रात में अचानक हो दांत में तेज दर्द तो क्या करें? डॉक्टर से जानें तुरंत आराम दिलाने वाले आसान उपाय

रात के समय में दांत में दर्द हो तो क्या करें व क्या नहीं। डेंटिस्ट के अनुसार जानें सही राय। पढ़ें यह रिपोर्ट।

Satish Singh
Written by: Satish SinghPublished at: Jul 31, 2021Updated at: Aug 31, 2021
रात में अचानक हो दांत में तेज दर्द तो क्या करें? डॉक्टर से जानें तुरंत आराम दिलाने वाले आसान उपाय

दर्द चाहे शरीर का हो या फिर कहीं और का, जो इस बीमारी-समस्या झेल रहा होता है। उसे काफी परेशानी होती है। वहीं यदि दर्द रात के समय हो तो उचित इलाज के लिए न तो लोग परामर्श ले पाते हैं और न ही कोई उपाय कर पाते हैं। उस कंडीशन में दर्द अधिक होने पर लोग इमरजेंसी में जाकर ट्रीटमेंट करवाते हैं। इस आर्टिकल में हम दांतों में होने वाले एकाएक दर्द की बात करेंगे, जो रात के समय में उठता है। यदि रात में ऐसा दर्द हो तो क्या करें व क्या नहीं इस विषय पर माइक्रो एंडोडोंटिस्ट-इंप्लांटलॉजिस्टिक और कंसल्टेंट डॉक्टर सौरव बनर्जी से बात करेंगे।

दांत का दर्द होने के कई हो सकते हैं कारण

माइक्रो एंडोडोंटिस्ट डॉ. सौरव बनर्जी बताते हैं कि वैसे तो दांत का दर्द होने पर हम बिना मरीज को देखे दवा लेने का सुझाव नहीं देते हैं। लेकिन रात के समय यदि दांतों का दर्द उठे तो उसे कुछ सुझाव जरूर आजमाने चाहिए। ताकि तत्काल समय के लिए दर्द से निजात पाकर दिन में एक्सपर्ट की सलाह लेकर उपचार कराया जा सके। वैसे दांतों में दर्द होने के कई वजह हो सकते हैं।

दांत सड़ने की वजह से लोगों को दांत का दर्द हो सकता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि दांत में सड़न की वजह से आगे चलकर कैविटी की समस्या बनती है। यदि इलाज न किया जाए तो मरीज को दर्द होता है। कैविटी होने पर इनेमल से बैक्टीरिया और एसिड निकलता है जो दांत के टिशू को नष्ट करते हैं। यही कारण है कि लोगों को दर्द होता है।

साइनस इंफेक्शन भी है कारण

कई लोगों को साइनस का इंफेक्शन होने के कारण उन्हें दांत में दर्द होता है। इस बीमारी की वजह से उन्हें रात में दर्द की समस्या होती है।

दांत में दर्द होने के अन्य कारण

  • गम डिजीज होने की वजह से (gum disease)
  • रात में दांत पीसने की वजह से
  • गम्स या फिर दांत में खाना फंसने की वजह से
  • विसडम टीथ या अडल्ट टीथ आने की वजह से (wisdom tooth or adult tooth)
  • जबड़े में चोट लगने की वजह से
  • मसूड़े में फोड़े होने के कारण
  • मसूड़े में पस जमने की वजह से
  • दांत में पहले किया हुआ फिलिंग निकलने के कारण
severe dental pain need treatment

रात में क्यों होता है ज्यादा दर्द

डॉ. सौरव बनर्जी बताते हैं कि कई बार दांत का दर्द प्रसव पीड़ा से बी अधिक होता है। ऐसा तब होता है जब मसूड़े में पस जम जाए। रात में दर्द उठने की वजह यह भी है कि जब व्यक्ति सोता है तो खून का संचार सिर में होता है। सिर में ज्यादा ब्लड जाने के कारण दर्द और प्रेशर बढ़ता है, इस वजह से लोगों को ज्यादा दर्द होता है।  

इसे भी पढ़ें : मुंह या दांत की सर्जरी के बाद क्या खाएं और क्या नहीं, जानें डॉक्टर से

ठंडे पानी या खाद्य पदार्थ से सनसनाहट के कारण दर्द 

डॉक्टर बताते हैं कि यदि किसी को ठंडे पानी या खाद्य पदार्थ के कारण दांतों में सनसनाहट है तो उसे यह उपाय आजमाना चाहिए। इसके तहत पानी को गुनगुना कर उसमें नमक डालकर गरारे करना चाहिए। इससे मरीज को कुछ समय के लिए राहत मिलेगी। यदि रात में आराम रहा तो अगले ही दिन मरीज को एक्सपर्ट की सलाह लेने के लिए डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए।

दांत में कैविटी की वजह से दर्द हो तो यह आजमाएं

डॉ. सौरव बताते हैं कि यदि किसी के दांतों में कैविटी के कारण उसे रात के समय में दर्द होने लगे तो उसे यह उपाय आजमाना चाहिए। इसके तहत लौंग का तेल या फिर साबूत लौंग का इस्तेमाल करना चाहिए। जहां पर कैविटी है उस स्थान पर रूई को लौंग के तेल में डूबाएं और जहां कैविटी है वहां पर रखें। ऐसा करने से मरीज को कुछ समय व घंटों के लिए आराम मिलेगा। इसके अलावा यदि घर में लौंग का तेल नहीं है तो उसे वहां सीधे लौंग की एक फली रखनी चाहिए। ऐसा करने से भी मरीज को आराम मिलता है।

दांत में क्रैक हो तो लौंग रख पाएं निजात

डॉ. सौरव बताते हैं कि यदि दांत में दर्द की वजह क्रैक है तो उस कंडीशन में भी लौंग को उस जगह पर रखकर आराम पा सकते हैं। लोगों को ऐसा कुछ समय के लिए समस्या से आराम पाने के लिए करना चाहिए। उसके बाद उन्हें एक्सपर्ट की सलाह लेनी चाहिए।

दांत के बीच में गैप वाले हिस्से में दर्द हो तो यह आजमाएं

दो दांत के बीच वाले हिस्से में मसूड़ा होता है। उसमें यदि किसी को दर्द हो तो ऐसे में उसे डेंटल पॉकेट के मसूड़ों में दर्द हो सकता है। डॉ. सौरव बताते हैं कि इसका उपचार करने के लिए नीचे के लेयर वाले दांत और ऊपर के लेयर वाले दांत को दबाएं (दांत पीसें), ऐसा करने से मरीज को आराम मिलेगा।

पल्सेटिंव पेन हो तो डॉक्टर के पास जाएं

डॉ. सौरव बताते हैं कि कुछ दांतों का दर्द उठे तो दिन हो या रात डॉक्टर के पास ही जाना चाहिए। यदि किसी को पल्सेटिंग पेन यानि रुक-रुक कर दर्द हो... जैसे हमारा दिल धड़कता है... ठीक उसी प्रकार दर्द भी होता है, रुक-रुक कर। यदि किसी को इस प्रकार का दर्द हो तो उसे डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। बिना डॉक्टर के सलाह के दवा का सेवन नहीं करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : प्रेगनेंसी में दांत दर्द हाेने का कारण और 6 घरेलू उपाय

मसूड़ों में पस भरने पर उठता है तेज दर्द

यदि मसूड़ों में पस की समस्या हो तो उस कंडीशन में भी डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। कई बार दांतों के बीच के मसूड़ों में पस हो सकता है। जो मरीज को दिखता नहीं है। इसका उपचार करने के लिए लोगों को डॉक्टर के पास जाना चाहिए। डॉ. सौरव बताते हैं कि यह दर्द प्रसव पीड़ा से भी ज्यादा गंभीर होता है। इसका ट्रीटमेंट करने के लिए मसूड़ों में फंसे पस को निकालकर ट्रीटमेंट किया जाता है। तब जाकर मरीज को आराम मिलता है।

डॉक्टरी सलाह लें

यदि दर्द कंट्रोल न हो तो उस कंडीशन में आपको एक्सपर्ट की मदद लेनी चाहिए। क्योंकि बिना डॉक्टरी सलाह के दवा का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

Read more articles on Diseases On Other Diseases

Disclaimer