मिट्टी के प्रदूषित होने से बढ़ रहा हृदय रोगों का खतरा, जानें कैसे पेस्टिसाइड्स खराब कर रहे सेहत

Soil Pollution and Heart Health: बढ़ते सॉइल पॉल्यूशन की वजह से दिल की बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ा है, जानें इसको लेकर क्या कहती है रिसर्च।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 18, 2022Updated at: Jul 18, 2022
मिट्टी के प्रदूषित होने से बढ़ रहा हृदय रोगों का खतरा, जानें कैसे पेस्टिसाइड्स खराब कर रहे सेहत

Soil Pollution and Heart Health: सॉइल पॉल्यूशन सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचा रहा है, इस बात से लगभग सभी लोग वाकिफ होंगे। लेकिन क्या आपको पता है कि मिट्टी में बढ़ रहा प्रदूषण (Soil Pollution Side Effects) आपको दिल की बीमारियों का भी शिकार बना सकता है? हाल ही में हुई एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि मिट्टी में बढ़ता प्रदूषण हार्ट की हेल्थ के लिए बेहद खतरनाक साबित हो रहा है। मिट्टी में बढ़ता प्रदूषण पूरी दुनिया में लोगों के कार्डियोवैस्कुलर हेल्थ पर बुरा असर डाल रहा है। रिसर्च में सामने आए फैक्ट्स बेहद चौंकाने वाले हैं। इस रिसर्च में यह कहा गया है कि मिट्टी में बढ़ रहे पेस्टीसाइड और प्लास्टिक के कारण जमीन से उगने वाले खाद्य पदार्थ, हार्ट डिजीज का कारण बन रहे हैं। 

सॉइल पॉल्यूशन से हार्ट की बीमारियों का खतरा- Soil Pollution Causes Cardiovascular Disease in Hindi

आज के समय में फसलों की उपज बढ़ाने और फसल को कीट-पतंगे या बीमारियों से बचाने के लिए पेस्टीसाइड और दवाओं का इस्तेमाल खूब किया जा रहा है। वहीं मिट्टी में प्लास्टिक और हेवी मेटल्स की मौजूदगी भी बढ़ रही है। इसकी वजह से मिट्टी प्रदूषित हो रही है और इसका गंभीर असर इंसान की सेहत पर देखने को मिल रहा है। यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर मेंज (जर्मनी) के प्रोफेसर थॉमस मुंजेल की 'मेडिकल न्यूज टुडे' में प्रकाशित इस रिसर्च के मुताबिक खाद्य पदार्थों को उगाने के लिए इस्तेमाल होने वाले केमिकल, पेस्टीसाइड और उर्वरक हार्ट डिजीज के खतरे को बढ़ा रहे हैं। इन हानिकारक केमिकल्स के मिट्टी में मिलने से इसमें होने वाली फसल में भी यह तत्व पहुंचते हैं। प्रदूषित और केमिकल के इस्तेमाल से उगाए गए खाद्य पदार्थों का सेवन न सिर्फ सेहत को गंभीर नुकसान पहुंचाता है, बल्कि इसकी वजह से दिल की बीमारियां भी लोगों में बढ़ रही हैं। 

Soil pollution increase risk of heart problems

इसे भी पढ़ें: हार्ट में ब्लॉकेज होने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 लक्षण, जानें बचाव के उपाय

सॉइल पॉल्यूशन का दिल की सेहत पर असर- Soil Pollution Side Effects on Heart Health

यह शोध करने वाले यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर मेंज (जर्मनी) के प्रोफेसर थॉमस मुंजेल के मुताबिक हवा में प्रदूषण की तुलना में मिट्टी में होने वाला प्रदूषण लोगों को कम दिखता है। लेकिन रिसर्च करने पर यह मिला है कि मिट्टी में मौजूद प्रदूषक और हानिकारक केमिकल्स शरीर में सूजन का कारण बनते हैं और बायोलॉजिकल क्लॉक को भी प्रभावित करते हैं। इसकी वजह से शरीर के आंतरिक अंगों को भी नुकसान होता है। प्रदूषित मिट्टी में उगे हुए खाद्य पदार्थों का सेवन करने से रक्त वाहिकाओं में ऑक्सीडेटिव तनाव, सूजन आदि का खतरा बढ़ जाता है। इसकी वजह से दिल की सेहत पर ये प्रभाव पड़ते हैं-

  • रक्त वाहिकाओं में सूजन और ब्लॉकेज।
  • शरीर की बायोलॉजिकल क्लॉक पर नकारात्मक असर।
  • शरीर में ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस बढ़ने की समस्या।
  • हार्ट की नसों का कमजोर होना।
  • हार्ट ब्लॉकेज की समस्या का खतरा।
  • दिल से जुड़ी अन्य बीमारियों का खतरा।

सॉइल पॉल्यूशन एक ग्लोबल इश्यू है, अगर समय रहते पर इसको लेकर कोई बड़ा कदम नहीं उठाया गया, तो इसकी वजह से कई गंभीर बीमारियों का खतरा तेजी से बढ़ सकता है। सॉइल पॉल्यूशन न सिर्फ हार्ट से जुड़ी बीमारियों का जोखिम बढ़ाने का काम करता है, बल्कि इसकी वजह से शरीर की कई अन्य बीमारियों का खतरा भी तेजी से बढ़ जाता है। 

हार्ट की बीमारी से बचने के उपाय- Heart Disease Prevention Tips in Hindi

दिल की बीमारी से बचने के लिए आपको खानपान और लाइफस्टाइल का विशेष ध्यान रखना चाहिए। नीचे बताई गयी बातों का ध्यान रखने से आप दिल की बीमारियों के जोखिम को कम कर सकते हैं-

  • हेल्दी और पौष्टिक भोजन का सेवन करें।
  • पेस्टीसाइड और केमिकल युक्त फूड्स का सेवन करने से बचें।
  • तनाव और चिंता या डिप्रेशन से बचें।
  • जंक फूड्स और प्रोसेस्ड फूड्स का सेवन करने से बचें।
  • चीनी और नमक के सेवन को संतुलित करें।
  • शराब का सेवन और स्मोकिंग करने से बचें।
  • नियमित रूप से व्यायाम करें और पर्याप्त नींद लें।

हार्ट डिजीज के खतरे को कम करने के लिए आपको ऊपर बताई गई बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। इसके अलावा दिल से जुड़ी बीमारी के लक्षण दिखने पर आपको सबसे पहले एक्सपर्ट डॉक्टर की सलाह लेकर जांच और इलाज लेना चाहिए। आपकी जीवनशैली और खानपान का दिल की सेहत पर सीधा असर पड़ता है। इसलिए हमेशा हेल्दी डाइट और लाइफस्टाइल को अपनाना चाहिए।

(Image COurtesy: Freepik.com)

Disclaimer