क्या डायबिटीज के मरीज पी सकते हैं गन्ने का जूस? जानें डॉक्टर से

आपको गन्ने का जूस बेहद पसंद है पर साथ ही डायबिटीज है तो डॉक्‍टर से जान लें क‍ि इसका सेवन फायदेमंद है या नहीं

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 08, 2021
क्या डायबिटीज के मरीज पी सकते हैं गन्ने का जूस? जानें डॉक्टर से

गन्ने को छीलकर उसमें से गन्ने का रस न‍िकाला जाता है। गन्ना वैसे तो एंटीऑक्‍सीडेंट्स का अच्‍छा स्रोत है पर ज‍िन लोगों को डायब‍िटीज है उनके ल‍िए ये उतना हेल्‍दी नहीं है ज‍ितना द‍िखता है। गन्ने में फाइबर की अच्‍छी मात्रा होती है पर अगर आपको डायब‍िटीज है तो फाइबर के ल‍िए आप गन्ने की जगह दूसरे फल खा सकते हैं। शुगर एक तरह का कॉर्ब है ज‍िसे बॉडी तोड़कर ग्‍लूकोज बनाती है। ज‍िन चीजों में कॉर्ब की मात्रा ज्‍यादा होती है उनके सेवन से ब्‍लड शुगर बढ़ जाता है, खासकर ऐसे लोगों के शरीर में ज‍िन्‍हें डायब‍िटीज है। इसल‍िए ऐसे मरीजों को अपनी शुगर इंटेक कंट्रोल करनी चाह‍िए। गर्मी के द‍िनों में गन्ने के रस को पीने का मजा ही कुछ और है पर डायब‍िटीज में आपको इसे अवॉइड करना चाह‍िए। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की। 

sugarcane

गन्ने से ही चीनी, ब्राउन शुगर, गुड़ आद‍ि बनाया जाता है, इसल‍िए ये शुगर का मुख्‍य स्रोत माना जाता है। गन्ने का रस र‍िफाइंड नहीं होता इसल‍िए इसमें व‍िटाम‍िन और म‍िनरल की भरपूर मात्रा होती है ज‍िसके चलते हर कोई इसका सेवन करना चाहता है पर डायब‍िटीज के मरीजों को गन्ने के रस से दूरी बरतनी चाह‍िए। अगर आपको गर्मियों के दिनों में जूस पीने का ज्‍यादा मन कर रहा है तो आप डायब‍िटीज में ऐसे जूस पिएं जो शुद्ध न‍िकाले गए हों और ज‍िनमें एक्‍सट्रा शुगर न हो। आपको बीमारी को ध्‍यान में रखते हुए अपना शुगर इंटेक भी कम करना होगा। एक द‍िन में 3 टीस्‍पून यानी 15 ग्राम से ज्‍यादा शुगर आपको ब‍िल्‍कुल भी कंज्‍यूम नहीं करनी है।

डायब‍िटीज में क्‍यों नुकसानदायक हो सकता है गन्ने का जूस? (Why sugarcane juice is not healthy in diabetes)

sugarcane juice

  • 1. गन्ने के रस को ब‍िना र‍िफाइंड क‍िए सीधे गन्ने से न‍िकालकर बनाया जाता है इसल‍िए हाइ शुगर के कारण आपको डायब‍िटीज में इसका सेवन नहीं करना चाह‍िए।
  • 2. गन्ने के रस में एंटीऑक्‍सीडेंट्स की मात्रा ज्‍यादा होती है पर इसमें शुगर भी बहुत ज्‍यादा होती है इसल‍िए ये जूस डायब‍िटीज मरीजों के ल‍िए हेल्‍दी नहीं है। गन्ने के रस के बजाय आप ऐसे जूस प‍िएं ज‍िनमें चीनी की मात्रा कम से कम हों। 
  • 3. टैट्रा पैक वाले गन्ने के जूस को अगर आप खरीदकर प‍ी लें तो वो एक तरह से फुल-कैलोरी सोडा ड्रिंक है ज‍िससे आपके ब्‍लड में शुगर लेवल तेजी से बढ़ जाएगा। 
  • 4. गन्ने के रस में कैलोरीज की मात्रा ज्‍यादा होती है अगर आप न‍ियम‍ित इसका सेवन करें तो वजन बढ़ सकता है और डायब‍िटीज होने की आशंका भी बढ़ जाएगी। 

इसे भी पढ़ें- गर्मी में लू, अपच जैसी कई समस्याओं से बचाता है गन्ने का सिरका, डॉक्टर से जानिए इसके 14 फायदे, नुकसान और उपयोग

गन्ने के रस में क‍ितनी कैलोरीज होती हैं? (Calories in sugarcane juice)

नैशनल इंस्‍ट‍िट्यूट ऑफ न्‍यूट्र‍िशन के मुताब‍िक गन्ने के 100 म‍िली लीटर रस में 242 कैलोरीज होती हैं और लगभग 12.85 ग्राम शुगर होती है। गन्ने में ग्लाइसेमिक इंडेक्स ज्‍यादा होता है ज‍िससे शुगर लेवल बढ़ जाता है। गन्ने में ग्लाइसेमिक इंडेक्स करीब 30 से 40 के बीच होता है ज‍ो क‍ि डायबिटीज मरीजों के ल‍िए ठीक नहीं है। ग्‍लाइसेमि‍क इंडेक्‍स एक तरह का माप हे ज‍िससे ये पता चलता है क‍ि क‍िसी भी खाने की चीज में मौजूद कॉर्ब्स, कितनी देर में ग्‍लूकोज में तबदील होगा। 

इसे भी पढ़ें- इन 5 परेशानियों से निजात दिला सकता है गन्ने का जूस, Rujuta Diwekar से जानें गन्ने का जूस पीने का सही समय

डायब‍िटीज में गन्ने का जूस पीना चाह‍िए या नहीं? (Should I drink sugarcane juice in diabetes)

दूसरे जूस की तरह गन्ने का जूस पीना भी डायबिटीज मरीजों के ल‍िए सेहतमंद नहीं है। गन्ने का जूस पीने से ब्‍लड शुगर लेवल तेजी से बढ़ जाएगा। हालांक‍ि कुछ स्‍टडीज में ऐसा कहा गया है क‍ि गन्ने में पोलीफेनॉल एंटीऑक्‍सीडेंट्स होते हैं ज‍िससे इंसुलिन ज्‍यादा बनती है। इंसुल‍िन बनने से ब्‍लड शुगर कंट्रोल रहती है पर ज्‍यादातर डॉक्‍टर इस थ्‍योरी को मानते नहीं है। इसल‍िए आपको डायब‍िटीज में गन्ने के रस का सेवन अवॉइड करना चाह‍िए।

डायबिटीज में गन्ने के जूस के अलावा ऐसे सभी जूस को पीना अवॉइड करें ज‍िसमें शुगर की मात्रा ज्‍यादा हो जैसे मैंगो जूस या स्‍ट्राबेरी जूस आद‍ि। 

Read more on Diabetes in Hindi 

Disclaimer