जानें कमरदर्द को दूर करने में कैसे मददगार है मरीचिआसन

योगासन एक ऐसा तरीका है जिसके जरिये कमरदर्द को आसानी से दूर किया जा सकता है और यह शरीर के दूसरे अंगों को भी एक्टिव कर देता है। मरिचिआसन एक ऐसा आसन है जो इस समस्‍या के उपचार में बहुत प्रभावी है।

Devendra Tiwari
योगाWritten by: Devendra Tiwari Published at: Aug 02, 2016
जानें कमरदर्द को दूर करने में कैसे मददगार है मरीचिआसन

आजकल घंटों एक जगह बैठकर काम करने, व्‍यायाम न करें और अनियमित लाइफस्‍टाइल के कारण कमरदर्द की समस्‍या आम होती जा रही है। मेट्रो शहरों में लोग घंटों एक ही जगह पर बैठकर काम करते हैं इसलिए वहां समस्‍या और गंभीर हो गई है। इसे दूर करने के लिए दवाओं का सहारा लेना ठीक नहीं है। योगासन एक ऐसा तरीका है जिसके जरिये कमरदर्द को आसानी से दूर किया जा सकता है और यह शरीर के दूसरे अंगों को भी एक्टिव कर देता है। मरिचिआसन एक ऐसा आसन है जो इस समस्‍या के उपचार में बहुत प्रभावी है। इस लेख में हम आपको बता रहे हैं इस आसन को करने की विधि और इससे होने वाले फायदों के बारे में।

marichyasana in hindi

मरिचिआसन की विधि

मरिचिआसन न केवल कमरदर्द को दूर करता है बल्कि यह शरीर की दूसरी समस्‍याओं के लिए भी फायदेमंद होता है। यह आसन किसी पेनकिलर से अधिक प्रभावी होता है और इससे तुरंत आराम मिलता है। यह मन को भी शांत करता है जिससे तनाव नहीं होता। इसके नियमित अभ्‍यास से कमर मजबूत होती है और कमरदर्द की समस्‍या हमेशा के लिए दूर हो जाती है। इस आसन का नाम मरिची नामक संयासी के नाम से लिया गया है, जिसका मतलब रोशनी की किरण है।


कैसे करें मरिचिआसन

इसे करने के लिए सीधे जमीन में किसी चटाई पर बैठ जायें। आपके दानों पैर सामने की तरफ सटे हुए होने चाहिए। दोनों हाथ साइड में रखें और अपनी सिर और कमर को सीधा रखें। अब एक पैर को ऊपर की तरफ मोडि़ये, इस स्थिति में आपके मुड़े हुए पैर का घुटना सीने को छूना चाहिए। दूसरा पैर सीधा होना चाहिए। फिर अपने कमर के ऊपरी हिस्‍से को दबाव के साथ मुड़े हुए पैर के विपरीत दिशा में ले जायें। दोनों हाथों से मुड़े हुए पैर को जकड़ लीजिए। और गहरी सांस लेकर एक मिनट तक इसी स्थिति में रहें। इस स्थिति को 4-5 बार दोहरायें। अब दूसरे पैर से भी इस क्रिया को दोहरायें। कमरदर्द छूमंतर हो जायेगा।


मरिचिआसन के दूसरे फायदे

  • इससे रीढ़ की हड्डी और कमर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं।
  • हाथों की मांसपेशियों को स्‍ट्रेच कर मजबूत करता है।
  • इससे पाचन क्रिया मजबूत होती है, यह पाचन की दूसरी समस्‍याओं को भी दूर करता है।
  • महिलायें इस आसान से मासिक धर्म की समस्‍या और दर्द दूर होता है।
  • इससे दिमाग शांत रहता है और तनाव भी दूर होता है।

सावधानी

जिसे कमर में चोट लगी हो या फिर सिर में दर्द हो इस आसन को न करें। हाइपरटेंशन और माइग्रेन में भी इस आसन को करें। इस आसन को करने से पहले योग के शिक्षक से सलाह जरूर लें।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते है।

Image Source : Getty

Read More Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer