इन 4 तरह के लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है विटामिन D की कमी, जानें इसे पूरी करने के 9 आसान तरीके

Vitamin D Deficiency in Hindi:अधिकतर लोगों को विटामिन डी की कमी का सामना करना पड़ता है। लेकिन कुछ लोगों में इसकी अधिक कमी देखने को मिलती है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 04, 2022Updated at: Apr 04, 2022
इन 4 तरह के लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है विटामिन D की कमी, जानें इसे पूरी करने के 9 आसान तरीके

Vitamin D Deficiency in Hindi: स्वस्थ रहने के लिए, हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए और मांसपेशियों को दुरुस्त रखने के लिए शरीर में विटामिन डी का पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी होता है। लेकिन आजकल अधिकतर लोगों में विटामिन डी की कमी देखने को मिलती है। वजन बढ़ना, थकान, मूड पर असर, हड्डियों में दर्द, मांसपेशियों में कमजोरी, तनाव और जोड़ों में दर्द विटामिन डी की कमी के लक्षण (Vitamin D Deficiency Symptoms in Hindi) होते हैं। कई लोगों को अक्सर ही जोड़ों में दर्द, हड्डियों में दर्द की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।  लेकिन कुछ लोग ऐसे है, जिनमें विटामिन डी की कमी अधिक मात्रा में देखने को मिलती है। आइए इस लेख में जानते हैं विटामिन डी की कमी किन लोगों में अधिक होती है?

1. ऑफिस जाने वाले लोगों में

ऑफिस जाने वाले लोगों में विटामिन डी की कमी अधिक देखने को मिलती है। जो लोग डेस्क जॉब करते हैं, उनमें विटामिन डी कम पाया जाता है। दरअसल, ऑफिस जाने वाले लोग पर्याप्त धूप नहीं ले पाते हैं। वे सुबह ऑफिस जाते हैं, सूरज ढलने के बाद घर लौटते हैं। वही फील्ड जॉब वाले लोगों में विटामिन डी की कमी ज्यादा देखने को नहीं मिलती है। 

2. अधिक उम्र के लोगों में

वैसे तो किसी भी उम्र के लोगों में विटामिन डी की कमी हो सकती है, लेकिन अधिक उम्र के लोगों में विटामिन डी की कमी अधिक देखने को मिलती है। खासकर 50 साल से अधिक उम्र के लोगों में विटामिन डी कम होता है। बढ़ती उम्र में तनाव, जोड़ों में दर्द, चिड़चिड़ापन जैसे विटामिन डी की कमी के लक्षण नजर आ सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - इन 4 विटामिन्स की कमी से जोड़ों में हो सकता है दर्द, जानें कैसे पूरी करें इनकी कमी

3. हमेशा नॉनवेज खाना 

जो लोग अकसर ही नॉनवेज खाते हैं, उन्हें भी विटामिन डी की कमी का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि नॉनवेज में प्रोटीन अधिक मात्रा में होता है, इससे शरीर को प्रोटीन पर्याप्त मिलता है, लेकिन विटामिन डी नहीं मिल पाता है। विटामिन डी के लिए आपको अपनी डाइट में डेयरी प्रोडक्ट्स, सब्जी को अधिक मात्रा में शामिल करना चाहिए। लेकिन जो लोग मछली खाते हैं, उनमें विटामिन डी की कमी कम हो देखने को मिलती है। मछली विटामिन डी का अच्छा सोर्स है।

4. बॉडी में अधिक फैट

जिन लोगों का बॉडी फैट अधिक होता है, उनमें भी विटामिन डी की कमी हो सकती है। बॉडी मॉस इंडेक्स का सही होना जरूरी होता है। जिन लोगों का बॉडी मास इंडेक्स अधिक होता है, उन्हें विटामिन डी की कमी का सामना करना पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें - घर पर पता लगाएं शरीर में किस विटामिन या मिनरल की है कमी, डॉक्टर से जानें कुछ खास संकेत 

विटामिन डी के सोर्स (Vitamin D Sources in Hindi)

  • 1. धूप- धूप विटामिन डी का सबसे बेहतरीन सोर्स है। इसके लिए आप रोज सुबह आधे घंटे की धूप जरूर लें।
  • 2. दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स- दूध और डेयरी प्रोडक्ट्स जैसे पनीर, घी आदि भी विटामिन डी के अच्छे सोर्स हैं।
  • 3. अंडा- अंडे में प्रोटीन, कैल्शियम के साथ ही विटामिन डी भी होता है।
  • 4. मछली- सैल्मन मछली विटामिन डी का अच्छा सोर्स होता है। इसलिए विटामिन डी की कमी होने पर आपको सैल्मन मछली का सेवन जरूर करना चाहिए।
  • 5. मशरूम- मशरूम विटामिन डी का एक बेस्ट सोर्स है। विटामिन डी कम होने पर आप मशरूम को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। 
  • 6. संतरे का जूस
  • 7. सोया फूड
  • 8. अनाज
  • 9. दही

(Maine Image source: healthline.com)

Disclaimer