सर्दियों में मूली और इसकी पत्तियां दोनों हैं आंतों और पेट के लिए बहुत फायदेमंद, जानें कैसे खाएं-कब खाएं

जम कुछ पौष्टिक खाते हैं तो शरीर के अच्छे बैक्टीरिया बहुत खुश हो जाते हैं और बुरे बैक्टीरिया मर जाते हैं। इसलिए हमें अपने आहार पर खास ध्यान देना चाहिए।

Naina Chauhan
Written by: Naina ChauhanPublished at: Nov 18, 2020
सर्दियों में मूली और इसकी पत्तियां दोनों हैं आंतों और पेट के लिए बहुत फायदेमंद, जानें कैसे खाएं-कब खाएं

मानव शरीर में कई प्रकार के बैक्टीरिया होते हैं जिनमें से कुछ अच्छे और कुछ बुरे। जब भी हम कुछ पौष्टिक खाते हैं तो शरीर के अच्छे बैक्टीरिया बहुत खुश हो जाते हैं और बुरे बैक्टीरिया मर जाते हैं। आज हम मूली के बारे में बात करने वाले हैं जिनसे आंतों के अच्छे बैक्टीरिया खुश हो जाते हैं। लेकिन मूली खाने का सही समय होता है। गलत समय पर मूली खाने से शारीरिक परेशानियाँ होना संभव है इसलिए मूली सही समय पर खाएँ।

 insideradish

मूली सामान्यतः सर्दियों के मौसम में आती है और इस समय इसकी खपत बहुत अधिक होती है। लोग कई तरह से मूली उपयोग करते हैं जैसे सब्जी की तरह, सलाद की तरह, पराठों में, औषधी में इत्यादि। इतना ही नहीं मूली के पत्तों का भी बहुत महत्व है आंतों के लिए मूली के पत्तों का जूस और इसकी सब्जी बनाकर खाई जाती है। मूली में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, इसलिए इसके सेवन से पेट साफ रहता है। 

इसे भी पढ़ें : Lobia Health benefits: इम्यूनिटी बूस्टर है लोबिया, इन 3 तरीकों से खाने में करें इसे शामिल

मूली खाने का सही समय:

मूली की तासीर गर्म होती है इसलिए सर्दियों के समय इसे खाया जाता है और इसकी पैदावार भी सर्दियों के समय ही अधिक होती है। तो मूली खाने का सही समय सर्दियों का मौसम होता है। इसके साथ ही रात के समय मूली का सेवन नहीं करना चाहिए इससे सर्दी खाँसी की समस्या उत्पन्न होती है। शाम के बाद मूली की तासीर परिवर्तित हो जाती है तो यह शरीर को ठंडक पहुँचाती है। इसलिए भूल कर भी मूली का सेवन रात के समय न करें। मूली की भाजी या पत्तों की सब्जी का सेवन रात के समय किया जा सकता है।

मूली के फायदे:

मूली के कई फायदे होते हैं और मूली को कई प्रकार से प्रयोग कर सकते हैं।

  • 1.मूली के सेवन से कब्ज की परेशानी दूर होती है और बबासीर में भी यह आराम देता है।
  • 2.शरीर में जमा हुई ख़राब बैक्टीरिया को मूली पूर्ण रूप से नष्ट कर देता है।
  • 3.मोटापा कम करने में मूली सहायक है।
  • 4.अगर मूली को किस कर उसके रस को बालों में लगाया जाये तो बाल बहुत ही जल्दी लम्बे और घने होते हैं।
  • 5.सिर के दर्द में मूली राहत पहुँचाती  है। 
  • 6.पाचन क्रिया सही रहती है।
  • 7. सर्दी खांसी से बचाव करती है।
  • 8. ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।
  • 9. डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होती है मूली।
insidefood

इसे भी पढ़ें : डायबिटीज रोगी को नहीं, बल्कि इन लोगों को नुकसान पहुंचा सकता है शकरकंद

इस तरह से मूली के कई गुण और अवगुण दोनों है लेकिन अगर मूली का सेवन सही समय पर किया जाये तो यह नुकसान नहीं करती। एक बात का ख़ास तौर पर ध्यान रखें कि मूली का सेवन सर्दी, खाँसी, बुखार, पेट दर्द होने पर, मरोड़ होने पर और कफ के दौरान न करें। ऐसा करने पर ये बीमारियाँ और अधिक बढ़ जाती है। लेकिन मूली के पत्तों का प्रयोग आप कर सकते हैं वो फायदा पहुँचाते है। इन बातों का ध्यान रखते हुए मूली का सेवन करें इससे आपके स्वास्थ्य को बहुत फायदा होगा। आयुर्वेद में भी मूली को खाने की सलाह दी जाती हैक्योकी आंतों की सफाई के लिए मूली से अच्छी कोई दवा नहीं है। 

Read More Article On Diet And Fitness In Hindi

Disclaimer