ये 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स करेंगी फेफड़ों में जमा गंदगी को साफ

फेफड़ों में जमा गंदगी को निकालना बेहद जरूरी है। यहां जानें फेफड़ों की गंदगी निकालने वाली ड्रिंक्स के बारे में। 

 
Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraUpdated at: Aug 27, 2021 12:52 IST
ये 5 डिटॉक्स ड्रिंक्स करेंगी फेफड़ों में जमा गंदगी को साफ

खराब जीवनशैली और असंतुलित खान-पान के कारण आज के समय में बीमारियां अधिक बढ़ने लगी हैं। ऐसे में हेल्दी डाइट फॉलो करना काफी आवश्यक हो गया है। वहीं प्रदूषण और खराब हवा-पानी के कारण लोगों को फेफड़ों में भी समस्याएं होनी लगी हैं। इसीलिए फेफड़ों को समय-समय पर डिटॉक्स करना भी काफी आवश्यक होता है। क्या आप भी फेफड़ों में जमा गंदगी से परेशान हैं। अगर हां, तो इस लेख के माध्यम से हम आपको फेफड़ों को डिटॉक्स करने के लिए कुछ ड्रिंक्स के बारे में बताएंगे। जी हां, फेफड़े शरीर का एक महत्तवपूर्ण अंग हैं, जो शरीर तक ऑक्सीजन पहुंचाने और कार्बन डाईऑक्साइड को बाहर निकालने का काम करता है। ग्रीन टी, दालचीनी का पानी, मुलेठी की चाय जैसी कुछ ड्रिंक्स हैं, जो फेफड़ों को डिटॉक्सीफाई करने में अहम भूमिका निभाती हैं। इनका नियमित सेवन आपके फेफड़ों को डिटॉक्स कर उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है। चलिए जानते हैं इन ड्रिंक्स के बारे में। 

greentea

1. ग्रीन टी 

ग्रीन टी फेफड़ों के अंदर जमा गंदगी को अंदरूनी तौर पर साफ करने में अहम भूमिका निभाती है। इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीडेंट्स फेफड़ों को डिटॉक्सीफाई करने का काम करते हैं। ग्रीन टी में पाए जाने वाले कंपाउंड्स फेफड़ों के टिशू को प्रदूषण से बचाने में मददगार साबित होते हैं। वहीं इसमें पाए जाने वाले एंटी ऑक्सीडेंट्स फेफड़ों के कैंसर की भी आशंका को कम करते हैं। खासकर उन लोगों को ग्रीन टी का सेवन जरूर करना चाहिए, जो अधिक स्मोकिंग करते हैं। एक शोध के मुताबिक ग्रीन टी का सेवन करने वाले लोगों में इसका सेवन नहीं करने वालों के मुकाबले फेफड़ों की कार्यक्षमता अधिक पाई गई। 

इसे भी पढ़ें - किन बीमारियों में और कैसे की जाती है लैप्रोस्कोपिक सर्जरी (दूरबीन विधि)? जानें इस सर्जरी से जुड़ी जरूरी बातें

2. गर्म पानी और शहद 

गर्म पानी और शहद जहां वजन कम करने में कारगर माना जाता है। वहीं इसका सेवन करने से आपके फेफ़ड़े भी डिटॉक्सिफाई होते हैं। यह ड्रिंक आपके फेफड़ों तक पहुंचकर अंदरूनी रूप से जमा गंदगी को आसानी से बाहर निकालने में मदद करती है। इसमें पाए जाने वाली एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज आपके फेफड़ों में हुए इंफेक्शन पर भी जल्दी प्रतिक्रिया करते हैं। यही नहीं इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज भी पाई जाती हैं, जो धुएं और प्रदूषण को फेफड़ों में प्रवेश करने से रोकते हैं। यही नहीं गर्म पानी और शहद आपको फ्री रेडिकल्स से छुटकारा दिलाने के साथ ही सूजन को भी काफी हद तक कम करते हैं।  

3. मुलेठी की चाय 

फेफड़ों में जमा गंदगी को निकालने के लिए मुलेठी की चाय पीना भी एक बेहतर विकल्प साबित होता है। अगर आप सिगरेट पीते हैं तो यह आपके लिए एक जरूरी ड्रिंक है। मुलेठी की चाय का नियमित सेवन करने से आपके हृदय रोग होने की भी आशंका कम होती है। इसके एंटी माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज आपकी सांस संबंधी समस्याओं को भी काफी हद तक कम करने में सक्षम होते हैं। शोध की मानें तो यह आपके अस्थमा की समस्या को भी ठीक करने में फायदेमंद होती है। 

इसे भी पढ़ें - हड्डी और नसों से जुड़ी बीमारियों का कारण बनता है गलत मैट्रेस (गद्दे) पर सोना, जानें कैसे चुनें सही मैट्रेस

4. हल्दी अदरक ड्रिंक 

हल्दी और अदरक को फेफड़ों की सफाई के लिए एक बेहतर ड्रिंक माना जाता है। हल्दी में पाए जाने वाला करक्य़ूमिन, एंटी इंफ्लेमेटरी गुण और अदरक में पाए जाने वाले एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज आपकी फेफड़ों को मजबूत और स्वस्थ बनाने में काफी मददगार होती है। हल्दी और अदरक का एक साथ सेवन करने से आपके अस्थमा की भी समस्या दूर होती है। अगर आप पहले से ही फेफड़े से संबंधित किसी समस्या से जूझ रहे हैं तो अदरक और हल्दी की ड्रिंक का सेवन जरूर करें। 

cinnamon

5. दालचीनी का पानी 

दालचीनी का पानी वजन कम करने के साथ ही फेफड़ों की गंदगी निकालने में भी अधिक असरदार साबित होती है। दालचीनी की एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट्स आपके फेफड़ों में होने वाले इंफेक्शन और सूजन को रोकने का काम करती है। वहीं यह फेफड़ों को साफ कर आपकी सांस संबंधी समस्याओं को भी ठीक करने में मदद करती है। दालचीनी के पानी के नियमित सेवन से आपके फेफड़े पूरी तरह स्वस्थ रहते हैं।

फेफड़ों में जमा गंदगी को साफ करने के लिए आप इस लेख में दी गई ड्रिंक्स का सेवन कर सकते हैं। यह पूरी तर सुरक्षित हैं। अगर आप फेफड़ों से संबधित किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो इसके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक की सलाह लें। 

Read more Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer