वर्ल्ड हैप्पीनेस डे: आपमें ही छिपे हैं आपकी खुशियों के राज, बस आदत में शामिल कीजिए ये 7 बातें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 20, 2018
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • घटनाओं को देखने का नज़रिया बदलिये, आपकी ज़िंदगी हमेशा ख़ुशबाश रहेगी।
  • पसीना भी आपकी खुशियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  • म्यूज़िक आपकी ख़ुशियों के ताले की सबसे आसान चाभी है।

अगर मैं आपसे पूछूं कि 'आप अपनी ज़िंदगी से कितने ख़ुश हैं?' तो ज़्यादातर लोगों का जवाब नकारात्मक होगा और वो अपने इस जवाब के पक्ष में कई तर्क भी आसानी से दे देंगे। मगर क्या आपने सोचा है कि आप जिस स्थिति में हैं या आप जितने भी ख़ुश हैं, उसका ज़िम्मेदार कौन है? क़िस्मत? जी नहीं, विज्ञान ऐसी बातों को नहीं मानता है। विज्ञान के अनुसार आपकी खुशियों और आपके दुखों के जिम्मेदार खुद आप हैं।

दरअसल आप किसी घटना या किसी बात को जिस तरह से समझते और देखते हैं, आपका दिमाग उसी अनुसार हार्मोन्स रिलीज करता है। मतलब अगर आप किसी घटना में अपने लिए खुशियां और उम्मीदें देखते हैं तो आपका दिमाग 'हैप्पी हार्मोन्स' रिलीज करता है। वहीं अगर आप उस घटना को निराशा और नाउम्मीदी के नज़रिये से देखते हैं तो दिमाग 'स्ट्रेस हार्मोन्स' को रिलीज करता है। इसलिए चीजों और घटनाओं को देखने का नज़रिया बदलिये, तो आपकी ज़िंदगी हमेशा ख़ुशबाश रहेगी। नज़रिया बदलने के अलावा आपको अपनी कुछ आदतें भी बदलनी चाहिए, जो आपको खुशियां महसूस करने में मदद करेंगी और आप पहले से ज़्यादा ख़ुश और मस्त फ़ील करेंगे।

कुछ समय प्रकृति के साथ बिताएं

 

आजकल की भागदौड़ भरी ज़िंदगी में लोगों के पास ख़ुद की सेहत के लिए समय नहीं है। शरीर और मन के जिस सुख के लिए आप इतनी मेहनत और भागदौड़ करते हैं, असल में अपनी इन आदतों से आप उसी शरीर का नुकसान करते हैं। बिना व्यायाम, अनियिमत जीवन और प्रकृति से दूरी के कारण आपका शरीर कई तरह के रोगों का शिकार हो जाता है, जिससे कई बार आपको गंभीर परिणाम भुगतने पड़ते हैं। अगर आप दिनभर में 30 मिनट भी प्रकृति के साथ बिताते हैं तो इससे आपका दिमाग शांत रहेगा और थोड़ी देर टहलने-खेलने से आपका शरीर भी हमेशा स्वस्थ रहेगा।

थोड़ी एक्सरसाइज़, ढेर सारे फ़ायदे

एक्सरसाइज़ सिर्फ़ आपके शरीर को ही नहीं दुरुस्त रखती है, बल्कि ये आपके दिमाग को भी शांत और स्थिर रखती है। पसीना निकलना कुछ लोगों को बुरा लगता है मगर आपको बता दें कि पसीना भी आपकी खुशियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। दरअसल जब किसी शारीरिक क्रिया द्वारा आप अपने शरीर से पसीना निकालते हैं, तो आपका शरीर एंटीबॉडीज़ रिलीज़ करता है। एंटीबॉडीज़ ऐसे प्रोटीन हैं, जो शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता पैदा करते हैं। इसी के साथ आपका दिमाग एंडॉर्फिन्स नाम का केमिकल रिलीज़ करता है, जो मूड सही रखने और आपको अच्छा फ़ील करने में मदद करते हैं।

इसे भी पढ़ें:- इन 5 तरीकों से खुद को करें प्‍यार, कभी नहीं होंगे बीमार

पूरी नींद ज़रूरी है

अगर आप अपने शरीर की ज़रूरत के अनुसार नींद लेते हैं, तो आपका शरीर और दिमाग़ दोनों स्वस्थ रहते हैं। शोध के अनुसार किसी भी स्थिति में आपको चार घंटे से कम नहीं सोना चाहिए। अगर आप भरपूर नींद लेते हैं, तो आपका दिमाग़ ज्यादा अच्छी तरह काम करता है और आप सही निर्णय ले पाते हैं।

हेडफ़ोन पर गुनगुनाती ख़ुशियां

म्यूज़िक आपकी ख़ुशियों के ताले की सबसे आसान चाभी है। अपनी व्यस्त ज़िंदगी थोड़ा समय निकालिए और हेडफ़ोन पर अपना मनपसंद संगीत सुनते हुए थोड़ा थिरकिये, थोड़ा गुनगुनाइये। म्यूज़िक आपके दिमाग का सारा स्ट्रेस बस 10 से 15 मिनट में निकाल देगा और आप रिलैक्स फ़ील करेंगे। दिमाग़ और शरीर पर म्यूज़िक के इसी प्रभाव के कारण वैज्ञानिक म्यूज़िक थैरेपी को कई बीमारियों के इलाज के विकल्प के रूप में देख रहे हैं।

थोड़ा लिखने की आदत डालिए

कई लोगों को ये चीज़ मज़ाक लग सकती है कि लिखने से ख़ुशियों का क्या कनेक्शन है। दरअसल अपने नकारात्मक विचारों को जब आप कहीं अभिव्यक्त कर देते हैं, तो आपका दिमाग उस विचार को भूलने वाली कैटेगरी में डाल देता है। इसलिए अपने दिमाग़ में उमड़ती-घुमड़ती बातों को कागज़ पर लिखिये। थोड़े दिनों बाद जब आप अपनी इन्हीं बातों को पढ़ेगें तो यक़ीन मानिये आपको अंदर से ख़ुशी भी होगी और आपके चेहरे पर मुस्कुराहट भी आ जाएगी।

इसे भी पढ़ें:- सेहतमंद रहना है तो खाना खाने के बाद कभी न करें ये 5 काम

पौष्टिक और स्वादिष्ट चीजें खाएं

ख़शी और खाने के कनेक्शन पर आपको हैरान नहीं होना चाहिए क्योंकि दुनिया के हर हिस्से में हर समय में और हर सभ्यता में जब भी इंसान ख़ुश हुआ है, उसने खाने-पीने की चीजों को महत्व दिया है ताकि ख़ुशियों के मौक़े को ख़ास बनाया जा सके। दरअसल खाना हमारे शरीर के विकास के लिए तो ज़रूरी है ही, इसके साथ ही ये हमारे दिमाग को ख़ुशी भी देता है। इसलिए अच्छी और पौष्टिक चीजें खाएं, जो आपकी सेहत को नुकसान न पहुंचाएं।

दूसरों को ख़ुश होने का मौक़ा दें

दुनिया की हर अच्छी चीज़ की तरह ख़ुशियां भी बांटने से बढ़ती हैं। इस बात का अंदाज़ा आपको कभी न कभी हुआ होगा कि अगर आप दूसरों को ख़ुश होने का मौक़ा देते हैं, तो इससे आपको भी ख़ुशी मिलती है। छोटे बच्चों को कोई गिफ़्ट दीजिए, भटके लोगों को सही रास्ता बता दिजिए या किसी भूखे को खाना खिला दीजिए, तो आपको कुछ समय तक अपने मन में ख़ुशियों की लहर महसूस होगी।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Happiness In Hindi

Loading...
Write Comment Read ReviewDisclaimer
Is it Helpful Article?YES419 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर