केला ज्यादा पक जाए तो उसे फेंके नहीं, इसके भी हैं कई फायदे

आपको भी लगता है की ज्यादा पका हुआ केला फेंक देना चाहिए, तो देख लें ज्यादा पके हुए केले से हो सकते हैं कई तरह के फायदे 

सम्‍पादकीय विभाग
Written by: सम्‍पादकीय विभागUpdated at: Nov 28, 2019 11:13 IST
केला ज्यादा पक जाए तो उसे फेंके नहीं, इसके भी हैं कई फायदे

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

क्या आप भी केला पकने के बाद फेंक देते हैं? ज्यादातर लोग ऐसे होते हैं जो केला पकने के बाद उसे खाना पसंद नहीं करते हैं। केला के ज्यादा पकने पर उसका छिलका धीरे-धीरे काला पड़ने लगता है। जिसके बाद लोगों को ऐसा लगता है की केले के अंदर कीटाणु हो गए हैं और अगर अब इसे खाएंगे तो यह सेहत के लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है। जिसके बाद लोग अक्सर इसे फेंक देना ही सही समझते हैं। 

यह तो हम सब ही जानते हैं की केले में कई गुना ज्यादा पोषक तत्व होते हैं। जिसका सेवन करने से शरीर में सही मात्रा में पोषक तत्व पहुंचते हैं। लेकिन वहीं केला अगर धीरे-धीरे पकने लगे तो उसे लोग खराब समझने लगते हैं। क्या आप सोच सकते हैं की ज्यादा पका हुआ केला आपके लिए फायदेमंद भी हो सकता है। 

banana

स्टार्च बदल जाते हैं

पकने के बाद फलों में मौजूद स्टार्च भी बदल जाते हैं। जहां, कच्चे केले में कॉम्प्लेक्स कार्ब्स होते हैं। वहीं, पके हुए केले में यह कार्ब्स साधारण चीनी जैसे बन जाते हैं। इन्हें, खाने से एनर्जी मिलती है। जो कि हमारे शरीर को और भी ज्यादा शक्ति देने का काम करते हैं। यह हमे स्वस्थ रखने में भी मदद करता  है। इसीलिए, बहुत ज़्यादा पके हुए केले भी खाने भी चाहिए न की उनसे कतराना चाहिए। 

इसे भी पढ़े: क्‍या रात में केला खाना फायदेमंद है? जानें फैक्‍ट्स, जानें केला खाने का सही समय

डायबिटिज में न खाएं पका हुआ केला

पका हुआ केले का सेवन करने का एक और फायदा माना जाता है। लोग कई बार सवाल करते है की क्या डायबिटिज में ज्यादा पका हुआ केले का सेवन करना सही है? तो इसका जवाब न में ही होता है। क्योंकि,ज्यादा पके हुए केले में शक्कर की मात्रा भी बहुत ज्यादा होती है। इसीलिए, इस तरह के फल खाने से ब्लड ग्लूकोज लेवल बहुत तेजी से बढ़ सकता है।

एक रिसर्च के मुताबिक, ज्यादा पका हुआ केले का सेवन करने हमारे लिए हानिकारक भी साबित हो सकता है। क्योंकि जब केला पकने लगता है तो केले में चीनी की मात्रा बढ़ने लगती है। जिसके कारण टाइप-2 डायबिटिज से पीड़ित लोगों के लिए यह नुकसानदायक हो सकता है। 

banana

कैलोरी की मात्रा 

अगर फलों में बात ज्यादा कैलोरी की करें तो यह भी हम जानते हैं की केले का सेवन करने से ज्यादा कैलोरी मिलती है। कच्चे केले और पके हुए केले में इनका स्तर एक जैसा ही होता है। अगर, आपको लगता है कि पके हुए केले से ज्यादा मात्रा में कैलोरी मिलेगी तो, यह सही नहीं है। लेकिन, केले की खासियत यह भी है कि इस फल मे बाकी फलों के मुकाबले बहुत ज्यादा मात्रा में कैलोरी होती है। इसीलिए, यह एथलिट्स और शारीरिक मेहनत करने वालों का पसंदीदा फल है। लोग फलों में ज्यादा पोषक तत्व को देखते हैं तो उन्हें पहले नंबर पर केला ही पसंद आता है। क्योंकि वह हमारे शरीर में काफी ज्यादा मात्रा में पोषक तत्व पहुंचाता है। पके हुए केले का सेवन करके आपके शरीर में कई तरह के फायदे भी होते हैं। 

बीमारियों को करता है दूर

बहुत ज्यादा पके हुए केले में एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है। यह हमारे सेल्स को डैमेज होने से बचाता है। इसके साथ ही यह कई तरह की बीमारियों को दूर करने का काम करता है। 

इसे भी पढ़े: 12 दिनों तक सिर्फ केला खाएं और फिर फर्क देखें...

कैंसर का खतरा करता है कम 

ज्यादा पके हुए केले के छिलके पर काले चकत्ते बन जाते हैं। यह पके हुए केले हकीकत में एक पदार्थ का निर्माण करते हैं जो कैंसर फैलाने वाले सेल्स को बढ़ने से रोकता है। बता दें की इस पदार्थ को ट्यूमर नेक्रोसिस फैक्टर कहा जाता है।  

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi 

Disclaimer