सेहत के लिए फायदेमंद इन 5 भारतीय मसालों का सेवन सुबह-सुबह करना ठीक नहीं, जानें नुकसान

कुछ लोग सुबह-सुबह उठकर अजवाइन, मेथी, दालचीनी जैसे मसालों का खाली पेट सेवन करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इनके कुछ नुकसान भी हो सकते हैं।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 05, 2021Updated at: Mar 05, 2021
सेहत के लिए फायदेमंद इन 5 भारतीय मसालों का सेवन सुबह-सुबह करना ठीक नहीं, जानें नुकसान

मसालों का प्रयोग हर भारतीय खाने को बनाने में किया जाता है। लगभग हर भारतीय रसोई में तमाम प्रकार के मसालों का उपयोग किसी न किसी रूप में जरूर किया जाता है। इन मसालों के तमाम औषधीय गुण भी होते हैं जिसके लिए इनका इस्तेमाल तमाम लोग करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि अनेकों औषधीय गुणों से युक्त इन मसलों का खालीपेट सेवन करना कितना नुकसानदायक हो सकता है? वही मसाले जिनका उपयोग हम शरीर की सेहत के लिए और बीमारियों को दूर करने के लिए करते हैं उनका ही इस्तेमाल अगर सही ढंग से न किया जाए तो तमाम दिक्कतें भी हो सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसे ही मसालों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका खालीपेट सेवन करना बेहद नुकसानदायक हो सकता है। आइए जानते हैं दैनिक जीवन में किसी न किसी रूप में इस्तेमाल होने वाले उन मसालों के बारे में जिनका सेवन अगर खालीपेट किया तो कई समस्याएं भी हो सकती हैं।

1. काली मिर्च (Black pepper)

यूं तो कालीमिर्च तमाम औषधीय गुणों से युक्त होती है लेकिन इसका सेवन खालीपेट करने से कई नुकसान भी हो सकते हैं। कालीमिर्च को मसलों के रूप में जाना जाता है और यह सेहत के बेहद फायदेमंद भी होती है। कालीमिर्च का इस्तेमाल भोजन को अधिक स्वादिष्ट और तीखा बनाने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से हमारी सेहत को अनेकों लाभ होते हैं। कालीमिर्च के सेवन से होने वाले प्रमुख लाभ इस प्रकार से हैं।

benefits and side effects of black pepper

काली मिर्च खाने के फायदे

  • शरीर को करता है डिटॉक्सीफाई
  • कैंसर से बचाव में सहायक
  • विटामिन बी से भरपूर
  • कैल्शियम उत्पादन में सहायक
  • कब्ज की समस्या में फायदेमंद
  • स्किन के लिए बेहद लाभकारी
  • वजन कम करने में मददगार
  • आंतों और पेट की सफाई के लिए उत्तम
  • लाल रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में उपयोगी
  • कालीमिर्च में मौजूद पोटेशियम ब्लड प्रेशर और हृदय गति को रखता है नियंत्रित

खाली पेट काली मिर्च खाने के नुकसान

कालीमिर्च का अधिक मात्र में सेवन करना सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है। इसका ज्यादा सेवन हमारे शरीर पर होने वाले दवाओं के प्रभाव को ख़त्म कर देता है। खालीपेट इसका सेवन करने से आंतों को नुकसान होता है। और इसका खालीपेट सेवन करने के बाद दवाओं का हमारे शरीर पर असर कम हो जाता है जिसकी वजह से एलर्जी जैसी समस्या भी हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: रसोई में रखे खुले मसालों का भी होता है एक्सपायरी डेट? जानें खुले मसालों को इस्तेमाल करने से जुड़ी बड़ी बातें

2. दालचीनी (Cinnamon)

दालचीनी भारतीय व्यंजनों में प्रयोग किया जाने वाला एक प्रमुख मसाला है। आयुर्वेद में इसके छाल, पत्तों, फूलों, फलों और जड़ों का उपयोग हजारों सालो से किया जा रहा है। दालचीनी के सेवन से सेहत को अनेको लाभ मिलते है लेकिन सही तरीके और सही मात्रा में इसका सेवन न किया गया तो इसके सेवन के दुष्परिणाम भी देखने को मिलते हैं।  खालीपेट इसका सेवन सेहत के लिए हानिकारक माना जाता है।  वैसे तो दालचीनी के सेवन से सेहत को अनेकों लाभ मिलते हैं और यह तम औषधीय गुणों से युक्त भी होता है लेकिन दालचीनी के सेवन से होने वाले कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं।  

benefits and side effects of cinnamon

दालचीनी खाने के फायदे

  • एंटीऑक्सिडेंट के गुण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक
  • एंटी इंफ्लेमेटरी गुण संक्रमण से लड़ने में लाभदायक
  • ह्रदय से जुड़ी बीमारियों से बचाव में कारगर
  • अल्जाइमर, कैंसर और HIV के खतरे को कम करना
  • दांतों में सड़न और एलर्जी से बचाव

खाली पेट दालचीनी खाने के नुकसान

अनेकों औषधीय गुणों से युक्त दालचीनी का अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसके खालीपेट और अधिक सेवन से बचना चाहिए। दालचीनी ब्लड शुगर को भी प्रभावित करती है ऐसे में डायबिटीज के रोगियों को इसका सेवन खालीपेट नही करना चाहिए। दालचीनी की गिनती गरम मसलों में की जाती है ऐसे में खालीपेट इसका सेवन लिवर को भी नुकसान पहुंचा सकता है। इसके अधिक सेवन से एलर्जी, मुहं में छालों आदि की समस्या भी देखी जाती है।

3. अजवाइन (Carom Seeds)

प्रमुख भारतीय मसालों में से एक अजवाइन का भी उपयोग खूब किया जाता है। वानस्पतिक रूप से अजवाइन, गाजर, धनिया, सौंफ आदि के परिवार का हिस्सा माना जाता है। हजारों सैलून से अजवाइन का उपयोग औषधि के रूप में भी किया जाता रहा है। अजवाइन के बीज को मसाले के रूप में भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। कई बीमारियों के इलाज के लिए आयुर्वेद में अजवाइन का उपयोग किया जाता है। इसके सेवन से शरीर को अनेकों लाभ मिलते हैं लेकिन इसके अधिक और खालीपेट सेवन से कई समस्याएं भी हो सकती हैं। अजवाइन हमारे शरीर की ओवरआल हेल्थ के लिए फायदेमंद मानी जाती है इसके सेवन से होने वाले प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं।

benefits and side effects of carom seeds

अजवाइन खाने के फायदे

  • पाचन तंत्र के लिए लाभकारी
  • अपच, सूजन और गैस की समस्या में फायदेमंद
  • पेट और आंतों में घावों का इलाज करने में मददगार
  • संक्रमण के रोकथाम में उपयोगी
  • फूड पॉइजनिंग में उपयोगी
  • लो ब्लड प्रेशर में फायदेमंद
  • खांसी और कंजेशन रिलीफ
  • अस्थमा के रोगियों के लिए उपयोगी

खाली पेट अजवाइन खाने के नुकसान

अजवाइन का सेवन खालीपेट करने से सेहत को नुकसान पहुंच सकता है। अजवाइन की भी गिनती गर्म मसाले में की जाती है इसका खालीपेट सेवन करने से शरीर का तापमान बिगड़ सकता है। गर्मी के मौसम में इसका खालीपेट सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

4. मेथी (Fenugreek)

मेथी भारतीय खानों में प्रयोग किया जाने वाला अनोखा मसाला है जिसका सैकड़ों सालो से औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। आर्युवेद में मेथी के अनेक औषधीय गुण बताये गए हैं। मेथी के सेवन से ब्लड शुगर को कम करने में सहायता मिलती है। मेथी का सेवन शरीर में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने का काम करता है और स्तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध को बढ़ाने में भी फायदेमंद माना जाता है। मेथी का सेवन सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है इसके सेवन से शरीर को होने वाले प्रमुख लाभ इस प्रकार से हैं।

benefits and side effects of fenugreek seeds

मेथी के बीज खाने के फायदे

  • डायबिटीज के रोगियों के लिए फायदेमंद
  • ब्लड शुगर को कम करने में सहायक
  • मासिक धर्म में दर्द को कम करने में उपयोगी
  • पेट के दर्द से दिलाती है राहत
  • कब्ज, भूख न लगना और पेट की गैस में उपयोगी
  • टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने में सहायक
  • हाई ब्लड प्रेशर में उपयोगी
  • मांसपेशियों के दर्द में फायदेमंद
  • माइग्रेन और सिरदर्द में लाभदायक

खाली पेट मेथी के बीज खाने के नुकसान

मेथी में मौजूद यौगिक गर्भवती महिलाओं के लिए लाभदायक नही माने जाते हैं इसलिए इन महिलाओं को को मेथी के सेवन से बचना चाहिए। मेथी का अधिक सेवन दस्त, पेट की समस्या और एलर्जी जैसी समस्या को भी जन्म दे सकता है। सांस से जुड़ी बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को मेथी का सेवन नही करना चाहिए। ऐसे लोगों द्वारा मेथी का खालीपेट सेवन करने से अस्थमा जैसी समस्या भी पैदा हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: सिर्फ स्वाद नहीं बढ़ाता, खाने को सेहतमंद भी बनाता है छौंका (तड़का), जानें आयुर्वेद के अनुसार इसके फायदे

5. लाल मिर्च (Paprika)

लाल मिर्च जिसे पैपरिका भी कहा जाता है अनेक गुणों से युक्त होती है। भारतीय रसोई में अक्सर इसका इस्तेमाल किया जाता है। लाल मिर्च के सेवन से शरीर को अनेक लाभ भी मिलते हैं। माना जाता है कि पैपरिका के सेवन से रुमेटीइड गठिया और पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस के उपचार में फायदा होता है। इसके अलावा एनीमिया की रोकथाम में यह फायदेमंद मानी जाती है। इसके सेवन से होने वाले प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं।

benefits and side effects of paprika

लाल मिर्च खाने के फायदे

  • एंटीऑक्सीडेंट के गुण इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद
  • हृदय रोग के जोखिम को कम करने में सहायक
  • इसमें मौजूद कैप्साइसिन और एनाल्जेसिक दर्द कम करने में फायदेमंद
  • वजन घटाने में सहायक
  • UV किरणें से होने वाले नुकसान से बचाव
  • कैंसर के रोकथाम में सहायक

खाली पेट लाल मिर्च का सेवन करने के नुकसान

पैपरिका का खालीपेट सेवन सेहत के लिए फायदेमंद नही माना जाता है। इसके खालीपेट सेवन से पेट से जुड़ी समस्या होने का ख़तरा रहता है। लाल शिमला मिर्च का खालीपेट सेवन करने से पेट में जलन और फ्लू जैसी समस्या हो सकती है।

हमें उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा। यह माना जाता है कि इन मसलों का खालीपेट सेवन वजन को कम करने में फायदेमंद होता है लेकिन इनका खालीपेट सेवन नुकसानदायक भी होता है। वजन घटाने के लिए अगर आप भी इन मसालों का सेवन करना चाहते हैं तो इससे पहले चिकित्सक से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer