पोषक तत्वों से भरपूर मैंगोस्टीन सेहत के लिए लाभदायक, अपनी डाइट में जरूर करें शामिल

संसार में कई प्रकर के फल उपलब्ध हैं, लेकिन क्या आप मैंगोस्टीन के बारे में जानते हैं। अगर नहीं तो आज हम आपको यहां बताएंगे मैंगोस्टीन के बारे में।

Naina Chauhan
Written by: Naina ChauhanUpdated at: Nov 17, 2020 15:33 IST
पोषक तत्वों से भरपूर मैंगोस्टीन सेहत के लिए लाभदायक, अपनी डाइट में जरूर करें शामिल

कहा जाता है फलों का सेवन सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है और कई लोग फलों का बहुत सेवन करते हैं। संसार में कई प्रकर के फल उपलब्ध हैं, लेकिन क्या आप मैंगोस्टीन के बारे में जानते हैं। अगर नहीं तो आज हम आपको यहां बताएंगे मैंगोस्टीन किस प्रकार पोषक तत्वों से भरपूर फल है और इसके फायदे आपको हैरान कर देंगे। यह एक फल ही होता है और इसके फायदे अनगिनत है इससे शरीर को कई प्रकार के विटामिन और प्रोटीन मिलते हैं। 

 insidehealth

क्या है मैंगोस्टीन?:

यह एक उष्णकटीबंधीय फल होता है एवं यह खट्टा मीठा होता है। जैसे आम को फलों का राजा कहा जाता है वैसे ही मैंगोस्टीन को फलों की रानी के नाम से भी जाना जाता है। इसका रंग बैगनी होता है। अलग-अलग भाषा में इसे अलग-अलग नाम से जाना जाता है जैसे हिंदी में इसे “मैंगोस्टीन” कहते हैं, बंगाल में इसे “काओ” कहते हैं, गुजरात में इसे “कोकम” कहते हैं आदि।

 इसे भी पढ़ें : अमरूद का स्वाद और इसके पत्तों का मिज़ाज अब दिलाएगा इन समस्याओं से छुटकारा

मैंगोस्टीन के फायदे:

मैंगोस्टीन एक ऐसा फल है जिसके फायदे अनगिनत है और हैरान कर देने वाले इसके फायदे कई बार चिकित्सकों को भी चौंका देते हैं। इसमें सभी पौषक तत्व शामिल होते हैं।

  • मैंगोस्टीन कैंसर जैसे रोग को भी नियंत्रित कर सकता है।
  • कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मैंगोस्टीन सहायक है।
  • रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक है।
  • त्वचा  के लिए भी यह रामबाण है।
  • औषधी में भी इसकी टहनी,छाल और पपड़ी का प्रयोग किया जाता है।
  • पाचन तंत्र रही रखने में मदद करता है।
  • वजन कम करने में मददगार है।
  • बाजार में मिठाई बनाने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  • डायरिया में भी यह फायदेमंद होता है।
  • हेल्थ ड्रिंक बनाने में भीसका प्रयोग किया जाता है। 
  • मस्तिष्क को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।

मैंगोस्टीन कैसे खाएँ:

insidefruitbenefit

मैंगोस्टीन सिर्फ गर्मियों के मौसम में मिलता है ये हर जगह पर मिलता भी नहीं है। यह बंद डिब्बों में बाज़ार में मिलता है। एशिया के बाज़ारों में यह बहुत अधिक मात्रा में उपलब्ध होता है। इसके रसदार सफ़ेद गुदे को खाया  जाता है और ऊपर का बैगनी छिलका निकाल दिया जाता है। गर्भवती माहिलाओं को यह फल नहीं खाना चाहिए इससे उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसके साथ ही कुछ विशेष दवाओं के साथ इसका सेवन नहीं करना चाहिए। चिकित्सक की सलाह से इसका सेवन करें। जिन्हें कोई शारीरिक बीमारी नहीं  है वे आसानी से इसका सेवन कर सकते हैं।

 इसे भी पढ़ें : ब्लैक ऑलिव बाल व त्वचा को हेल्दी रखने के साथ देगा ये फायदें

तो इस तरह मैंगोस्टीन के कई फायदे हैं लेकिन अत्यधिक मात्रा में इसका सेवन हानिकारक होता है। इसके अत्यधिक सेवन से दस्त, पाचन सम्बन्धी समस्याएँ होना संभव है। इसलिए इसका जरुरत से अधिक मात्रा में इसका सेवन न करें। वैसे तो मैंगोस्टीन मौसमी फल है  तो सिर्फ गर्मियों में ही यह उपलब्ध होता है। और कुछ ही जगहों पर यह मिलता है। आप इस फल का लुफ्त गर्मियों में ही ले सकते हैं। कैंसर जैसी जटिल बीमारी में इसका प्रयोग किया जाता है जो आश्चर्यजनक परिणाम देता है। त्वचा सम्बन्धी रोग में भी  इसका प्रयोग औषधी के रूप में किया जाता है। हम सब जानते हैं कि फल खाने से कोई नुकसान नहीं होता है लेकिन बाजार में मिलने वाले फलों के जूस या सप्लीमेंट को पूरी तरह से जोखिम रहित नहां कहा जा सकता।

Read More Article On Diet And Fitness In Hindi
Disclaimer