क्या थायराइड रोगियों को नहीं खाना चाहिए फूलगोभी, पत्तागोभी और ब्रोकली? जानें डॉक्टर की राय

क्या थायराइड रोगियों को नहीं खानी चाहिए फूलगोभी, पत्तागोभी और ब्रोकली? जानिए क्या कहती हैं एक्सपर्ट और इसे खाने का सही तरीका

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Apr 09, 2021
क्या थायराइड रोगियों को नहीं खाना चाहिए फूलगोभी, पत्तागोभी और ब्रोकली? जानें डॉक्टर की राय

थायराइड आज के समय की सबसे आम बीमारी हो चुकी है। खराब लाइफस्टाइल और स्ट्रेस भरे लाइफ के कारण थायराइड की समस्या लोगों को हो रही है। थायरॉइड ग्रन्थि (thyroid gland ) में गड़बड़ी की वजह से थायराइड होता है। थायराइड दो तरह के होते हैं। एक है हाइपरथायराइडिज्म (Hyperthyroidism) और दूसरा है हाइपोथायराइडिज्म (Hypothyroidism)। थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर में थायरॉक्सिन नामक हार्मोंन का स्त्राव करते हैं। जब हमारे शरीर में थायरॉक्सिन हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं, तो व्यक्ति को थायराइड की समस्या होती है। थायराइड को साइलेंट किलर कहते हैं। क्योंकि यह हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को प्रभावित करता है और धीरे-धीरे कई समस्याओं को जन्म देता है। थायराइड की वजह से मोटापा बढ़ना और वजन का कम होना इसके सबसे प्रमुख लक्षण हैं। इसके अलावा बाल झड़ना, याददाश्त कमजोर होना, सिरदर्द रहना इत्यादि अन्य समस्याएं है। थायराइड हार्मोंस को बैलेंस में रखने के लिए थायराइड रोगियों को अपने खानपान का खास ध्यान रखना चाहिए। डॉक्टर बहुत सी चीजों का खाने से परहेज करने की सलाह देते हैं। इन्हीं में से एक है गोभी प्रजाति की सब्जियां। इस वजह से थायराइड रोगी हमेशा गोभी के नाम से भागते हैं। ऐसा लगता है, जैसे गोभी खाते ही उनकी समस्या बढ़ जाएगी। लेकिन क्या इस बात में सच्चाई है? क्या थायराइड रोगियों को बिल्कुल भी नहीं खानी चाहिए गोभी? आइए जानते हैं क्या कहती हैं डायटीशियन-

क्या कहती हैं डायटीशियन?

डायटीशियन का कहना है कि गोभी की प्रजातियों यानी फूलगोभी, पत्तागोभी और ब्रोकली जैसी सब्जियों में थायरॉक्सिन नामक तत्व होता है, जो आपके हमारे शरीर के हार्मोंस को असंतुलित कर सकती है। इसलिए थायराइड रोगियों को पत्तागोभी, फूलगोभी और ब्रोकली जैसी सब्जियों का सेवन न करने की सलाह दी जाती है। हालांकि, अगर आपको ये सब्जियां पसंद है, तो 2 सप्ताह में एक बार आप इसका सेवन कर सकते हैं। इससे आपके सेहत पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा। 

इसे भी पढ़ें- एक दिन में कितना तरबूज खाएं? डायटीशियन से जानें सही मात्रा और ज्यादा तरबूज खाने के नुकसान

थायराइड रोगी कैसे करें गोभी का सेवन?

डायटीशियन का कहना है कि अगर आप पत्तागोभी पसंद करती हैं, तो इसे उबालकर इसका सेवन करें। इसके लिए सबसे पहले आप पत्तागोभी को काटकर उबाल लें और इसमें मौजूद पानी को बाहर निकालकर इसकी सब्जी बनाएं। इससे पत्तागोभी में मौजूद थायरॉक्सीन बाहर हो सकता है। लेकिन ध्यान रहे कि ऐसा करने से अन्य जरूरी पोषक तत्व भी पत्तागोभी से समाप्त हो सकते हैं। 

गोभी में मौजूद थायरॉक्सीन के असर को कम करने के लिए आप इसका सेवन अन्य सब्जियों के साथ मिक्स करके कर सकते हैं। जैसे गोभी की सब्जी बनाते समय सिर्फ गोभी नहीं, बल्कि गाजर, आलू, मटर जैसी अन्य हेल्दी सब्जियों को मिक्स करके इसका सेवन कर सकते हैं।

थायराइड रोगियों का कैसा होना चाहिए लाइफस्टाइल?

  • कम वसा युक्त आहार का सेवन करें।
  • अपने डाइट में अधिक से अधिक फल और सब्जियों को शामिल करें।
  • आयोडीनयुक्त आहार का सेवन करें।
  • नट्स का सेवन करें। (काजू, बादाम, सूरजमुखी के बीज इत्यादि)
  • दूध और दही का नियमित रूप से सेवन करें।
  • गेंहू और ज्वार का सेवन करें।
  • फाइबरयुक्त आहार लें।
  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करें।

इन चीजों का भी न करें सेवन

  • बहुत अधिक कॉफी न पिएं।
  • काली राई (सरसों) न खाएं।
  • सोबाबीन का अधिक मात्रा में सेवन न करें।
  • जंक फूड और प्रिजरवेटिव युक्त आहार का सेवन न करें।
  • धूम्रपान से दूर रहें। 
  • शराब और अन्य नशीली चीजों का सेवन न करें।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer