सोयाबीन ज्यादा खाने से सेहत को हो सकते हैं ये 8 नुकसान, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

वैसे ताे साेयाबीन सेहत के लिए फायदेमंद हाेता है, लेकिन अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाए ताे नुकसान भी हाे सकता है। जानें इनके बारे में-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Oct 04, 2021
सोयाबीन ज्यादा खाने से सेहत को हो सकते हैं ये 8 नुकसान, डॉक्टर से जानें इनके बारे में

साेयाबीन में प्राेटीन और फाइबर (Protein and Fiber) भरपूर हाेता है, इसलिए हम सभी इसे अपनी डाइट में जरूर शामिल करते हैं। अगर सीमित मात्रा में साेयाबीन का सेवन किया जाए, ताे यह सेहत के लिए बेहद फायदेमंद हाेता है। लेकिन अगर इसका सेवन असीमित मात्रा में किया जाए, ताे इससे स्वास्थ्य काे नुकसान भी हाे सकता है। साेयाबीन में ट्रांस फैट्स (Trans Fats) भी हाेता है, ऐसे में इसका अधिक सेवन किया जाता है ताे हृदय राेग (Heart Diseases) और माेटापे (Obesity) का कारण भी बन सकता है। साेयाबीन काे वर्कआउट से पहले और बाद में खाना ज्यादा लाभदायक हाेता है। 

डॉक्टर सुगीता मुटरेजा बताती हैं कि साेयाबीन में प्राेटीन, फाइबर अच्छी मात्रा में हाेता है। इसलिए इससे स्वास्थ्य काे कई लाभ मिलते हैं। लेकिन इसकाे ज्यादा खाने से कई नुकसान भी हाेते हैं। जानें इन नुकसानाें के बारे में (Side Effects of Soyabean)-

soyabean

1. हृदय राेग (Heart Disease)

साेयाबीन स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी हाेता है। लेकिन अगर इसका सेवन काफी अधिक मात्रा में किया जाए, ताे यह हृदय राेग का कारण भी बन सकता है। दरअसल, साेयाबीन में ट्रांस फैट हाेता है, जाे बैड काेलेस्ट्रॉल काे बढ़ावा देता है। साथ ही हृदय राेगाें काे भी बढ़ाता है। इसलिए इसका सेवन सीमित ही करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें - नकली सोयाबीन बड़ी सेहत के लिए हो सकती है नुकसानदायक, जानें घर पर सोया बड़ी बनाने का तरीका

2. माेटापा (Obesity)

साेयाबीन माेटापे का कारण भी बन सकता है। अगर आप अधिक साेयाबीन खाते हैं और आपकाे लगातार वजन बढ़ रहा है, ताे इसे खाना कम कर दें। साेयाबीन में मौजूद ट्रांस फैट वजन कम करने के जगह बढ़ा देता है। वही अगर इसका सेवन सीमित मात्रा में किया जाए, ताे यह वजन काे कंट्राेल में रखता है।

allergy

(Image Source : Nutroo.me)

3. एलर्जी (Allergies)

कई लाेगाें काे साेयाबीन से एलर्जी भी हाे सकती है। इससे त्वचा पर रैशेज, जलन आदि की समस्या हाे सकती है। अगर आपकाे साेयाबीन खाने से स्किन रैशेज हाेते हैं, ताे इसे खाना तुरंत बंद कर दें। अकसर जिन लाेगाें काे गाय के दूध से एलर्जी हाेती है, उन्हीं लाेगाें काे साेयाबीन से भी एलर्जी हाेती है।

4. स्तनपान के दौरान मितली (Nausea During Breastfeeding)

प्रेगनेंसी और स्तनपान के दौरान साेयाबीन का सेवन करना नुकसानदायक हाे सकता है। साेयाबीन के सेवन से ऐसी महिलाओं काे उल्टी,  मितली जैसी समस्याएं हाे सकती हैं। वही इसका अधिक सेवन चक्कर आने का कारण भी बन सकता है। इतना ही नहीं अगर स्तनपान कराने वाली मां इसका अधिक सेवन करती हैं, ताे इससे शिशु काे भी उल्टी हाे सकती है।

diabetes

(Image Source : Mediabeast.pk)

5. डायबिटीज (Diabetes)

डायबिटीज मरीजाें के लिए अधिक मात्रा में साेयाबीन का सेवन करना नुकसानदायक हाे सकता है। क्याेंकि यह ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) काे  कंट्राेल में रखने की जगह बढ़ा देता है। ऐसे में अगर आप डायबिटीज पेशेंट हैं, ताे साेयाबीन का सेवन बिल्कुल न करें।

इसे भी पढ़ें - दिनभर थके-थके रहते हैं तो बदलें खानपान की आदत, डायटीश‍ियन से जानें थकान भरे दिन के लिए डाइट प्‍लान

6. स्पर्म काउंट में कमी (Decrease in Sperm Count)

अधिक मात्रा में साेयाबीन का सेवन पुरुषाें में स्पर्म काउंट में कमी कर सकता है। साेयाबीन फीमेल हॉर्माेंस काे बढ़ावा देता है। ऐसे में पुरुषाें काे इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए। इसकी अधिकता आपकाे काफी नुकसान पहुंचा सकता है। स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय कारगर हाेते हैं।

7. माइग्रेन (Migraine)

साेयाबीन की अधिकता माइग्रेन का भी कारण बन सकता है। इसलिए जिन लाेगाें काे पहले से ही माइग्रेन है, उन्हें इसका सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। साेयाबीन आपके माइग्रेन के दर्द काे बढ़ा सकता है।

8. हाइपाेथायरॉइड (Hypothyroid)

माइग्रेन और डायबिटीज राेगियाें के साथ ही हाइपाेथायराइड (hypothyroid) के मरीजाें काे भी साेयाबीन का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्याेंकि साेयाबीन के अधिक या सीमित सेवन से आपकी समस्या बढ़ सकती है। हाइपाेथायराइड के मरीजाें काे इन चीजाें से परहेज करना चाहिए।

अगर आप भी साेयाबीन के शौकीन हैं और अधिक मात्रा में इसका सेवन करते हैं, ताे इसकी मात्रा तय कर लें। साेयाबीन की अधिकता स्वास्थ्य के लिए बहुत नुकसानदायक हाे सकती है। अगर आप डायबिटीज पेशेंट है या आपकाे एलर्जी की समस्या है, ताे डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें।

(Image Source : Maggi.com)

Disclaimer