रनिंग और ब्रेस्ट से जुड़ी कुछ बातें जो हर महिला को पता होनी चाहिए

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 12, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आपके लिए दौड़ने की सही विधि कम मायने रखती है
  • जबकि आपके ब्रेस्ट एक बड़ा चैलेंज बन जाते हैं।
  • अगर आपके ब्रेस्ट ओवर साइज हैं तो रनिं आपके लिए एक चुनौतीपूर्ण है

 

ये बात तो हम सब जानते हैं कि दौड़ने से हम फिट और हेल्दी रहते हैं। लेकिन अगर आप महिला हैं तो आपके लिए दौड़ने की सही विधि कम मायने रखती है जबकि आपके ब्रेस्ट एक बड़ा चैलेंज बन जाते हैं। जी, हां! अगर आपके ब्रेस्ट यानी स्तन ओवर साइज हैं तो रनिं आपके लिए एक चुनौतीपूर्ण वर्कआउट है। जब आप दौड़ती हैं तो आपके ब्रेस्ट ऊपर-नीचे की ओर जोर से हिलते हैं। इसके अलावा भी कई चीजें हैं, जो आप नहीं जानतीं। इन बातों पर एक नजर।

इस वजह से आपको रात में भी करना चाहिए एक्‍सरसाइज़

शरीर का अपर्याप्त सपोर्ट

अगर किसी महिला विशेष के स्तन ओवर साइज हैं तो वह सहजता से दौड़ नहीं पाती क्योंकि उसके स्तर काफी ज्यादा हिलते हैं। इसका मतलब यह है कि दौड़ने के दौरान आपके शरीर को अपर्याप्त सपोर्ट मिल रहा है जो आपको असहज स्थिति में डालता है। सिर्फ दौड़ने के दौरान ही ऐसा नहीं होता किसी भी शारीरिक गतिविधि के दौरान आप ऐसा महसूस कर सकती हैं।

ये बहुत ज्यादा हिलते हैं

सामान्यतः महिलाएं यही समझती हैं कि दौड़ने के दौरान उनके ब्रेस्ट सिर्फ ऊपर और नीचे की ओर ही हिलते हैं। जबकि ऐसा नहीं है। ब्रेस्ट ऊपर-नीचे के अलावा आगे-पीछे और साइड की ओर भी हिलते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक दौड़ते समय ब्रेस्ट 8 तरीके से हिलते हैं। असल में ये मसल्स नहीं है बल्कि ये टिश्यू के मास हैं। इसलिए इनके हिलने और मसल्स के हिलने में फर्क होता है।

पहनें स्पोर्ट्स ब्रा

चूंकि आपके ब्रेस्ट हर दिशा में हिलते हैं, इसलिए रनिंग के समय आपको चाहिए कि अच्छी ब्रा पहनें। लेकिन अच्छी ब्रा पहनने का मतलब सिर्फ ब्रांडेड ब्रा पहनना ही नहीं है। जब आप दौड़ती हैं तब आपके ब्रेस्ट को अच्छे सपोर्ट की जरूरत होती है। ऐसे में आपको चाहिए कि आप स्पोर्ट्स ब्रा पहनें। जिससे आप दौड़ने के दौरान सहज महसूस करेंगी और ब्रेस्ट भी बहुत ज्यादा नहीं हिलेंगे।

जब हो दर्द

कई बार आप दौड़ने के दौरान ब्रेस्ट में दर्द महसूस करती होंगी। वैस आपको बता दें कि ब्रेस्ट में दर्द होने के पीछे कई वजहें हो सकती हैं मसलन पीरियड का आना। ऐसी स्थिति में आपको चाहिए कि हल्की फुल्की एक्सरसाइज ही करें। लेकिन अगर दौड़ने की वजह से आपके ब्रेस्ट में दर्द है तो समझें कि आपकी ब्रा सही नहीं है, उसे बदलने का समय आ गया है। बहरहाल अगर ब्रा बदलने के बावजूद दर्द बना हुआ है और पीरियड की समस्या भी नहीं है तो आपको चाहिए कि डाक्टर से संपर्क करें।

साइज घटना

कई महिलाएं जो नियमित दौड़ लगाती हैं, वे अकसर शिकायत करती हैं कि दौड़ने से उनके ब्रेस्ट के साइज प्रभावित हुए हैं। उनका साइज कम हुआ है। आपको बताते चलें कि ब्रेस्ट फैट और फाइबरस टिश्यू से बना है। इसलिए जब आप दौड़ने के बाद फैट कम करती हैं तो इसका असर आपके ब्रेस्ट पर भी पड़ता है। लेकिन इसे आप स्पाट रिडक्शन नहीं कह सकतीं। दौड़ने की वजह से ब्रेस्ट का श्रिंक होना यानी सिकुड़ना सामान्य है।

आत्मविश्वास का घटना

कई महिलाएं, जिनके ब्रेस्ट के साइज बहुत बड़े हैं, वे खुलकर दौड़ने में शर्म महसूस करती हैं। असल में उन्हें लगता है कि वे दौड़ती हुई अटपटी लगेंगी, लोगों की नजर सीधे उनके ब्रेस्ट पर पड़ेगी। नतीजतन उनके आत्मविश्वास में कमी आती है। लेकिन महिलाओं को चाहिए कि दौड़ते हुए भी सहज रहें। हमेशा ध्यान रखें कि ब्रेस्ट भी अपके शरीर का अहम हिस्सा है, जैसे कि शरीर के अन्य भाग हैं। अगर वे ओवर साइज हैं तो उन्हें वर्कआउट करके कम कर सकती हैं। लेकिन इससे शर्मिंदगी महसूस करना सही नहीं है।

ब्रेस्ट कैंसर में कमी

2014 में हुए एक अध्ययन के मुताबिक जो महिलाएं नियमित दौड़ती या चहलकदमी करती हैं, उनमें ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका में कमी आती है। मतलब यह कि आप शारीरिक रूप से जितना एक्टिव रहेंगी, आप उतनी ही ज्यादा बीमारियों से दूर रहेंगी। यहां तक कि आप ब्रेस्ट कैंसर जैसी घातक बीमारी से भी खुद को बचा सकती हैं। अतः अगर आप हेल्दी रहना चाहती हैं तो नियमित दौड़ लगाएं, बिना यह सोचे कि आपके ब्रेस्ट हिलते हैं।

 

Read More Articles On Sorts & Fitness In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES1749 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर