6 महीने के बाद शिशु को खिलाना शुरू कर दें ये 5 सॉलिड फूड्स, संपूर्ण विकास में मिलेगी मदद

6 महीने के बाद से बच्चे को थोड़ा ठोस अनाज देना शुरू करना चाहिए, जिससे उसका शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर ढंग से हो सके। 

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Oct 01, 2022 11:30 IST
6 महीने के बाद शिशु को खिलाना शुरू कर दें ये 5 सॉलिड फूड्स, संपूर्ण विकास में मिलेगी मदद

हर माता-पिता को शिशु के जन्म के बाद से ही उसके स्वास्थ्य की चिंता रहती है। 6 महीने तक बच्चा माँ के दूध से ही पोषक तत्वों को प्राप्त करता है। लेकिन जब बच्चा 6 महीने का हो जाता है तो सिर्फ माँ का दूध उसके पोषण की जरूरतों को पूरा करने के लिए काफी नहीं होता है। 6 महीने के बाद से बच्चे को थोड़ा ठोस अनाज देना शुरू करना चाहिए, जिससे उसका शारीरिक और मानसिक विकास बेहतर ढंग से हो सके। लेकिन अकसर माता-पिता के मन में यह सवाल रहता है कि वे अपने 6 महीने के शिशु को क्या खिलाएं, जिससे उसका सही विकास हो सके। अधिकतर लोग अपने 6 महीने के शिशु को चावल या अनाज से बने आहार खिलाते हैं। लेकिन केवल चावल या अनाज से बना आहार शिशु की जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं होता। बच्चे के संपूर्ण विकास एक लिए उसके आहार में ऐसी चीजें शामिल करनी चाहिए, जिससे जरूरी पोषक तत्वों की आपूर्ति हो सके। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि आप 6 महीने के बाद बच्चे को क्या खिला सकते हैं -

6 महीने के बच्चे को क्या खिलाएं - Foods For 6 Months Baby

बींस और दालें

बीन्स में प्लांट बेस्ड आयरन और प्रोटीन की अच्छी मात्रा मौजूद होती है। आप अपने बच्चे को राजमा, छोले जैसे बीन्स और अलग-अलग तरह ही दालें खिला  सकते हैं। इसके लिए बीन्स और दालों को उबाल लें और ठंडा करने के बाद मैश करने के बाद बच्चे को खिलाएं।

डेरी प्रोडक्ट्स

आप बच्चे को दूध, पनीर और दही जैसे डेरी प्रोडक्ट्स भी खिला सकते हैं। डेरी प्रोडक्ट्स में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम मौजूद होता है, जो शिशु की हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में फायदेमंद है। आप डॉक्टर की सलाह के बाद बच्चे को अंडे की जर्दी भी दे सकते हैं। इसमें भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो बच्चे के बेहतर विकास के लिए जरुरी है।

इसे भी पढ़ें: दूध पिलाने से शिशु का पेट भरा या नहीं, कैसे समझें? जानें डॉक्टर से

वेजीटेबल प्यूरी 

सब्जियों में विटामिन, प्रोटीन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट जैसे कई पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो शिशु के विकास के लिए जरूरी हैं। आप अपने बच्चे को वेजीटेबल प्यूरी बना कर दे सकते हैं। इसके लिए कद्दू, लौकी, आलू जैसी सब्जियों को उबालकर, मैश कर लें और चुटकीभर नमक डालकर अपने बच्चे को खिलाएं।  

ड्राई फ्रूट्स 

आप अपने बच्चे जो ड्राई फ्रूट्स भी खिला सकते हैं। ड्राई फ्रूट्स में प्रोटीन विटामिन और फैट की अच्छी मात्रा होती है इसके लिए आप बादाम, मखाने और खजूर जैसे ड्राई फ्रूट्स को मिक्सी में अच्छी तरह पीसकर पाउडर बना लें। फिर आप जब भी बच्चे को कोई प्यूरी दें तो उसमें ये ड्राई फ्रूट्स का पाउडर मिला दें। आप इस पाउडर को एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर भी कर सकते हैं।  

इसे भी पढ़ें: बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है किशमिश, जानें उन्हें किशमिश खिलाने के कुछ आसान तरीके

फलों की प्यूरी 

आप अपने बच्चे को फलों की प्यूरी बनाकर भी खिला सकते हैं। फलों में भरपूर मात्रा में आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम और प्रोटीन जैसे पोषक तत्व होते हैं, जो शिशु की सेहत के लिए जरूरी हैं। आप केला, सेब, पपीता जैसे फलों की प्यूरी बनाकर बच्चे को खिला सकते हैं।

Disclaimer