Sudden Cardiac Arrest: अचानक भी हो सकता है कार्डियक अरेस्ट, जानें इसके 5 लक्षण

Cardiac Arrest ke Lakshan: कार्डियक अरेस्ट में हृदय की सभी गतिविधियां बंद हो जाती है। इसलिए यह स्थिति जानलेवा भी हो सकती है। कार्डियक अरेस्ट के लक्षण

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Jan 20, 2023 08:00 IST
Sudden Cardiac Arrest: अचानक भी हो सकता है कार्डियक अरेस्ट, जानें इसके 5 लक्षण

Cardiac Arrest Symptoms in Hindi: कार्डियक अरेस्ट के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। युवा भी इसकी चपेट में तेजी से आ रहे हैं। आपको बता दें कि कार्डियक अरेस्ट में दिल की धड़कने अनियमित होने लगती हैं। इसकी वजह से हृदय काम करना बंद कर देता है, इस स्थिति में कार्डियक अरेस्ट जानलेवा भी हो सकता है। कई लोगों को कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक एक जैसा ही लगता है, लेकिन ये दोनों अलग-अलग होते हैं।  

दरअसल, जब किसी व्यक्ति का हार्ट काम करना बंद कर देता है, तो हृदय स्टैंड स्टिल पोजिशन में चला जाता है। इसी स्थिति को सडन कार्डियक अरेस्ट (Sudden Cardiac Arrest in Hindi) कहा जाता है। कार्डियक अरेस्ट दिल की धड़कन में समस्या पैदा होने के कारण होता है। आपको बता दें कि कार्डियक अरेस्ट में दिल की धड़कन सामान्य चलने के बजाय धड़कने लगता है, जिसकी आवाज तक व्यक्ति को सुनाई दे सकती है। ऐसे में ब्लड प्रेशर लो होने लगता है, इससे खून की सप्लाई रुक जाती है और व्यक्ति बेहोश हो सकता है। इतना ही नहीं कुछ मामलों में यह जानलेवा भी हो सकता है। लेकिन जब सडन कार्डियक अरेस्ट आता है, तो आपको कुछ लक्षणों का अहसास हो सकता है। तो चलिए, जानते हैं सडन कार्डियक अरेस्ट के लक्षण (Sudden Cardiac Arrest ke Lakshan)-

अचानक आने वाले कार्डियक अरेस्ट के लक्षण- Sudden Cardiac Arrest Symptoms in Hindi

1. हार्ट बीट बंद हो जाना

जब किसी व्यक्ति को अचानक से कार्डियक अरेस्ट आता है, तो उसकी हार्ट बीट चलना बंद हो सकती है। यह स्थिति बेहद गंभीर हो सकती है, व्यक्ति की जान तक जा सकती है। इसलिए अगर आपको लग रहा है कि आपकी हार्ट बीट कम हो रही है, तो इस स्थिति को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें।

इसे भी पढ़ें- कार्डियक अरेस्ट से पहले शरीर में दिखते हैं ये लक्षण, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी

cardiac arrest symptoms heart pain

2. सांस लेने में तकलीफ 

कार्डियक अरेस्ट आने पर आपको सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। दरअसल, जब व्यक्ति को अचानक से कार्डियक अरेस्ट पड़ता है, तो इस स्थिति में उसे सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। उसका हृदय काम करना बंद कर सकता है। इसलिए अगर आपको सांस लेने में तकलीफ हो, तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं।

3. बेहोशी और चक्कर

कार्डियक अरेस्ट पड़ने पर व्यक्ति को चक्कर आ सकते हैं और वह बेहोश हो सकता है। कार्डियक अरेस्ट आने पर व्यक्ति बेहोशी की वजह से गिर भी सकता है। अगर आपको हृदय से जुड़ा कोई रोग है, साथ ही आपको चक्कर और बेहोशी महसूस हो तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। 

4. सीने में बेचैनी

अचानक से पड़ने वाले कार्डियक अरेस्ट में आपको सीने में बेचैनी का अनुभव हो सकता है। साथ ही आपको अचानक से घरघराहट और घबराहट महसूस हो सकता है। सीने में बेचैनी को सामान्य समझकर नजरअंदाज करने की भूल बिल्कुल न करें। क्योंकि कई मामलों में यह स्थिति भी खतरनाक हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- भारत में साल 2030 तक हार्ट अटैक से होंगी सबसे ज्यादा मौतें, एक्सपर्ट्स ने दी चेतावनी

cardia arrest symptoms

5. दिल की धड़कन तेज होना

अचानक से पड़ने वाले कार्डियक अरेस्ट में दिल की धड़कन सिर्फ बंद नहीं होती है, बल्कि कई मामलों में यह तेज भी होने लगती है। इस स्थिति में आपको घबराहट हो सकती है। दिल की धड़कन का तेज चलना बिल्कुल भी सामान्य नहीं होता है। वहीं, अगर दिल की धड़कन अनियमित है, तो भी यह अचानक आने वाले कार्डियक अरेस्ट का लक्षण हो सकता है। 

Disclaimer