बैठे-बैठे किए जा सकते हैं ये 4 योगासन, मिलेंगे गजब के फायदे

Sitting Yoga Asanas: आप सिर्फ लेटकर या खड़े होकर ही नहीं, बल्कि आराम से बैठकर भी योगासन कर सकते हैं। जानें, बैठकर किए जाने वाले आसनों के बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Dec 21, 2022 11:57 IST
बैठे-बैठे किए जा सकते हैं ये 4 योगासन, मिलेंगे गजब के फायदे

Sitting Yoga Asanas and Benefits in Hindi: योग करना शारीरिक ही नहीं मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। जो व्यक्ति रोजाना योग करता है, वह शारीरिक और मानसिक रूप से बिल्कुल स्वस्थ रह सकते हैं। नियमित रूप से योग करने से आप हमेशा फिट और हेल्दी बने रह सकते हैं। योग में प्राणायाम, ध्यान, सांस, आसन करना होता है। कई लोग लेटकर, तो कई लोग खड़े होकर योगासन करते हैं। इसके अलावा आप बैठकर भी योगासन (Sitting Postures in Yoga) कर सकते हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर बैठकर कौन से योगासन किए जा सकते हैं? या फिर बैठकर किए जाने वाले आसन कौन से हैं? (Sitting Yoga Asanas in Hindi)

बैठकर किए जाने वाले आसन- Sitting Asanas in Hindi

1. पद्मासन

पद्मासन बैठकर किए जाने वाले आसनों में सबसे ईजी आसन है। इस आसन को करने से एकाग्रता बढ़ती है। साथ ही शरीर में वात, पित्त और कफ भी संतुलित रहता है। पद्मासन में बैठने से पाचन क्रिया दुरुस्त बनती है, दर्द से छुटकारा मिल सकता है। साथ ही बॉडी पोश्चर में भी सुधार होता है। पद्मासन करने का तरीका-

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट बिछाकर बैठ जाएं। 
  • फिर अपने दाएं पैर को बाएं पैर की जांघ के ऊपर रखें। 
  • इसी तरह बाएं पैर को दाएं पैर की जांघ पर रख दें। 
  • इसके बाद दोनों हाथों को दोनों घुटनों के ऊपर रखें। 
  • तर्जनी उंगुली को अंगूठे के बीच की रेखा पर रखें। बाकि उंगुलियों को सीधा रखें।
  • अपनी दोनों आंखों को बंद कर लें और शांति से बैठ जाएं। 
  • आप इस आसन में 5-10 मिनट तक बैठ सकते हैं। 

2. बालासन

आप बैठकर बालासन की प्रैक्टिस भी कर सकते हैं। इस आसन को करना बेहद आसान है। बालासन करने से शरीर की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं। साथ ही शरीर फिट और हेल्दी बना रहता है। अगर आपका वजन अधिक है, तो बालासन करना फायदेमंद हो सकता है। बालासन करने से बैली फैट को बर्न करने में मदद मिल सकती है। बालासन करने की विधि-

  • बालासन करने के लिए सबसे पहले घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाएं।
  • अपने शरीर के भार को एड़ियों पर डाल दें।
  • अपने दोनों हाथों को सिर से ऊपर ले जाएं।
  • इसके बाद लंबी सांस लें और फिर शरीर को धीरे-धीरे आगे की तरफ झुकाएं। 
  • इस दौरान आपकी छाती जांघों को छूनी चाहिए।
  • अपने सिर को जमीन से टच करने की कोशिश करें।
  • इस अवस्था में 30-50 सेकेंड तक रुकें और फिर सामान्य स्थिति में आ जाएं।

3. दंडासन

दंडासन को भी बैठकर किया जाता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों पैरों को सामने की तरफ फैला लें। दंडासन करने से आपकी हड्डियां और मांसपेशियां मजबूत बनेंगी। साथ ही रीढ़ की हड्डी में भी खिंचाव महसूस होगा। दंडासन करने से पाचन क्षमता भी मजबूत बनती है। नियमित रूप से दंडासन करने से आपका मन शांत होगा। दंडासन करने का तरीका- 

  • अपने दोनों हाथों को कूल्हों के बगल में जमीन पर रखें।
  • इस दौरान अपनी पीठ, सिर और गर्दन को बिल्कुल सीधा रखें।
  • अब अपने पैरों की उंगुलियों को अपनी तरफ खींचें। 
  • इस आसन को करने के दौरान आपको शरीर में खिंचाव महसूस होगा। 
  • आप इस आसन में 30-40 सेकेंड तक रुक सकते हैं। 

4. तितली आसन

तितली आसन को करना बेहद आसान है। इस आसन को बटरफ्लाई पोज भी कहा जाता है। तितली आसन करने से आपको शारीरिक और मानसिक लाभ मिल सकते हैं। इससे पैरों को मजबूत मिलती है। तनाव कम होता है, नींद अच्छी आती है। साथ ही बॉडी फ्लैक्सिबल बनती है और फैट भी बर्न होता है।

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले अपने दोनों घुटनों को मोड़कर बैठ जाएं।
  • अपने दोनों पंजों को मिलाएं। इसके बाद अपने दोनों हाथों से पंजों को पकड़ लें।
  • फिर अपने दोनों घुटनों को तितली के पंख की तरफ ऊपर-नीचे हिलाएं।
  • इस आसन को आप 5-10 मिनट तक कर सकते हैं। 

Sitting Yoga Asanas and Benefits in Hindi:आप भी बैठकर योगासन कर सकते हैं। दंडासन, तितली आसन, बालासन और पद्मासन को बैठकर किया जा सकता है। इन योगासनों को आप आसानी से कर सकते हैं। इन आसनों का अभ्यास करने से आप हमेशा शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं। 

Disclaimer