हाइपर थायराइड और हाइपो थायराइड के मरीजों को क्या खाना चाहिए? जानें दोनों के लिए अलग-अलग फूड्स की लिस्ट

थायराइड रोग के दोनों प्रकार- हाइपर थायराइड और हाइपो थायराइड, में जरूरी है कि अपनी डाइट का ख्याल रखना ताकि यह बीमारी गंभीर रूप न लें। 

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 28, 2021Updated at: Aug 28, 2021
हाइपर थायराइड और हाइपो थायराइड के मरीजों को क्या खाना चाहिए? जानें दोनों के लिए अलग-अलग फूड्स की लिस्ट

आज के समय में जीवनशैली का सबसे ज्यादा असर हमार खानपान पर पड़ा है। जिसकी वजह से हमें बहुत सी शारीरिक परेशानियां होने लगी हैं उन्हीं में से एक परेशानी है मोटापा। और मोटापा बढ़ने से हमें अन्य और भी बीमारियां घेरने लगती हैं। इन्हीं में से एक बीमारी है थायराइड। थायराइड भी दो प्रकार का होता है। हाइपर थायराइड (Hyperthyroid) और हाइपो थायराइड (Hypothyroid)। दोंनों में ही हमें अपनी डाइट का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। पहले जाने यह दोनों परेशानी कब होती हैं।

कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल के डॉ विनय भट्ट बताते हैं कि जब थायरॉयड ओवर एक्टिव हो जाता है तो वह हाइपर थायराइड (Hyperthyroid) का रूप ले लेता है और जब वह अंडर एक्टिव हो जाता है तो उसे हाइपो थायराइड (Hypothyroid) कहा जाता है। हालांकि किसी भी बीमारी या स्थिति को आपकी डाइट प्रभावित करती है और थायरॉयड के केस में भी ऐसा ही होता है। आपकी डाइट के कारण आपकी स्थिति सुधर भी सकती है और अधिक बिगड़ भी सकती है। इसलिए आपको हमेशा वही चीजें खानी चाहिए जो एक शारीरिक स्थिति होने के बाद डॉक्टरों द्वारा आपको सुझाई जाती हैं या उस बीमारी को कम करने के लिए लाभदायक होती हैं।

हाइपो थायरॉयड के मरीजों को क्या चीज़ें खानी चाहिए (Food You Can Eat In Hypothyroidism)

आयोडाइज्ड नामक :

थायरॉयड हार्मोन के उत्पादन के लिए आयोडिन की आवश्यकता होती है। आपके शरीर में इसी की कमी के कारण गोइटर या हाइपो थायरॉयड जैसी स्थिति होती हैं और आपका शरीर प्राकृतिक रूप से इस प्रकार के नमक को नहीं बना सकता है। इसलिए आपको ऐसी चीजें खानी चाहिए जिनमें आयोडिन की मात्रा अधिक हो।

इसे भी पढ़ें - केले के फूल का काढ़ा पीने से सेहत को मिलते हैं ये 5 जबरदस्त फायदे, महिलाओं के लिए है विशेष फायदेमंद

मछली :

मछली में ओमेगा 3 और फैटी एसिड्स होते हैं जोकि बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में लाभदायक होते हैं और इसमें सेलेनियम भी होता है। जो थायरॉयड हार्मोन्स को एक्टिव करता है। इसलिए आपको सालमन, टूना जैसी मछलियां हाइपो थायरॉयड के केस में खानी चाहिए।

ब्राजील नट्स :

ब्राजील नट्स में सेलेनियम जैसे मिनरल्स होते हैं जो आपके सुस्त पड़े हार्मोन्स को एक्टिव करने में सहायक होते हैं। ताकि वह थायरॉयड का उत्पादन फिर से करना शुरू कर सकें। सेलेनियम इंफ्लेमेशन को कम करने में भी सहायक होता है। लेकिन आपको इसका सेवन अधिक मात्रा में भी नहीं करना चाहिए।

फल और सब्जियां :

पालक, ब्रोकली, गाजर, केल आदि सब्जियां आपकी इनैक्टिव हार्मोन्स को एक्टिव बनाने में मदद करती हैं। इसलिए कोशिश करें कि इन सब्जियों को कच्चे रूप में ही आप खा सकें। अन्यथा इनमें से पोषण खत्म हो जाएगा।

हाइपर थायरॉयड के मरीजों को क्या खाना चाहिए (Food You Can Eat In Hyperthyroidism)

बाजरा और ब्राउन चावल :

इन दोनों ही चीजों में अधिक गाइट्रोजेनिक एक्टिविटी होती है। इनमें डाइट्री फाइबर, विटामिन और मिनरल्स की मात्रा भी अधिक होती है। ओवर एक्टिव हार्मोन्स को कम करने के लिए आपको रोजाना एक कप बाजरा या ब्राउन चावल का सेवन करना चाहिए।

लीन प्रोटीन :

चिकन ब्रेस्ट, फिश और मशरूम आदि का सेवन भी आप लीन मसल मास को बनाने के लिए कर सकते हैं। हाइपर थायरॉयड में भूख अधिक लगती है इसलिए आपका वजन भी बढ़ सकता है लेकिन यह सारी चीजें आपकी भूख को नियंत्रित करेंगी।

इसे भी पढ़ें - क्या थायराइड रोगियों को नहीं खाना चाहिए फूलगोभी, पत्तागोभी और ब्रोकली? जानें डॉक्टर की राय

कुछ हर्ब्स :

तुलसी, ओरिगानो, रोज मेरी कुछ ऐसे हर्ब्स हैं जिनमें एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं और यह आपको हाइपर थायरॉयड की समस्या से निजात दिलाने में भी काफी लाभदायक होते हैं।

कुछ फल और सब्जियां :

फल और सब्जियां आप हाइपर थायरॉयड के दौरान भी खा सकते है। कुछ सब्जियां आपके ओवर एक्टिव हो गए थायरॉयड को रोकने की कोशिश करती हैं। इस स्थिति में आप बोक चोय, पत्ता गोभी, लेट्यूस आदि सब्जियों का सेवन कर सकते हैं।

आप इन चीजों का सेवन अपनी स्थिति के अनुसार कर सकते हैं और अगर आप कंफ्यूज हो रहे हैं कि आपको किस समय क्या खाना चाहिए तो आप किसी डॉक्टर या डायटिशियन से इन चीजों में से ही अपने लिए एक डाइट चार्ट भी बनवा सकते है।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer