मांसपेशियों को मजबूत और लचीला बनाने के लिए करें पाशासन, जानें करने का सही तरीका

पाशासन के अभ्यास से शरीर मजबूत बनता है और कई बीमारियों के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: May 06, 2022Updated at: May 30, 2022
मांसपेशियों को मजबूत और लचीला बनाने के लिए करें पाशासन, जानें करने का सही तरीका

पाशासन एक खास योग मुद्रा है, जो शरीर के अंगों को लचीला और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में उपयोगी साबित हो सकता है। इसके अभ्यास से शरीर के दर्द और अकड़न को भी कम करने में भी मदद मिलती है। जिन लोगों के शरीर में लचीलापन या पर्याप्त खिंचाव नहीं होता है, उनके लिए यह योगाभ्यास काफी फायदेमंद होता है। इस आसन को सही तरीके से करना बहुत जरूरी होता है क्योंकि सही तरीके से न करने से आपकी परेशानी बढ़ सकती है। साथ ही ये पीठ, कंधों और पेट की मांसपेशियों को मजबूत बना सकता है। पाशासन को नूज पॉज के नाम से भी जाना जाता है। इसे आप सुबह के समय ही करने का प्रयास करें ताकि पेट पूरी तरह से खाली हो और किसी तरह की परेशानी भी न हो। अगर आप इसे शाम के समय में करना चाहते हैं, तो कोशिश करें कि आपने अपना आखिरी खाना 4 घंटे से पहले ले लें। आइए विस्तार से इसके फायदे, अभ्यास की सही तकनीक और सावधानियों के बारे में बात करें। 

पाशासन के फायदे

1. जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि पाशासन के अभ्यास से शरीर में लचीलापन आता है और पेट की मांसपेशियां मजबूत होती है। साथ ही इससे पाचन संबंधी परेशानियां भी दूर हो सकती है। 

2. शरीर के पोश्चर में सुधार करने के लिए ये भी आसन काफी फायदेमंद है। इससे आपके पेट की अतिरिक्त चर्बी कम हो सकती है और कोर मसल्स मजबूत होते हैं। वजन घटाने में मददगार साबित हो सकता है। 

3. कंधों को मजबूती देने के साथ-साथ यह उन्हें सुडौल भी बनाता है। छाती वाला हिस्सा भी चौड़ा होता है। 

4. पाशासन के अभ्यास से जांघों में भी मजबूती आती है। पैरों की पिंडलियां में भी ताकत आती है। 

5. योगासन के अभ्यास से मानसिक शांति और तनाव भी कम होता है। यह एकाग्रता कम करने और स्मृति बढ़ाने में भी मददगार साबित हो सकता है। 

yoga-benefits

Image Credit- Freepik

पाशासन करने के सही तरीके

1. जमीन पर मैट बिछाकर उसपर घुटने मोड़कर बैठ जाएं। इस दौरान अपना संतुलन बनाए रखें। 

2. इसके बाद बाएं हाथ को उठाकर दाएं घुटने के बाहरी हिस्से पर रख लें और इस दौरान आपके ट्राइसेप्स घुटने पर टिके होने चाहिए।

3. फिर धीरे से शरीर को दाईं तरफ मोड़े और बाएं हाथ को घुमा लें जिससे कोहनी ऊपर की तरफ आ जाएं। 

4. कोहनी ऊपर आने के बाद आप हाथ को मोड़ कर वापस बाई पैर के टखने तक ले जाएं।

5. अब दाएं हाथ को कमर के पीछे से लेकर जाएं और बाएं हाथ की कलाई को पकड़ लें।

6. इस दौरान अपनी संपूर्ण शरीर के भार को बैलेंस में रखने की कोशिश करें। 

7. हो सके तो इसे पहली बार ट्रेनर की मदद से करने की कोशिश करें। 

8. इस अभ्यास को शुरूआत में 45 सेकेंड करें। फिर बैलेंस और बल बढ़ने पर आप इसे 1 मिनट तक कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- रोजाना योग करने से शरीर, मन और मस्तिष्क को मिलते हैं ये 6 फायदे

yoga-benefits

Image Credit- Freepik

सावधानियां

1. इस आसन को करने से पहले अच्छे से वार्मअप कर लें ताकि शरीर में चोट न लगे। 

2. शरीर में उतना ही खिंचाव लाएं, जितना संभव हो। अधिक खिंचाव लाने की कोशिश न करें। 

3. शरीर को एकाएक झटका न दें। किसी भी अभ्यास को बलपूर्वक न करें। 

4. एकाग्र होकर पाशासन करें ताकि संतुलन बनाने में दिक्कत न हो। 

5. शरीर के किसी हिस्से में दर्द या चोट लगने पर इसका अभ्यास न करें। 

6. पीरियड्स और गर्भावस्था में भी इसे न करें। 

7. हाई या लो ब्लड प्रेशर में भी पाशासन करना नुकसानदायक हो सकता है। 

Main Image Credit- yoga pose

Disclaimer