Expert

पीसीओडी (PCOD) को मैनेज करने के लिए कैसा होना चाहिए आपके दिनभर का डाइट प्लान, जानें डायटीशियन से

One Day Diet to Manage PCOD: पीसीओडी को मैनेज करने में दिनभर के इस डाइट प्लान को फॉलो करने से काफी मदद मिल सकती है। जानें कैसे करें फॉलो

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 22, 2022Updated at: Jun 22, 2022
पीसीओडी (PCOD) को मैनेज करने के लिए कैसा होना चाहिए आपके दिनभर का डाइट प्लान, जानें डायटीशियन से

पीसीओडी यानी पॉलीसिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर (polycystic Ovary Disorder) एक गंभीर रोग है। आजकल बहुत सी महिलाएं इस समस्या से जूझ रही हैं। यह एक ऐसी मेडिकल कंडीशन है, इस स्थिति में महिलाओं के अंडाशय से बहुत अधिक मात्रा में अपरिपक्व या आंशिक रूप से परिपक्व अंडे का उत्पादन होता है, जिससे समय के साथ अंडाशय में सिस्ट बनने लगते हैं। इसके कारण  महिलाओं की ओवरी का आकार बड़ा हो जाता है। साथ ही इसमें महिलाओं में पुरुष हार्मोन (एण्ड्रोजन) का स्तर बढ़ जाता है। इसका समय रहते प्रबंधन बहुत जरूरी है, नहीं तो यह कई अन्य गंभीर समस्याओं का कारण बन सकती है। पीसीओडी का एक बड़ा कारण खानपान ठीक नहीं होना और खराब जीवनशैली है। ऐसे में संतुलित आहार फॉलो करके और जीवनशैली की आदतों में बदलाव के साथ इसे आसानी से मैनेज किया जा सकता है।

पीसीओडी (PCOD) को मैनेज करने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं, इसको लेकर महिलाएं काफी असमंजस में रहती हैं। डायटीशियन मनप्रीत की मानें तो पीसीओडी को मैनेज करने के लिए सही डाइट फॉलो करना बहुत जरूरी है। अगर आप हर रोज एक संतुलित डाइट लेती हैं, तो इससे आपको इस समस्या को कंट्रोल करने में काफी मदद मिलेगी। इस लेख में हम आपके साथ पीसीओडी को मैनेज करने के लिए दिन भर का डाइट प्लान (One Day Diet Plan to Manage PCOD In Hindi) शेयर कर रहे हैं।

पीसीओडी को मैनेज करने के लिए कैसा होना चाहिए दिनभर का डाइट प्लान

सुबह क्या खाएं

सुबह के समय सबसे पहले बीजों का सेवन करना ज्यादा फायदेमंद है। सीड साइकिलिंग से दिन की शुरुआत करें। मेंस्ट्रुएशन से ओव्युलेशन के लिए (पीरियड्स के पहले आधे दिनों में) 1 चम्मच अलसी के बीज, एक चम्मच कद्दू के बीज का सेवन करें। साथ ही ओव्युलेशन से मेंस्ट्रुएशन (पीरियड्स के आखिरी आधे दिनों में) के लिए 1 चम्मच सूरजमुखी के बीज और एक चम्मच तिल के बीज का सेवन करें।

PCOD Diet Plan

ब्रेकफास्ट में क्या खाएं

ब्रेकफास्ट में फर्मेंटेड मिलेट और दाल का सेवन करें। इससे शुगर क्रेविंग को कम करने में मदद मिलेगी। साथ ही पाचन भी दुरुस्त होगा।

इसे भी पढें: सेहत की थाली : 1 प्लेट राजमा चावल में मौजूद पोषक तत्व और इसके फायदे

ब्रेकफास्ट और लंच के बीच में क्या खाएं

हलीम के बीज (चमसुर) का सेवन करें। आप ब्रेकफास्ट और लंच के बीच में स्नैक के रूप में ¼ चम्मच हलीम के बीज एक गिलास नारियल पानी में डालकर इसका सेवन कर सकते हैं।

दोपहर के भोजन में क्या खाएं

दोपहर के भोजन में अंकुरित दालों का सेवन करें। यह आपके पाचन को मजबूत बनाएगा। साथ ही पोषक तत्वों के अवशोषण को बेहतर बनाएगा। इससे आपको मेटाबॉलिज्म भी तेज होगा।

शाम को क्या खाएं

शाम के स्नैक या भोजन के रूप में स्मूदी के साथ मुठ्ठी भर मखाने का सेवन करें। एक छोटा टमाटर, आधा इंच अदरक, आधा खीरा, आधा चुकंदर, आधी गाजर, थोड़ा सा धनिया और पुदीना, एक छोटी चम्मच रात भर भीगे हुए चिया के बीज, 200 ML नारियल पानी, 2-3 मुनक्का लें। सभी सामग्रियों को तब तक ब्लेंड करें, जब तक इसकी कंसिस्टेंसी स्मूद न हो जाए। इसके ऊपर चिया के बीज डालें और इसका आनंद लें।

इसे भी पढें: तांबे के बर्तन में रखा पानी भी सेहत को पहुंचा सकता है नुकसान, जानें कब नहीं पीना चाहिए इसे

रात के खाने में क्या खाएं

रात के खाने में आपको हल्का और पचने में आसान भोजन करना है। रात के खाने में आप सब्जियों से भरपूर रागी दलिया का सेवन करें।

डिनर के बाद क्या खाएं

रात के खाने के बाद आपको कुछ भी भारी खाने से बचना चाहिए। आप रात में कैमोमाइल टी में एक चुटकी दालचीनी का पाउडर डालकर इसका सेवन करें।

पीसीओडी (PCOD) से पीड़ित महिलाओं के लिए यह डाइट प्लान बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। इस एक दिन के डाइट प्लान को ही थोड़े बहुत बदलाव के साथ रोज फॉलो करें, तो आपको अच्छे परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer