Doctor Verified

एक्सरसाइज करते या नाचते-गाते क्यों हो रही लोगों की हार्ट अटैक से मौत? डॉक्टर से जानें वजह

Sudden Death Causes in Hindi: बीते कुछ सालों में चलते-फिरते या एक्सरसाइज करते हुए मौत की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं, जानें इसके पीछे का कारण। 

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Sep 09, 2022Updated at: Sep 09, 2022
एक्सरसाइज करते या नाचते-गाते क्यों हो रही लोगों की हार्ट अटैक से मौत? डॉक्टर से जानें वजह

Sudden Death Causes in Hindi: पिछले कुछ सालों से हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी कंडीशन की वजह से अचानक मौत होने की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। पिछले कुछ महीनों में आपने कई ऐसी घटनाओं के बारे में सुना होगा जिसमें व्यक्ति डांस करते हुए या चलते-फिरते अचानक गिर जाता है और उसकी मौत हो जाती है। इसके अलावा जिम में एक्सरसाइज करते हुए लोगों के गिरने और मौत होने की घटनाएं भी सामने आई हैं। ये घटनाएं सामान्य नहीं हैं और लोगों को डराने वाली हैं। उत्तर प्रदेश के बरेली में डांस करते हुए व्यक्ति के गिरने और अचानक मौत का शिकार होने से लेकर कोलकाता में सिंगर केके का अचानक कॉन्सर्ट में परफॉर्म करते हुए गिरना और मौत का शिकार होना बेहद चिंताजनक है। इन सभी घटनाओं में एक चीज कॉमन है, वह है हार्ट अटैक की वजह से मौत होना। इन घटनाओं के अलावा कई सेलिब्रिटीज की अचानक मौत भी हार्ट अटैक या दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई है। अब सवाल यह उठता है कि लोगों की अचानक मौत की घटनाएं क्यों बढ़ रही हैं? अचानक चलते-फिरते इंसान क्यों मौत का शिकार हो रहा है? कम उम्र में लोगों को हार्ट अटैक क्यों आ रहे हैं? आइए विस्तार से जानते हैं इन सवालों के जवाब।

एक्सरसाइज करते या नाचते-गाते क्यों हो रही लोगों की मौत?- Sudden Death Causes in Hindi

सोशल मीडिया पर तमाम ऐसे वीडियो पिछले कुछ दिनों में वायरल हुए हैं, जिनमें आपने देखा होगा कि इंसान की मौत अचानक नाचते-गाते या एक्सरसाइज करते हुई है। एक्सरसाइज करते हुए बेहोश होकर गिरना या स्पीच देते हुए बेहोश होना और फिर मौत का शिकार होना सामान्य नहीं है। इन सभी घटनाओं के एक कारण जो सबसे ज्यादा सामने आया है, वह हार्ट अटैक है। हार्ट अटैक की घटनाएं पिछले कुछ सालों में सबसे ज्यादा सुनने या देखने को मिली हैं। सेहत और फिटनेस के प्रति हमेशा जागरूक रहने वाले सेलिब्रिटीज हों या फिर आम दिनचर्या का पालन करने वाला सामान्य व्यक्ति, सभी में हार्ट अटैक का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। मीडिया और अखबार देश के अलग-अलग हिस्सों में हुई ऐसी घटनाओं से भरे पड़े हैं। गंभीर बात यह है कि सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के कई अन्य देशों में भी इस तरह की मौत की घटनाएं सामने आई हैं। इन घटनाओं के पीछे हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट की समस्या जिम्मेदार मानी जा रही है। इन घटनाओं को लेकर हुए अध्ययनों में कुछ बातें निकलकर सामने आई हैं-

Sudden Death Causes in Hindi

इसे भी पढ़ें: युवाओं में क्‍यों बढ़ रहा है हार्ट अटैक का खतरा? बता रहे हैं कॉडियोलॉजिस्‍ट डॉ. संतोष कुमार डोरा

भारत में हार्ट अटैक का खतरा

बीते कुछ सालों में सामने आए आंकड़े बताते हैं, कि देश में हार्ट अटैक के मरीजों की संख्या और इस गंभीर बीमारी का खतरा कई गुना बढ़ा है। भारत में हार्ट अटैक के खतरे को लेकर बीते कुछ सालों के आंकड़े इस तरह से हैं-

  • लगभग 50 प्रतिशत लोगों में हार्ट अटैक 50 की उम्र से पहले 
  • 25 से 40 साल की उम्र में हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा
  • 25 प्रतिशत लोगों में हार्ट अटैक 40 साल से पहले

अगर हम आंकड़ों को ध्यान से देखें तो बीते कुछ सालों में भारत में हार्ट अटैक से होने वाली मौतों का आंकड़ा लगातार तेजी से बढ़ा है। एक आंकड़े के मुताबिक साल 2016 में भारत में हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट की वजह से 23,246 लोगों की मौत हुई थी। वहीं 2018 में 25,746, साल 2019 में 28,005, 2020  में 28,680 और साल 2021 में 28,449 लोगों की मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है।

हार्ट अटैक से कैसे बचें?- Heart Attack Prevention Tips in Hindi

बीते कुछ महीनों से सामने आ रही घटनाओं में हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट की समस्या कॉमन फैक्टर है। ज्यादातर लोगों की मौतें हार्ट अटैक के कारण हो रही हैं। लखनऊ के मशहूर कार्डियोलॉजिक केके कपूर के मुताबिक अचानक हार्ट अटैक की समस्या होने से पहले आपके शरीर में कई लक्षण दिखाई देते हैं। हार्ट अटैक से बचने के लिए आपको इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

  • तनाव और चिंता की समस्या बढ़ने पर एक्सपर्ट डॉक्टर से इलाज जरूर कराएं
  • खानपान और लाइफस्टाइल में बदलाव करें
  • अल्कोहल के सेवन से बचें
  • स्मोकिंग की लत को छोड़ें
  • जंक फूड्स या प्रोसेस्ड फूड का सेवन न करें
  • चीनी और साल्ट के सेवन से भी परहेज रखें
  • हार्ट के लिए फायदेमंद ताजे फल और सब्जियों का सेवन करें
  • रोजाना एक्सरसाइज या योग जरूर करें
  • सकारात्मक दृष्टिकोण (पॉजिटिव थिंकिंग) बनाए रखें, इससे स्ट्रेस को दूर करने में फायदा मिलेगा
  • लक्षण दिखने पर लापरवाही न बरतें

हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट की घटनाएं असंतुलित खानपान और खराब जीवनशैली के कारण तेजी से बढ़ रही हैं। एक अनुमान के मुताबिक साल 2030 तक हार्ट अटैक की घटनाएं दुनियाभर में सबसे ज्यादा होंगी। हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट के खतरे को कम करने के लिए ऊपर बताई गयी बातों का ध्यान जरूर रखें।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer