बच्चों के विकास के लिए जरूरी हैं ये 6 पोषक तत्व, जानें इनके सोर्स

Nutrients for Baby Growth: शिशु को 6 महीने बाद मां के दूध के साथ ही कुछ फूड्स देने भी शुरू किया जा सकता है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: May 23, 2022Updated at: May 23, 2022
बच्चों के विकास के लिए जरूरी हैं ये 6 पोषक तत्व, जानें इनके सोर्स

Most Important Nutrients for Babies: मां का दूध किसी भी नवजात शिशु के लिए सबसे जरूरी होता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स 6 महीने तक शिशु को सिर्फ मां का दूध पिलाने की सलाह देते हैं। इस दौरान उन्हें कोई भी अन्य खाद्य पदार्थ नहीं खिलाया जाता है। लेकिन 6 महीने के बाद बच्चे को मां के दूध के साथ ही कुछ फूड्स खिलाना भी शुरू किया जा सकता है। ताकि बच्चे का विकास तेजी से हो सके और उन्हें सभी जरूरी पोषक तत्व मिल सके। जब शिशु 6 महीने का हो जाता है, तो अधिकतर मांओं के मन में सवाल आता है कि उन्हें अपने बच्चे को कौन-कौन से पोषक तत्व देने चाहिए। जिससे बच्चे की ग्रोथ जल्दी हो सके और वह बार-बार बीमार न पड़े। तो चलिए विस्तार से जानते हैं बच्चों के लिए कौन-कौन से पोषक तत्व जरूरी होते हैं। 

मोतमगहस

1. कैल्शियम (Calcium for Baby)

बच्चे हो या बड़े कैल्शियम सभी के लिए बहुत जरूरी होता है। कैल्शियम एक मिनरल है, जो शरीर की हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है। कैल्शियम दांतों के लिए भी जरूरी होता है। छोटे बच्चों के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है। क्योंकि यह बच्चों की हड्डियों और दांतों के निर्माण में मदद करता है।

दूध, सोया प्रोडक्ट, ब्रोकली, रागी, बादाम और बीन्स कैल्शियम के अच्छे सोर्स (Calcium Food for Baby in Hindi) होते हैं। आप बच्चे को इनकी प्योरी बनाकर खिला सकते हैं। इसके साथ ही हरी पत्तेदार सब्जियां भी फायदेमंद होती हैं। इनसे बच्चे को पर्याप्त कैल्शियम मिलेगा और उनकी हड्डियों का विकास होगा।

2. फैट (Fat for Babies Diet)

बच्चों के विकास के लिए फैट बहुत जरूरी होता है। इसलिए बच्चों को फैट रिच फूड्स खिलाना चाहिए। फैट बच्चों में ऊर्जा पैदा करता है। मस्तिष्क के विकास में मदद करता है। इतना ही नहीं यह त्वचा और बालों को स्वस्थ बनाए रखने में भी मदद करता है। 

एवोकाडो, केला, पीनट बटर, शकरकंद, मौससी फल और सब्जियों को बच्चों की फैट डाइट (Fat Foods fo Babies) में शामिल किया जा सकता है। अगर बच्चे का वजन कम है, तो ये फूड्स वजन बढ़ाने में मदद करेंगे। आप बच्चे को ये फूड्स सीमित मात्रा में खिला सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रखने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 पोषक तत्व, हृदय रोगों का खतरा होगा कम

3. आयरन (Iron for Babies)

बच्चों के बेहतर विकास के लिए आयरन बहुत जरूरी मिनरल होता है। आयरन बच्चों में रक्त कोशिकाओं का निर्माण करता है। मस्तिष्क के विकास में भी मदद करता है। स्तनपान करने वाले बच्चों के लिए आयरन रिच फूड्स देना चाहिए। शरीर हीमोग्लोबिन बनाने के लिए आयरन का उपयोग करता है। इतना ही नहीं कुछ हार्मोन बनाने के लिए भी शरीर को आयरन की जरूरत होती है।

टोफू, अनार, टमाटर, हरी सब्जियां, चुकंदर और दालें बच्चों के लिए आयरन के अच्छे सोर्स (Iron Foods for Babies) होते हैं। आप अपने बच्चे को इन आयरन रिच फूड्स को सीमित मात्रा में प्यूरी बनाकर खिला सकते हैं। या फिर जूस के रूप में दे सकते हैं। 

4. प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स

बच्चों के विकास के लिए प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स बहुत जरूरी होता है। प्रोटीन शरीर को बढ़ने में मदद करता है, मांसपेशियों का निर्माण करता है और ऊर्जा देता है। बच्चे को स्तनपान के साथ प्रोटीन रिच डाइट में अंडा, एवोकाडो, नट्स और बीन्स (Protein for Babies) खिलाए जा सकते हैं। 

इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट शर्करा है, जो शरीर ऊर्जा के लिए उपयोग करता है। दिन भर एर्जेटिक, ऊर्जावान और तरोताजा रहने के लिए कार्बोहाइड्रेट रिच डाइट लेना बहुत जरूरी होता है।

zinc

5. जिंक (Zinc for Babies)

जिंक प्रत्येक व्यक्ति के लिए जरूरी होता है। जिंक बच्चों की कोशिकाओं को बढ़ाने का काम करता है। जिंक एक जरूरी मिनरल है, जिसे शरीर अपने आप नहीं बनाता है। जिंक बच्चे के विकास, प्रतिरक्षा कार्य के लिए जरूरी होता है। जिंक बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।

लो-फैट मिल्क, योगर्ट, दालें, नट्स और अनाज में जिंक अधिक मात्रा में पाया जाता है। आप अपने बच्चे को 6 महीने के बाद स्तनपान के साथ ही इन फूड्स को भी खिला सकते हैं।

इसे भी पढ़ें - भीगे बादाम या कच्चे बादाम, क्या है सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद? जानें इनके पोषक तत्व और फायदे

6. विटामिन्स (Vitamins for Babies)

शिशु के विकास के लिए कुछ विटामिन्स भी जरूरी होते हैं। 6 महीने के बाद बच्चों को स्तनपान के साथ ही विटामिन्स युक्त भोजन खिलाना भी जरूरी होता है। शिशु के विकास के लिए विटामिन ए, विटामिन बी कॉम्पलेक्स, विटामिन बी12, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन ई और विटामिन के बहुत जरूरी होते हैं। ये सभी विटामिन्स बच्चे के शरीर में अलग-अलग कार्य करते हैं और शिशु के विकास में कारगर माने जाते हैं।

बच्चों के विकास के लिए ये सभी मिनरल्स और विटामिन्स बहुत जरूरी होते हैं। पहले के 6 महीने तक बच्चो को सिर्फ मां का दूध पिलाना ही चाहिए। 6 महीने के बाद बच्चे को मां के दूध के साथ ही विटामिन्स और मिनरल्स रिच फूड्स भी खिलाए जा सकते हैं। लेकिन बच्चे को हमेशा सीमित मात्रा में ही कोई भी फूड खिलाएं। साथ ही एक बार डॉक्टर की राय जरूर लें।

Disclaimer