बड़े लोगों को बच्चों के जीवन से जरूर सीखनी चाहिए 6 बातें, जीवन में आएंगी बड़े काम

बच्चों को छोटा समझ कर हर बार इग्नोर करना सही नहीं। आपके बच्चे भी आपको कुछ लाइफ से संबंधित जरूरी बातें सिखा सकते हैं। 

Monika Agarwal
परवरिश के तरीकेWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 22, 2021Updated at: Aug 22, 2021
बड़े लोगों को बच्चों के जीवन से जरूर सीखनी चाहिए 6 बातें, जीवन में आएंगी बड़े काम

मां बाप बड़े हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि वह अपने बच्चे से कुछ नहीं सीख सकते। सिर्फ बच्चों को उपदेश दे सकते हैं और सबक सिखा सकते हैं। जबकि हकीकत यह है कि सीखने का कोई अंत नहीं। पूरा जीवन एक पाठशाला है। ऐसे में आपको कुछ भी सीखने का मौका चाहे बड़ों से मिले या छोटों से। अगर आपका बच्चा आपसे कुछ कह रहा है, या वह कुछ सुझाव भी दे रहा है तो सुनिए। उसकी बात को अनदेखा करना सही नहीं। उसको समझने की कोशिश कीजिए। क्या पता वह आप के भले के लिए ही हो। बच्चे की बात को सुनी अनसुनी कर आप खुद की ही सीखने की क्षमता को कम कर रहे हैं। तो आज हम आपको कुछ ऐसे सुझाव या सीख के बारे में बताने जा रहे हैं जो आप अपने बच्चों से ही सीख सकते हैं। 

Inside1lifelessonsforkids

Image Credit: Getty images

1. जो आप हैं उसे स्वीकार करना सीखें (Accept Yourself As You Are)

अगर आप बच्चे को कभी शीशा दिखाते हैं या उन्हें किसी मिरर के सामने खड़ा करते हैं तो वह हमेशा अपने आप को देख कर मुस्कुराता है। इससे पता चलता है कि बच्चे खुद को कितना अधिक पसंद करते हैं। लेकिन हम अगर हमारे चेहरे पर थोड़े से भी दाग धब्बे देखते हैं तो उन्हें देख कर उदास हो जाते हैं और हमारा सेल्फ कॉन्फिडेंस कम हो जाता है। आपको बच्चों की तरह ही हर स्थिति में खुद को स्वीकार करने की भावना रखनी चाहिए।

2. किसी तरह का बैर भाव न रखें (Don't Perceive Any Negativity)

बच्चों की शक्ल में ही हमें मासूमियत दिखती है और लगता है कि यह किसी के साथ कोई बैर या ईर्ष्या या जलन का भाव नहीं रखते हैं। हमें भी खुद को ऐसा ही बनाना चाहिए। अगर बच्चे हमारे अंदर किसी से द्वेष भाव देखते हैं तो वह भी हमसे यही सीखते हैं। इसलिए वह हमसे कुछ नेगेटिव सीखें इससे पहले हमें ही उनसे कुछ पॉजिटिव सीख ले लेनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दूसरों के घर जाने पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं? अपने बच्चों को जरूर सिखाएं ये 7 आदतें

3. अपनी भावनाओं को एक्सप्रेस करें ( Express Yourself)

चाहे गुस्सा हो या खुशी या उदासी, बच्चे अपनी भावनाओं को जताने में कभी भी संकोच नहीं करते हैं। यही एक और सीख है जो हमें बच्चों से लेनी चाहिए। अगर हम अपनी भावनाओं को बाहर दिखाते हैं तो इससे हमारा मन भी हल्का हो जाता है और यह हमारी शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए लाभदायक भी हैं। अपनी भावनाओं को भी एक्सेप्ट करना सीखें।

4. खुश रहें (Be Happy)

जब हम बच्चों को देखते हैं तो उन्हें देख कर हम कभी कह नहीं सकते कि यह कभी उदास होते होंगे। अगर हम उन्हें डांट देते हैं या कभी कभार उन्हें उदास कर देते हैं तो उनकी यह उदासी भी कुछ ही क्षणों की होती है और वह थोड़ी देर बाद वापिस से वैसे ही खुशहाल हो जाते हैं। यह एक ऐसी सीख है जिसे हमें दुख सुख हर परिस्थिति में लागू कर सकते हैं। हमेशा हंसते रहने से और खुश रहने से जीवन की आधी परेशानियां तो अपने आप ही खत्म हो जाती हैं।

Inside2lifelessonsforkids

5. रिस्क लेना सीखें (Learn To Take Risk)

आपने अक्सर बच्चों को देखा होगा कि वह किसी चीज से नहीं डरते हैं। जब वह शुरू में चलना सीखते हैं तो वह गिरने से चोट लगेगी ऐसा भय मन में नहीं रखते हैं। जिंदगी को एडवेंचर बनाएं तभी इसे जीने में मजा आयेगा। हम जितना अधिक रिस्क लेंगे उतना ही अधिक हमें लाभ और हानि दोनों हो सकते हैं। लेकिन आप रिस्क किस चीज में ले रहे हैं इसका जरूर ध्यान रखें।

इसे भी पढ़ें : क्या ज्यादा प्यार-दुलार से सचमुच बिगड़ जाते हैं बच्चे? जानें मनोवैज्ञानिक की राय

6. बिना शर्त प्यार करना सीखें (Unconditional Love)

अगर बच्चे आपसे प्रेम करते हैं तो उनके प्रेम की कोई टर्म या कंडीशन नहीं होती। वह बिना आपसे कुछ अपेक्षा किए ही प्रेम की भावना रखते हैं। ऐसा ही आपको अपनी जिंदगी में भी करना चाहिए क्योंकि जहां भी आप प्यार के बदले में कुछ पाने की सोचेंगे तो वहां आपकी उम्मीदें कहीं न कहीं जरूर टूटेंगी। आपको दुख होगा इसलिए बच्चों की तरह ही बिना शर्त प्यार(अनकंडीशनल लव) दें (ऑफर करें)।

तो यह थी कुछ ऐसी सीखें जो बच्चे हमें सीखने के लिए प्रेरित करते हैं। बच्चे हमें देख कर बहुत प्रभावित होते हैं इसलिए उन्हें किसी गलत आदतों में न डालें और खुद को ही उनकी तरह बना लें। ताकि वह अपनी इन आदतों को जीवन भर अपना सकें।

Main image credit: Bankrate

Read more articles on Tips for Parents in Hindi

Disclaimer