इन 5 कारणों से घट सकता है पुरुषों का स्पर्म काउंट, जानें बचाव के लिए क्या करें

पुरुषों में इनफर्टिलिटी की समस्या स्पर्म काउंट की कमी से हो सकती है, जानें इस समस्या के कारण और बचाव के टिप्स।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Nov 05, 2021 14:36 IST
इन 5 कारणों से घट सकता है पुरुषों का स्पर्म काउंट, जानें बचाव के लिए क्या करें

आज के समय में खानपान और जीवनशैली से जुड़ी गलत आदतों की वजह से इंसान को तमाम स्वास्थ्य समस्याएं हो रही हैं। पुरुषों में इनफर्टिलिटी की समस्या के लिए भी खानपान और जीवनशैली को जिम्मेदार माना जा सकता है। इनफर्टिलिटी या बांझपन की समस्या को पहले सिर्फ महिलाओं से जोड़कर देखा जाता था लेकिन अब धीरे-धीरे समाज में बढ़ती जागरूकता और चीजों में बारे में सही जानकारी के कारण इस पर बात होने लगी है। संतान पैदा न होने के पीछे पुरुषों की भी कमियां या कमजोरियां होती हैं। किसी भी पुरुष के लिए बाप बनना एक सुखद अनुभव है लेकिन आज के समय में कई कारणों से तमाम पुरुष इस सुखद अनुभव से वंचित रह जाते हैं। जीवनशैली और स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के कारण पुरुषों की प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है जिसकी वजह से तमाम लोग पिता बनने से वंचित रह जाते हैं। रोजमर्रा की कई आदतों और स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं के कारण पुरुषों में स्पर्म काउंट का कम होना भी इनफर्टिलिटी से ही जुड़ा हुआ है। स्पर्म काउंट में कमी या शुक्राणुओं में कमी की वजह से पुरुष बाप बनने के सुख से वंचित रह सकते हैं। आइये विस्तार से जानते हैं इस समस्या के कारण और बचाव के बारे में।

पुरुषों में स्पर्म काउंट कम होने के कारण (What Causes Low Sperm Count in Male?)

 Low-Sperm-Count-Causes

(image source - freepik.com)

पुरुषों में शुक्राणुओं की कमी और उसकी गुणवत्ता प्रभावित होने के कई कारण हो सकते हैं। एक अंडे को निषेचित करने केवल एक शुक्राणु की आवश्यकता होती है। लेकिन शुक्राणुओं की गुणवत्ता प्रभावित होने या उनकी मात्रा में कमी आने की वजह से गर्भधारण में समस्या हो सकती है। स्पर्म काउंट में कमी या शुक्राणुओं की कमी की समस्या को ओलिगोस्पर्मिया भी कहा जाता है। वीर्य में 15 मिलियन शुक्राणु प्रति मिलीलीटर (एमएल) से कम होने पर इसकी संख्या को कम माना जाता है। मोटापा या अधिक वजन होना, अंडकोष में या उसके आसपास आघात या सर्जरी और कुछ दवाएं लेने से स्पर्म काउंट में कमी हो सकती है। आइये जानते हैं इसके प्रमुख कारणों के बारे में।

इसे भी पढ़ें : पुरुषों के अंडकोष (टेस्टिस) में दर्द के हो सकते हैं ये 10 कारण, यूरोलॉजिस्ट से जानें कैसे करें इसका इलाज

1. सर्जरी, संक्रमण और स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं

प्राइवेट पार्ट्स में लगी चोट या रोगों की वजह से स्पर्म काउंट में कमी हो सकती है। इसके अलावा रीढ़ की हड्डी में चोट, डायबिटीज की बीमारी और सर्जरी आदि की वजह से शुक्राणुओं का सामान्य प्रवाह बाधित हो जाता है।

2. आनुवांशिक कारण और पुरानी बीमारी

शरीर में शुक्राणुओं की कमी आनुवांशिक कारणों से भी हो सकती है इसके आलावा कोई गंभीर पुरानी बीमारी जिसकी वजह से शुक्राणुओं की संख्या पर असर होता है की वजह से भी यह समस्या हो सकती है। अंडकोष या प्रोस्टेट का कैंसर, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और कोरोनरी आर्टरी डिजीज की वजह से भी स्पर्म काउंट कम हो सकता है।

 Low-Sperm-Count-Causes

(image source - freepik.com)

इसे भी पढ़ें : प्रायपिज्म के कारण लिंग में हो सकता है तनाव, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज के तरीके

3. कैंसर और इसके इलाज के कारण

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी न सिर्फ शरीर के किसी एक अंग को प्रभावित करती है बल्कि इसकी वजह से शरीर का स्वस्थ्य बुरी तरह से प्रभावित होता है। कैंसर की बीमारी की वजह से और इसके इलाज में इस्तेमाल होने वाली कीमोथेरेपी, सर्जरी आदि की वजह से शुक्राणुओं की संख्या कम हो सकती है।

4. हार्मोनल असंतुलन

शुक्राणुओं के उत्पादन में हॉर्मोन की भी भूमिका होती है, हॉर्मोन की कमी की वजह स्पर्म काउंट काफी कम हो सकता है।

इसे भी पढ़ें : क्यों कमजोर होती है पुरुषों की फर्टिलिटी? डॉक्टर से जानें इसके इलाज के लिए सभी जरूरी बातें

5. जीवनशैली से जुड़े कारण 

इसके आलावा जीवनशैली से जुड़े कई कारक भी इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं।

  • वैरिकोसिल के कारण।
  • अत्यधिक मात्रा में शराब का सेवन।
  • शारीरिक व्यायाम की कमी
  • नींद से जुड़ी समस्याओं के कारण।
  • बढ़ती उम्र की वजह से।
  • स्मोकिंग की वजह से।
  • क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम और सिस्टिक फाइब्रोसिस।

स्पर्म काउंट कम होने से बचने के उपाय (Low Sperm Count Prevention Tips)

जीवनशैली और खानपान से कई कारणों की वजह से पुरुषों की फर्टिलिटी प्रभावित हो सकती है। इसके पीछे कई आनुवंशिक और उम्र से जुड़े कारण भी प्रमुखता से जिम्मेदार माने जाते हैं। पुरुषों को पिता बनने के लिए उनके शुक्राणुओं में होने वाले बदलाव के बारे में जानकारी जरूर रखनी चाहिए। अगर आप एक साल या उससे अधिक समय से पिता बनने की कोशिश में नाकाम हो रहे हैं तो उसके पीछे स्पर्म काउंट की कमी भी एक प्रमुख वजह हो सकती है। पुरुषों को स्पर्म काउंट की कमी की समस्या से बचने के लिए स्वस्थ और संतुलित खानपान, नियमित रूप से व्यायाम और अधिक समस्या होने पर एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए।

(main image source - freepik.com)

Disclaimer