बच्चों को मारने-पीटने का उन पर इन 5 तरीकों से पड़ता है बुरा असर, पेरेंट्स के लिए समझना है जरूरी

बच्चे को पीटने या मारने से उनपर बुरा असर पड़ता है। इससे उनके स्वभाव में भी परिवर्तन आने लगता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Mar 27, 2022Updated at: Mar 27, 2022
बच्चों को मारने-पीटने का उन पर इन 5 तरीकों से पड़ता है बुरा असर, पेरेंट्स के लिए समझना है जरूरी

पेरेंट्स अपने बच्चे को हमेशा अनुशासित रखने की कोशिश करते हैं लेकिन जैसे-जैसे बच्चा नए दोस्त बनाता है। उसकी मांगें और जिद्द बढ़ती जाती है। ऐसे में उन्हें सही-गलत सिखाना पेरेंट्स का ही काम होता है । कई बार बच्चा जब उनकी बात नहीं मानता है, तो उनके पास उन्हें पीटने और गुस्सा करने के अलावा और कई रास्ता गुस्से में नजर नहीं आता है। दरअसल बच्चे जब पेरेंट्स से बेवजह बहस करता है या उनकी बात नहीं मानता है, तो माता-पिता बच्चे को अनुशासित करने के लिए मारना या पीटना जरूरी समझते हैं। वास्तव में बच्चों को किसी भी परिस्थिति में मारना या पीटना सही नहीं है। यह उनपर शारीरिक और भावनात्मक रूप से गलत प्रभाव पड़ता है। 

बच्चों को पीटने के नुकसान (Negative Effects of Beating Child)

1. हिंसा बढ़ सकती है

बच्चों को हर छोटी-बड़ी बात के लिए पीटने से उनके मन पर गलत प्रभाव पड़ता है। आपको मारते देखकर हो सकता है कि बाहर के लोगों भी आपके बच्चे को बहुत बादमाश समझें और छोटी-बड़ी गलती के लिए उसे पीटें। इससे बच्चे के मन में डर रहता है और वह अपने आप पर विश्वास नहीं कर पाते हैं और अपनी बात आपको बताने से भी डरने लगते हैं। इसके अलावा बच्चे ये भी सोचने लगते हैं कि छोटे लोगों को मारना सही होता है और वह अपने दोस्तों और छोटे भाई-बहन को भी पीटते हैं। 

beating-kids

Image Credit- Freepik

2. बच्चे का आत्मविश्वास कम होता है

बच्चे को पीटने से उनके मन पर बुरा प्रभाव पड़ता है। यदि आप लगातार बच्चे को मारते हैं, तो उन्हें अक्सर लगता है कि वह गलत है या बुरे है और अच्छे इंसान नहीं है। ऐसे में वह धीरे-धीरे आत्मविश्वास भी खोने लगते हैं और गलत संगति में फंसकर गलत आदतें भी अपना सकते हैं। इससे आप बच्चे को सुधारने के चक्कर में उन्हें और अधिक बिगाड़ने लगते हैं। बच्चे इमोशनली रूप से जब प्रभावित होता है, तो जल्दी उभर नहीं पाता है। 

3. पेरेंट्स की वैल्यू नहीं करते

बच्चे को पीटने या मारने के बाद आप सोचते हैं कि बच्चे को आपकी बातें समझ में आ गयी होगी लेकिन यह विचार अपने आपको संतुष्टि देने के लिए अच्छा है। मारने से आपका बच्चा धीरे-धीरे आपसे दूर होने लगता है और आपको अपनी बातें बताना बंद कर देता है। कई बार तो बच्चे इतना डर जाते हैं कि वह दूसरे बच्चे को पीटता देखकर भी रोने लगते हैं। ऐसे में उनके लिए दूसरे लोगों के सामने खुद को पेश करने में भी बहुत परेशानी आती है।

इसे भी पढ़ें-  अपने 3 साल से बड़े बच्चों को जरूर सिखाएं दूसरों बात करने से जुड़ी ये 7 अच्छी आदतें

4. बच्चा विद्रोही बन सकता है

छोटे बच्चे को मारने पर तो वह डर सकते हैं लेकिन जैसा-जैसा बच्चा बड़ा हो रहा होता है, वह आपसे डरना बंद कर देता है। आपके मारने पर उन्हें गुस्सा आता है और वह मन में आपके प्रति सम्मान की भावना नहीं रखते हैं। इन सब चीजों से वह विद्रोही हो सकते हैं और आगे चलकर आपकी बात मानने से भी मना कर सकते हैं। ये सब चीजें शायद आपके लिए और आपके बच्चे के लिए गलत साबित हो सकती है। 

beating-kids

Image Credit- Freepik

5. गुस्सा करना 

एक छोटा बच्चा अपने माता-पिता को देखकर ही बहुत कुछ सीखता है। ऐसे में अगर आप उन्हें अपना क्रोधी स्वभाव दिखाते हैं और उन्हें पीटते हैं, तो उनके अंदर भी गुस्सैल प्रवृत्ति होती है। जिसकी वजह से वह किसी पर भी गुस्सा करने लगते हैं या फिर उनपर कोई भी आसानी से गुस्सा कर सकता है क्योंकि उनके मन में मार खाने का डर बैठ जाता है। सामाजिक तौर पर भी बच्चे असभ्य बन जाते हैं।

Main Image Credit- Freepik

Disclaimer