क्या आपका बच्चा भी करता है बदतमीजी और खराब व्यवहार? जानें इसके 4 कारण और बचाव के उपाय

Kids Misbehaving Causes in Hindi: अक्सर बच्चे माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्यों बदतमीजी करते हैं, यहां जानें इसके 4 कारण।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Apr 25, 2022Updated at: Apr 25, 2022
क्या आपका बच्चा भी करता है बदतमीजी और खराब व्यवहार? जानें इसके 4 कारण और बचाव के उपाय

जैसे-जैसे बच्चे बड़े होते हैं उनके व्यवहार में बदलाव होना सामान्य है। लेकिन अक्सर देखा जाता है कि कुछ बच्चे माता-पिता के साथ खराब व्यवहार या बदतमीजी करते हैं। सिर्फ पेरेंट्स के साथ ही नहीं, कई बार वे परिवार के अन्य सदस्यों के साथ भी दुर्व्यवहार करने लगते हैं। चिड़चिड़ा व्यवहार, चिल्ला कर बात करना, बातों का ठीक से जवाब देना, माता-पिता की बातों में ध्यान न देना और उनमें रुचि न दिखाना, बच्चों के इस तरह के व्यवहार के चलते अक्सर पेरेंट्स काफी परेशान रहते हैं। उनके लिए कई बार यह समझना काफी मुश्किल हो जाता है कि आखिर उनका बच्चा ऐसा क्यों कर रहा है और वे उनसे कैसे निपटें (How to Deal with Child Misbehaving in Hindi)।

एक्सपर्ट्स की मानें तो बच्चों के इस तरह के खराब व्यवहार और बदतमीजी के लिए कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। अगर आपका बच्चा बदतमीजी कर रहा है तो उनके ऊपर चिल्लाने या उन्हें मारने पीटने से स्थिति और खराब हो सकती है। ऐसे में बेहतर है कि उनकी बदतमीजी के कारण को समझें और उसका समाधान ढूंढें। इस लेख में हम बच्चों के खराब व्यवहार या बदतमीजी के लिए 4 कारणों के बारे में बता रहे हैं (kids misbehaving causes in hindi)।

बच्चों के खराब व्यवहार और बदतमीजी के हो सकते हैं ये 4 कारण (kids misbehaving causes in hindi)

1.  पेरेंट्स का व्यवहार

यह बात सच है कि बच्चे जो कुछ भी देखते हैं वही सीखते भी हैं। अगर पेरेंट्स आपस में झगड़ते हैं या वे उदास हैं तो इसकी अधिक संभावना है कि आपका बच्चे पर भी उसका असर पड़े। इससे उनके व्यवहार में परिवर्तन होना बहुत सामान्य है। इसके अलावा कई बार आपसे नाराज होने पर भी आपका बच्चा खराब व्यवहार कर सकता है। ऐसे में कोशिश करें कि बच्चे के सामने झगड़े न करें, उन्हें डांटे या उन पर चिल्लाएं नहीं। उनके साथ बातचीत करें और उन्हें प्यार से समझाएं।

इसे भी पढें: दवा खाने में बच्‍चे करते हैं आनाकानी तो अपनाएं बच्‍चों को दवा देने के 5 आसान तरीके

2. टेलीविजन या वीडियो गेम

अक्सर देखा जाता है कि बच्चे टीवी पर चलने वाले शो या कुछ वीडियो गेम्स खेलने के बाद खराब व्यवहार करते हैं। अगर आप भी अपने बच्चे के साथ ऐसा देखते हैं तो ऐसा इसलिए है क्योंकि बच्चे अपने आस-पास हो रही चीजों के प्रति बहुत संवेदनशील होते हैं। वे अपने आसपास के लोगों या वातावरण से बुरी आदतों को बहुत आसानी से सीख लेते हैं। अपने टीवी देखने न रोकें, यह पहचानने की कोशिश करें कि किस शो के कारण उसके व्यवहार में बदलाव हुआ है और धीरे-धीरे उसे सझाएं।

3. अपनी भावनाओं को कंट्रोल नहीं कर पाते हैं

बच्चों में कई तरह की भावनाएं आती हैं, लेकिन उन्हें पहचानना बच्चों के लिए काफी मुश्किल होता है, जैसे कि कोई स्कूल टीचर आपके बच्चे के प्रति कठोर हो सकता है, जिससे वह दुखी हो सकता है। अगर आपका बच्चा स्कूल में या स्कूल से आने के बाद दुर्व्यवहार करता है, तो ऐसे में यह जानने की कोशिश करें कि आपको ऐसा क्यों कर रहा है, और उसकी मदद करें।

इसे भी पढें: लाड़-प्यार में बिगड़ गया आपका बच्चा? जानें ऐसे बच्चों को हैंडल करने के टिप्स

4. बच्चे में आत्मविश्वास की कमी

अक्सर कुछ माता-पिता अपने बच्चों की दूसरे बच्चों से तुलना करते हैं। साथ ही कई बार स्कूल में भी टीचर्स बच्चों की आपस में तुलना करते हैं। इस स्थिति में बच्चों में आत्मविश्वास कम होता है और वे खुद को दूसरे बच्चों से कम-ज्यादा आंकने लगते हैं। जिसका असर उनके व्यवहार में दिखाई देता है। इसलिए बच्चों की तुलना न करें, सभी बच्चों की अपनी अलग खासियत होती है। अगर बच्चे के साथ घर से बाहर या स्कूल में ऐसा व्यवहार होता है, तो उससे बातचीत करें और समाधान ढूंढें।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer