। या फिर खाने की मात्रा बहुत कम कर देते हैं। इससे उनका वजन तो कम होता है लेकिन शरीर में कई और बीमारियां जन्म लेने लगती हैं। सही न्यूट्रीशन न मिलने की वजह से इम्युन सिस्टम कमजोर हो जाता है। इसलिए अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो कैलोरी पर ध्यान दें और नियमित व्यायाम करें। 

इसे भी पढ़ें : Amla vs Goji Berries: आंवला और गोजी बेरीज में कौन है ज्यादा हेल्दी?

inside3-Healthyeating

3. फल हमेशा दिन में खाएँ

फलों का सेवन दिन में ही करना चाहिए। क्योंकि दिन में शरीर चलता-फिरता रहता है। जिस वजह से फलों का पूरा न्यूट्रीशन शरीर को मिलता रहता है। रात को सोते समय हल्क खाना खाएं। तो वहीं, भोजन करने के तुरंत बाद सोएं नहीं। इन सभी तरीकों से शरीर स्वस्थ रह सकता है। 

4. जो भी खाएं खुश होकर खाएं

सिर्फ पोषणयुक्त भोजन करना ही जरूरी नहीं है, बल्कि भोजन आपको मिला है, उसके लिए आपको ग्रेटफुल होना चाहिए। जब आप खुश होकर खाना खाते हैं तो उससे आपके शरीर को उस भोजन का हर माइक्रोन्यूट्रियेंट मिलता है। इसलिए डॉक्टर की सलाह है कि खाना हमेशा खुश होकर खाना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : केला, आम, चेरी जैसे इन 6 फलों को लोग मानते हैं कम हेल्दी, लेकिन क्या सच में ऐसा है? जानें एक्सपर्ट से

inside5_Healthyeating

5. जंक फूड को कहें न

डायटीशियन अमृता का कहना है कि जंक फूड का सेवन न के बराबर करें। ये जेंक फूड शरीर में गैर जरूरी फैट बढ़ाते हैं। साथ ही कई बीमारियां उपहार में देते हैं। वे कहती हैं कि जंक फूड को त्याग दें। साथ ही डॉक्टर की सलाह की ज्यादा मसाले वाला खाना न खाएं। 

जो भी खाएं, अगर वह प्रसन्न मन से खाएंगे तो शरीर को उसका लाभ मिलेगा। डायटीशियन की सलाह की स्वस्थ शरीर और हेल्दी डाइट के लिए हेल्दी आदतों का पालन करना जरूरी है।  

Read More Articles On Healthy-Diet in Hindi

Disclaimer