मरुआ के फायदे: मरुआ के पत्ते खाने से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें सेवन का तरीका

marua leaves benefits:  मरुआ के पत्ते पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इसलिए इन पत्तियों का उपयोग कई समस्याओं को दूर करने के लिए किया जा सकता है।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jan 24, 2022Updated at: Jan 24, 2022
मरुआ के फायदे: मरुआ के पत्ते खाने से सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें सेवन का तरीका

marua leaves benefits: आयुर्वेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियां हैं, जिनका इस्तेमाल शारीरिक समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। इन्हीं में से एक है मरुआ। मरुआ का पौधा अधिकतर घरों में गमलों में उगाया जाता है। यह एक सुगंधित पौधा है, इसका उपयोग कई तरीकों से किया जा सकता है। मरुआ अत्यंत गुणकारी और हानिरहित पौधा है। आप हम बात कर रहे हैं मरुआ के पत्ते के फायदों के बारे में-

मरुआ के पत्तों में पोटैशियम, कार्बोहाइड्रेट, डाइटरी फाइबर, प्रोटीन, विटामिन सी और कैल्शियम काफी मात्रा में होता है। इसके अलावा मरुआ आयरन, विटामिन बी6 और मैग्नीशियम का भी अच्छा सोर्स है। मरुआ की पत्तियों के उपयोग से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं दूर होती हैं। आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से विस्तार से जानें मरुआ के फायदे (marua health benefits)-

मरुआ के पत्ते के फायदे (Marua leaves benefits)

marua for stomach

1. बच्चों के पेट में कीड़े खत्म करे (worms in stomach in child symptoms)

बच्चों के पेट में अकसर कीड़े की समस्या देखने को मिलती है। बच्चे बार-बार पेट दर्द की शिकायत भी करते हैं। इनके लिए मरुआ का उपयोग करना लाभकारी होता है। यह पेट के कीड़े की घरेलू दवा है। मरुआ की चटनी खाने से पेट की कीड़े निकल जाते हैं। यह पेट के इंफेक्शन को भी ठीक करता है।

अगर आपका बच्चा बहुत छोटे हैं, तो इस स्थिति में आप मरुआ की पत्तियों को पीसकर रस निकाल लें। 4-6 बूंद मरुआ की पत्तियों का रस बच्चों को खाली पेट पिलाएं। 3-7 दिनों के अंदर पेट के कीड़े निकल जाएंगे।

2. अपच की समस्या दूर करे (indigestion home remedies)

मरुआ की पत्तियां अपच की समस्या को दूर करने में भी लाभकारी हैं। इसके लिए मरुआ और अदरक की चटनी बना लें। इससे अपच की समस्या दूर होगी, साथ की भूख भी बढ़ेगी। मरुआ पेट से जुड़ी समस्याओं को दूर करता है। यह अपच दूर करने का अच्छा घरेलू उपाय है।

 marua for cold and cough

3. सर्दी-जुकाम में आराम दिलाए (how to cure cold and cough)

बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम और खांसी की समस्या होना आम है। अगर आप इससे परेशान हैं, तो मरुआ की पत्तियां का उपयोग कर सकते हैं। मरुआ की पत्तियां सर्दी-जुकाम और खांसी में आराम दिलाती हैं। इसके लिए चाय में मरुआ की 8-10 पत्तियां डाल लें। आप चाहें तो बेहतर परिणाम के लिए मुलेठी भी डाल सकते हैं। इससे जल्दी ही सर्दी-जुकाम में आराम मिलेगा। मरुआ की चाय को फायदेमंद बनाता है।

इसे भी पढ़ें - अर्जुन के फल के फायदे: अर्जुन का फल खाने से दूर होती हैं ये 5 समस्याएं

4. सिरदर्द में उपयोगी (how to headache remove)

मरुआ की पत्तियां सिरदर्द, माइग्रेन की समस्या में भी उपयोगी होती हैं। अगर आपको माइग्रेन की शिकायत है, तो 8-10 पत्तियां का रस निकाल लें। इसे दोनों नासिकाओं में 4-4 बूंद डाल दें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा। इसके अलावा आप मरुआ के पत्तों का लेप भी माथे पर लगा सकते हैं। इससे सिरदर्द, माइग्रेन में आराम मिलेगा।

5. मुंह की बदबू दूर करे (mouth smell solution)

मरुआ के पत्ते मसूड़ों की समस्या, मुंह की बदबू को भी दूर करता है। इसके लिए मरुआ की पत्तियों को चबाएं। आप इन पत्तियों को अंदर भी ले सकते हैं, थूक भी सकते हैं। इससे आपके मुंह की दुर्गंध दूर होगी। मसूड़ों की समस्या, मसूड़ों की सूजन भी दूर होगी। मुंह की समस्याओं, गले में खराश होने पर आप मरुआ के पत्तों को पानी में उबालकर गरारे भी कर सकते हैं।

6. कफ रोगियों के लिए गुणकारी

आयुर्वेद में मरुआ के पत्ते को कफ रोगियों के लिए गुणकारी बताया गया है। इसका काढ़ा पीने से खांसी दूर होती है। फेफड़ों की सफाई होती है, साथ ही इससे गले में जमा बलगम भी आसानी से निकलता है।

इसे भी पढ़ें - बादाम और किशमिश एक साथ खाने से सेहत को मिलते हैं ये 9 फायदे, जानें इनके सेवन का सही समय और तरीका

मरुआ का सेवन करने का तरीका (how to consume marua leaves)

  • 1. जिस तरह के पुदीने की चटनी बनाई जाती है, वैसे ही आप मरुआ के पत्तों की भी चटनी (marua chutney) बना सकते हैं। 
  • 2. मरुआ की पत्तियों का रस निकालें। इसका सेवन खाली पेट किया जा सकता है।
  • 3. मरुआ की पत्तियों का उपयोग चाय में डालकर भी किया जा सकता है।
  • 4. मरुआ की पत्तियों का काढ़ा काफी गुणकारी होता है। आप पानी में मरुआ की पत्तियां, अदरक, काली मिर्च और लौंग डालकर उबाल लें। इसका काढ़ा पीने से आपकी कई समस्याएं दूर होती हैं।

आप भी इन तरीकों से मरुआ के पत्ते का सेवन कर सकते हैं। लेकिन इनका सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

Disclaimer