मन को शांत और शरीर को रिलैक्स रखेगा प्रणामासन योग का अभ्यास, जानें करने का तरीका

प्रणामासन योग का अभ्यास शरीर के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है, जानें प्रणामासन का अभ्यास करने के फायदे और इसे करने का तरीका। 

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Mar 30, 2022Updated at: Mar 30, 2022
मन को शांत और शरीर को रिलैक्स रखेगा प्रणामासन योग का अभ्यास, जानें करने का तरीका

शरीर को फिट और स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम, योग आदि का अभ्यास जरूर करना चाहिए। योग का नियमित अभ्यास न सिर्फ आपके शरीर को स्वस्थ और फिट बनाता है बल्कि इससे आपके मन को भी शांत और हेल्दी रखने में फायदा मिलता है। मन को शांत रखने के लिए और शरीर को रिलैक्स रखने के लिए प्रणामसान का अभ्यास (Prayer Pose in Hindi) बहुत फायदेमंद माना जाता है। प्रणामासन विन्यास शैली का योगासन है जिसका अभ्यास बहुत आसान होता है। रोजाना इस आसन का अभ्यास करने से आपका मन और शरीर दोनों रिलैक्स रहता है। शरीर के पोश्चर को सुधारने के लिए भी इस योगासन का अभ्यास बहुत उपयोगी है। आइये विस्तार से जानते हैं प्रणामासन के फायदे और इसे करने के तरीके के बारे में।

प्रणामासन योग के फायदे (Pranamasana or Prayer Pose Benefits in Hindi)

प्रणामासन योग मूलतः उगते हुए सूर्य को प्रणाम करने का आसन है। इसका अभ्यास सूर्य नमस्कार के दौरान भी किया जाता है। प्रणामासन संस्कृत भाषा का शब्द है जिसका मतलब प्रणाम करते हुए आसन का अभ्यास करना है। भारतीय संस्कृत में प्राचीन काल से ही अभिवादन करते समय नमस्ते या प्रणाम करने की प्रथा है। प्रणाम करना या नमस्ते करना एक वैज्ञानिक प्रक्रिया है जिसमें आपके शरीर को फायदा मिलता है। प्रणामासन का अभ्यास करने से आपकी सेहत को ये फायदे मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें : ब्रेस्ट साइज कम करने के लिए करें इन 4 योगासनों का अभ्यास, मिलेगा फायदा

Prayer-Pose-Benefits

1. मन को शांत रखने के लिए फायदेमंद

प्रणामासन का अभ्यास करने से आपके मन को शांत और रिलैक्स रखने में फायदा मिलता है। इस योगासन का अभ्यास शांत रहकर करते हैं। दिन भर की भागदौड़ और काम के थकान की वजह से आज के समय में लोगों को तनाव या मानसिक परेशानियां हो रही है। इन परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए प्रणामासन का अभ्यास बहुत फायदेमंद माना जाता है। डिप्रेशन के लक्षण दिखने पर नियमित रूप से इस योगासन का अभ्यास करना उपयोगी होता है। इस आसन का अभ्यास करने से शरीर की उर्जा बढ़ती है और शांति मिलती है।

2. बॉडी को रिलैक्स करने के लिए उपयोगी

प्रणामासन का अभ्यास करने से आपके शरीर को रिलैक्स करने में फायदा मिलता है। शरीर की थकान दूर करने और शरीर दर्द की समस्या में प्रणामासन का अभ्यास करना उपयोगी है। यह आराम देने वाले योगासनों में से एक है जिसका अभ्यास तमाम योगियों द्वारा भी किया जाता है। प्रणामासन का अभ्यास करने से आपके मस्तिष्क से सारे नकारात्मक विचार दूर हो जाते हैं और शरीर को रिलैक्स रखने में फायदा मिलता है।

इसे भी पढ़ें : फेफड़ों और छाती को मजबूत बनाने के लिए करें अर्ध चक्रासन योग, जानें अभ्यास का तरीका

3. शरीर के पोश्चर को ठीक करने के लिए फायदेमंद

प्रणामासन का अभ्यास आपके शरीर के पोश्चर को सुधारने के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है। शरीर का पोश्चर ठीक न होने पर आपके व्यक्तिव पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। चूंकि प्रणामासन का अभ्यास रीढ़ की हड्डी को सीधा रखकर किया जाता है इसलिए भी इसके अभ्यास से आपके शरीर के पोश्चर को सुधारने में फायदा मिलता है।

Prayer-Pose-Benefits

4. पैरों की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद

प्रणामासन का अभ्यास पैरों की मांसपेशियों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। इसका नियमित रूप से अभ्यास करने से आपके पैरों की मांसपेशियों के साथ-साथ जोड़ों, कूल्हे, टखनों आदि को भी फायदा मिलता है।  इस आसन का अभ्यास करने से आपके तंत्रिका तंत्र को भी लाभ मिलता है। 

5. हड्डियों के लिए फायदेमंद

प्रणामासन का अभ्यास पैरों की मांसपेशियों के साथ-साथ हड्डियों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है। इसका अभ्यास करने से आपके पैरों की हड्डियों को मजबूती मिलती है। जोड़ों का दर्द, गठिया आदि की समस्या में भी प्रणामासन का अभ्यास फायदेमंद माना जाता है। 

प्रणामासन का अभ्यास करने का तरीका (Steps To Do Prayer Pose in Hindi)

प्रणामासन विन्यास श्रेणी का योगासन है जिसका अभ्यास बहुत आसान होता है। आप प्रणामासन का अभ्यास करने के लिए इन स्टेप्स को फॉलो करें।

  • सबसे पहले योगा मैट पर खड़े हो जाएं।
  • इसके बाद अपने दोनों पैरों को एकसाथ जोड़कर खड़े हों।
  • अब दोनों हाथों को एकसाथ सीने तक लेकर आएं।
  • सिर को सीधा रखते हुए सामने की तरफ देखें।
  • दोनों हथेलियों को प्रणाम की मुद्रा में रखें।
  • सामान्य तरीके से सांस लें और कुछ देर इसी मुद्रा में रहने के बाद शरीर को रिलैक्स करें।

प्रणामासन का अभ्यास आप सूर्य नमस्कार का अभ्यास करते हुए भी करते हैं। इसका नियमित अभ्यास मन और शरीर दोनों के लिए ही उपयोगी माना जाता है। आप इस योगासन का रोजाना अभ्यास कर सकते हैं। शुरुआत में योग का अभ्यास करने के लिए एक्सपर्ट की सहायता जरूर लेनी चाहिए।

(All Image Source - Freepik.com)

Disclaimer