फैट न पचने पर शरीर में दिखते हैं ये 5 लक्षण, ना करें इन्हें नजरअंदाज

आप अधिक फैट का सेवन करते हैं तो माना जाता है कि इससे आप मोटे होते हैं क्योंकि फैट अच्छे से पच नहीं पाता। जिसके ये लक्षण आप शरीर में देख सकते 

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Sep 05, 2021 13:30 IST
फैट न पचने पर शरीर में दिखते हैं ये 5 लक्षण, ना करें इन्हें नजरअंदाज

फैट आपके शरीर के लिए एक आवश्यक तत्त्व होता है। ताकि आपका शरीर अच्छे से काम कर पाए। पर अगर आप इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लेते हैं तो ये नुकसान करता है। क्योंकि फैट को पचने में समय लगता है और ये पाचन तंत्र के लिए सही नहीं माना जाता। मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी विभाग के निदेशक और प्रमुख डॉक्टर विकास सिंगला बताते हैं कि दरअसल हमारी  पाचन प्रक्रिया तब से ही शुरू हो जाती है जब से हम अपने खाने की पहली बाइट लेते हैं। हमारा सलाइवा और एंजाइम खाने को छोटे छोटे टुकड़ों में (ब्रेक डाउन करने) बांटने लग जाते हैं। ताकी वह आसानी से आंतों (कोलोन) तक पहुंच सके। फैट के एंजाइम वॉटर सॉल्युबल नहीं होते हैं। जिस कारण पानी उन्हें अवशोषित नहीं कर पाता। हमारा शरीर फैट को ब्रेक डाउन करने के लिए कुछ स्पेशल एंजाइम प्रोड्यूस करता है। फिर फैट दो बूंदों में ब्रेक डाउन हो जाता है। हमारे पेट में पहुंचने के बाद लगभग तीस% फैट फैटी एसिड्स में टूट जाता है। इसके बाद सेल्स द्वारा बाकी का फैट ब्रेक डाउन होता है। इन तरह फैट न पच पाने के कारण शरीर में  कुछ लक्षण नजर आते हैं। 

फैट न पचने के लक्षण-Symptoms of Not Digesting Fats Properly 

1. पसलियों में दर्द (Pain Under Rib Cage)

जब आपके शरीर को कुछ स्पेशल एंजाइम बनाने में दिक्कत होती है, तो आपका फैट पच नहीं पाता। आपको पसलियों के नीचे दर्द महसूस होने लगता है। अगर थोड़ा बहुत इंफ्लेमेशन हो जाता है या फिर उस स्थान पर गैस बनने लगती है तो भी आपको यह दर्द महसूस होता है।

2. सीने में जलन (Heart Burn) 

अगर आप बहुत अधिक तीखा या फिर ऑयली फूड खा लेते हैं तो आपको हार्ट बर्न जैसी समस्या देखने को मिलती है। लेकिन अगर आपको हेल्दी खाना खाने के बाद भी हार्ट बर्न की समस्या देखने को मिलती है तो यह फैट का पाचन न होने का एक लक्षण हो सकता है। इसके लिए आपको अपने डॉक्टर से एक बार बात जरूर करनी चाहिए।

Fats-Indigestion

इसे भी पढ़ें : आपके पाचन तंत्र (Digestive System) के बारे में आपको जरूर जाननी चाहिए ये 5 बातें, ताकि गड़बड़ हो तो चल जाए पता

3. कम ऊर्जा (Low Energy)

हमारी शरीर को कुछ मात्रा फैट्स की भी जरूरत होती है ताकि वह एनर्जी का उत्पादन कर सके। जैसे कि कार्बोहाइड्रेट्स। अगर आप सही डाइट नहीं लेते तो आपका शरीर जल्दी थकता है। क्योंकि उसको पूरी मात्रा में फैट्स नहीं मिलते। यदि आप फैट्स को अपनी डाइट में शामिल करते हैं तो आपकी बॉडी एनर्जेटिक और एक्टिव रहती है।

Fats-Indigestion

4. मल का तैरना (Floating Stool) 

आपका स्टूल भी आपकी सेहत के बारे में काफी राज खोलता है। अगर आप अपनी टॉयलेट बाउल में स्टूल को ऊपर तैरता देख पा रहे हैं तो इसका मतलब होता है कि आपका फैट अच्छे से पच नहीं पाया है। इस प्रकार का स्टूल रंग में तो पीला होता है और जब भी आप उसे फ्लश करते हैं तो वह बार बार सर्फेस पर आ जाता है। अगर यह कभी कभार आता है तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। लेकिन अगर यह रोजाना आपको देखने को मिलता है तो आपको अपनी पाचन क्रिया पर ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

इसे भी पढ़ें : पाचन से लेकर अच्छी इम्यूनिटी तक, आपकी 80% सेहत आपके आंतों से जुड़ी होती है, जानें इसे हेल्दी रखने के 5 उपाय

5. स्किन से जुड़ी समस्याएं (Skin Related Issues)

अगर आपकी स्किन बहुत ही डल और ड्राई है तो यह फैट के अपाचन का एक लक्षण है। हमारी स्किन फैटी और पानी में अघुलनशील होती है। जो हमारी आंतरिक स्किन को बाहर के प्रदूषण से बचाने में मदद करती है। हमारी स्किन को अच्छे से काम करने में और हेल्दी बनी रहने के लिए फैट की आवश्यकता होती है। इसलिए अगर आपका फैट पच नहीं पाता है तो आपको स्किन ड्राई होने के लक्षण और स्कार आदि के लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं।

6. फैट डाइजेशन करें सही (Improve Fat Digestion)

आपकी बॉडी किस तरह से वसा को पचाती है उसका असर आपकी ओवरऑल हेल्थ पर पड़ता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपनी बॉडी एक्टिविटी पर ध्यान दें। हेल्दी और जरूरत के मुताबिक फैट्स लें। यदि आप ज्यादा हाई फैट डाइट लेते हैं तो आपकी आंतों में बैक्टीरिया की मात्रा बढ़ने लगती है। जिससे वजन बढ़ता है। इसलिए हेल्दी फैट्स जैसे कि बीन्स, धट्स,घी और एग आदि जरूरत के मुताबिक खायें। लेकिन यदि आप किसी प्रकार की पाचन संबंधी या लिवर संबंधी परेशानी से पहले से ही परेशान हैं तो फैट की मात्रा लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

तो यह थे कुछ लक्षण जिनके द्वारा आप अपने पाचन हेल्थ के बारे में एक अंदाजा लगा सकते हैं।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer