मैदा की रोटी खाने से सेहत को हो सकते हैं ये 5 गंभीर नुकसान

Maida Roti Side Effects: मैदा की रोटी खाना सेहत के लिए काफी नुकसानदायक हो सकता है। मैदा की रोटी खाने से पाचन तंत्र, मेटाबॉलिज्म प्रभावित हो सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Jan 01, 2023 14:00 IST
मैदा की रोटी खाने से सेहत को हो सकते हैं ये 5 गंभीर नुकसान

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Maida Roti Side Effectsin Hindi: मैदा स्वाद में जितना अच्छा लगता है, सेहत के लिए यह उतना ही हानिकारक होता है। आजकल हम सभी किसी न किसी रूप में मैदा का सेवन कर ही रहे हैं। कोई पिज्जा, समोमा, व्हाइट ब्रेड से मैदा ले रहा है, तो कोई बिस्किट आदि के जरिए मैदा खा रहा है। वहीं, कई लोग तो मैदा की पूड़ी और रोटी बनाकर भी खाना पसंद करते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि मैदा से बनी रोटियों को खाने से आपकी सेहत को कोई भी विटामिन्स और मिनरल्स नहीं मिल पाते हैं। बल्कि मैदा की रोटी खाने (Maida ki Roti Khane ke Nuksan) से स्वास्थ्य को नुकसान ही पहुंचता है।

आपको बता दें कि मैदा को रिफांइड फ्लो के रूप में भी जाना जाता है। इसमें फाइबर बिल्कुल नहीं होता है। जिससे यह आंतों को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है। अगर आप भी मैदा की रोटी खाते हैं, तो इससे आज की खाना छोड़ दें। क्योंकि मैदा आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। तो चलिए, आरोग्य डाइट और न्यूट्रीशन क्लीनिक की डाइटीशियन डॉक्टर सुगीता मुटरेजा से जानते हैं मैदा से बनी रोटी खाने के नुकसान क्या हैं? या मैदा की रोटी खाने से क्या नुकसान हो सकते हैं? (Maida Roti Side Effects in Hindi)

maida can cause digestion problems

1. पाचन से जुड़ी समस्याएं

अगर आप मैदा की रोटी खाते हैं, तो इससे आपको पाचन से जुड़ी समस्याओं (Digestion Problem Cause) का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल, मैदा में फाइबर नहीं होता है। इसलिए शरीर इसको आसानी से पचा नहीं पाता है, इससे मैदा आंतों पर चिपक जाता है और पाचन क्रिया को बाधित करता है। मैदा की रोटी खाने से आपको गैस, कब्ज और एसिडिटी जैसी समस्याओं से परेशान होना पड़ सकता है। अगर नियमित रूप से मैदा की रोटी खाई जाती है, तो आंतों को गंभीर नुकसान पहुंच सकता है। मैदा आंतों की बीमारियों का भी एक मुख्य कारण बन सकता है। मैटा आपके सिस्टम को कंजस्ट कर देता है और इससे मेटाबॉलिज्म भी धीमा पड़ सकता है। 

इसे भी पढ़ें- मैदे से बनी चीजें ज्यादा खाने से आपके पाचनतंत्र पर पड़ता है बुरा असर, हो सकते हैं ये 5 नुकसान

2. वजन बढ़ने का खतरा

मैदा की रोटी खाने से आपके पाचन तंत्र को नुकसान पहुंच सकता है। साथ ही मैदा की रोटी मेटाबॉलिज्म को भी धीमा कर सकती है। अगर आप अधिक मात्रा में मैदा की रोटी खाते हैं, तो इससे आपका मेटाबॉलिज्म प्रभावित हो सकता है, इससे आपके द्वारा खाए गए भोजन का पाचन होना मुश्किल हो सकता है। ऐसे में आपका वजन बढ़ (Maida Cause Unhealthy Weight Gain) सकता है। नियमित रूप से मैदा खाने से व्यक्ति मोटापे का भी शिकार हो सकता है।

3. डायबिटीज का जोखिम

मैदा की रोटी खाने से डायबिटीज होने का जोखिम भी काफी बढ़ सकता है। दरअसल, मैदा में ग्लाइसेमिक इंडेक्स अधिक होता है, इससे सूजन हो सकती है और डायबिटीज के लक्षण विकसित हो सकते हैं। आपको बता दें कि हाई जीआई होने के कारण मैदा ब्लड में शुगर को छोड़ता है, इससे ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने (High Blood Sugar Level) लगता है। इसलिए अगर आपको डायबिटीज है, तो आपको मैदा से पूरी तरह से परहेज करना चाहिए। आपको मैदा की रोटी के साथ ही पिज्जा, बर्गर, समोसा आदि का भी सेवन नहीं करना चाहिए। इसके बजाय आप गेहूं, रागी के आटे से बनी रोटी खा सकते हैं, इनमें फाइबर अधिक होता है। साथ ही जीआई भी कम होता है। 

4. इम्यूनिटी को कमजोर बनाए

मैदा की रोटी आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर (Maida Can Cause Low immunity) बना सकती है। आपको बता दें कि अधिक मात्रा में मैदा का सेवन करने से एड्रेनल पर दबाव पड़ सकता है। इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो सकती है। इतना ही नहीं मैदा में किसी भी प्रकार के विटामिन्स या मिनरल्स नहीं पाए जाते हैं, ऐसे में इससे आपको पोषण नहीं मिल पाता है और आपकी इम्यूनिटी बूस्ट नहीं हो पाती है।

इसे भी पढ़ें- Healthy Flour: मैदे की जग‍ह करें इन 5 आटों का इस्‍तेमाल, ब्‍लड शुगर से लेकर ब्‍लड प्रेशर रहेगा कंट्रोल

5. कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाए

मैदा की रोटी खाने से आपको हृदय रोग होने का जोखिम (Maida Increase Heart Diseases Risk) भी बढ़ सकता है। अगर आप अधिक मात्रा में मैदा का सेवन करते हैं, तो इससे आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ सकता है। इसके अलावा स्ट्रोक समेत हृदय से जुड़े अन्य रोग होने की संभावना भी बढ़ सकती है। अपने हृदय को हेल्दी बनाए रखने के लिए आपको मैदा खाने से परहेज करना चाहिए।

Disclaimer