अंडे का केवल सफेद भाग खाने से आपकी सेहत को हो सकते हैं ये 3 नुकसान

रोजाना अंडे का सेवन आपकी सेहत के लिए स्वास्थ्यवर्धक है। लेकिन अगर आप सिर्फ सफेद भाग खाते हैं तो आपको इसके साइड इफेक्ट देखने को मिल सकते हैं।

 
Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jan 29, 2022Updated at: Jan 29, 2022
अंडे का केवल सफेद भाग खाने से आपकी सेहत को हो सकते हैं ये 3 नुकसान

अंडे प्रोटीन और कुछ अन्य पौष्टिक तत्वों का बहुत अच्छा स्रोत हैं। तभी तो आप इसे सुबह के समय ब्रेकफास्ट में खाना चाहते हैं। लेकिन अगर आप सिर्फ इसका सफेद भाग खाते हैं तो यह आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। कोलंबिया एशिया हॉस्पिटल में सीनियर डाइटिशियन डॉक्टर अदिति शर्मा के अनुसार भले ही सफेद भाग में प्रोटीन की उच्च मात्रा हो लेकिन हकीकत में इसमें पोषक तत्वों की कमी होती है। जब आप इसकी जर्दी नहीं खाते तो आप अंडे में मौजूद काफी सारे पौष्टिक तत्वों से वंचित रह जाते हैं। अंडे की जर्दी को निकाल देने से आपको अंडे का केवल आधा ही लाभ मिल पाता है। जिसकी वजह से आपको अन्य शारीरिक परेशानी है जैसे कि इंफेक्शन या एलर्जी घेर सकती हैं। आइए जानते हैऔ विस्तार से। 

inside1eggwhite

अंडे में मौजूद पोषण

यदि एक पूरे अंडे की बात करें तो वह प्रोटीन, सोडियम, फॉलेट, कैल्शियम और सेलेनियम युक्त होता है। इसके अलावा 6 अलग अलग तरह के बी विटामिन भी पाए जाते हैं। मिनरल्स की अगर बात की जाए तो अंडे में आयरन, कैल्शियम , फास्फोरस , जिंक और फोलेट जैसे मिनरल पाए जाते हैं। जिसमें से इसकी जर्दी में अधिकांश पोषण मौजूद होता है। यदि आप जर्दी की बजाए अंडे के सफेद भाग का सेवन करते हैं तो उसमें कम पोषण होता है। साथ ही लगभग 15-20 कैलोरी होती है। अगर आप इसी भाग को नहीं खाते हैं तो इन तत्वों में से केवल आधे या उससे भी कम पौष्टिक तत्व आपको मिलेंगे। अंडे का सफेद भाग केवल प्रोटीन से भरपूर होता है।

इसे भी पढ़ें: मटर की दाल खाने के फायदे और नुकसान, जानें किसे नहीं खानी चाहिए मटर की दाल

अंडे का सफेद भाग खाने के नुकसान-Side effects of eating egg white 

1. फूड प्वाइजनिंग

अंडे का सफेद भाग खाने से फूड प्वाइजनिंग हो सकती है क्योंकि कभी-कभी अंडे का सफेद भाग सालमोनेला बैक्टीरिया से संक्रमित हो सकता है, जोकि चिकन की आंतों में मिलता है। यदि इस रिस्क से बचना चाहते हैं तो रोजाना अंडे के सफेद भाग के सेवन से बचें और जहां तक संभव हो अंडे को अच्छी तरह से पका कर खाना चाहिए।

2. शरीर में बायोटिन की कमी

बायोटीन यानी कि घुलनशील विटामिन एच या विटामिन b7 जोगी मांसपेशियों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है इसकी कमी से बालों का झड़ना, क्रैडल कैप या मांसपेशियों में दर्द आदि समस्याएं हो सकती हैं। इसकी एक मुख्य वजह एविडिन प्रोटीन भी है, जो अंडे के सफेद भाग में मौजूद होता है। उस की अधिकता से शरीर में बायोटीन की कमी हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: अंडा खाने के फायदे: 40 की उम्र के बाद रोज जरूर खाएं एक अंडा, सेहत को मिलेंगे ये 7 फायदे

3. शरीर में एलर्जी

कुछ लोगों को अंडे के सफेद भाग में मौजूद प्रोटीन एल्बुमिन से एलर्जी होती है। यदि अंडे का सफेद भाग अधिक खाया जाता तो उन लोगों को एलर्जी जैसे कि जी मिचलाना, उल्टी, सूजन, रैशेज जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। कुछ लोगों को अंडे के सफेद भाग से हाई ब्लड प्रेशर या सांस लेने में दिक्कत भी हो सकती है।

माना कि अंडों का सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है, लेकिन जरूरत से ज्यादा अंडों का सेवन हानिकारक भी हो सकता है। यदि आप केवल अंडे का सफेद भाग ही खाते हैं तब तो ये और अधिक नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए अपनी डाइट में पूरा अंडा शामिल करें और अंडे को अच्छे से पका कर ही खाएं।

all images credit: freepik

Disclaimer