कायाकल्प योग करने के फायदे और तरीका

शरीर की ऊर्जा बढ़ाने और दिमाग को तेज करने के लिए कायाकल्प योग का नियमित अभ्यास बेहद फायदेमंद होता है, जानें इस योगाभ्यास को सही तरीके से कैसे करें?

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 28, 2021
कायाकल्प योग करने के फायदे और तरीका

शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ और फिट रहने के लिए योग का नियमित अभ्यास बेहद फायदेमंद होता है। योग का नियमित अभ्यास करने वाले लोग निरोगी और स्वस्थ रहते हैं।शरीर के लगभग सभी अंगों के लिए अलग-अलग योग की मुद्राएं और आसन हैं। जीवन में मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए कायाकल्प योग (Kayakalpa Yoga) का अभ्यास बेहद फायदेमंद होता है। यह योग शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाने का काम करता है। कायाकल्प योग के नियमित अभ्यास से शरीर का स्नायु तंत्र मजबूत होता है। शरीर की ऊर्जा बढ़ाने और दिमाग को तेज करने के लिए इस योग का नियमित अभ्यास उपयोगी माना जाता है। आइये जानते हैं कायाकल्प योग क्या है? इसका अभ्यास कैसे करते हैं? और इसके नियमित अभ्यास से शरीर को कौन से फायदे मिलते हैं। 

कायाकल्प योग क्या है? (What Kayakalpa Yoga is?)

kayakalpa-yoga

कायाकल्प योग शरीर के समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए प्रचलित है। कायाकल्प योग का अर्थ शरीर को अमरता की ओर ले जाना है। जीवन की ऊर्जा और शरीर को बेहतर बनाने वाले इस योग के नाम को संस्कृत के काया (Kaya) और कल्प (Kalpa) शब्द को जोड़कर बनाया गया है। कायाकल्प योग के अभ्यास से शरीर का तंत्र व्यवस्थित होता है और इसके साथ ही शारीरिक ऊर्जा को बढ़ाने में यह योग लाभदायक माना जाता है। योग के तमाम एक्सपर्ट यह मानते हैं कि कायाकल्प योग (Kayakalpa Yoga) का अभ्यास यौन ऊर्जा को आध्यात्मिक ऊर्जा में परिवर्तित करने के लिए ऋषियों, मुनियों द्वारा हजारों सालों से किया जाता रहा है। इस योगाभ्यास में मूलतः प्राणायाम के अलग-अलग विधाओं का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अभ्यास का मुख्य मकसद शरीर और मस्तिष्क को शांत और सहज बनाना है।

इसे भी पढ़ें : शरीर को फ्लेक्सिबल और मजबूत बनाना है तो रोज करें 'हॉर्स पोज' अभ्यास, जानें इसके 5 फायदे

कायाकल्प योग करने का तरीका (How to Do Kayakalpa Yoga?)

how-to-do-kayakalpa-yoga

इस योग में मूलतः प्राणायाम और सांस लेने के अलग-अलग तरीकों को शामिल किया गया है। कायाकल्प योग का अभ्यास करने का तरीका इस प्रकार है।

  • - आराम की स्थिति में बैठकर इस योग का अभ्यास किया जाता है।
  • - इस योग में सांस लेने तरीके पर विशेष ध्यान दिया जाता है।
  • - आराम की मुद्रा में बैठक नाक से धीरे-धीरे सांस लेते हैं और उसे मुहं के द्वारा तेजी से वापस छोड़ते हैं।
  • - इसके बाद दूसरी मुद्रा में एक नाक को बंद करके सांस को अंदर की तरफ खींचा जाता है और फिर उसे वापस छोड़ते हैं।
  • - एक नाक से सांस लेने के तरीके को भ्रस्त्रिका प्राणायाम भी कहा जाता है।
  • - इस योग विधा में सांस लेने के योग के अलावा कई तरह की उपचार विधियां और मालिश आदि शामिल हैं।
  • - कायाकल्प योग का पूरा अभ्यास आपको किसी एक्सपर्ट की देखरेख में ही करना चाहिए।

कायाकल्प योग के फायदे (Benefits of Kayakalpa Yoga)

कायाकल्प योग का अभ्यास दिमाग को शांत और तेज करने के साथ शरीर की ऊर्जा को बढ़ाने का काम करता है। इस योगाभ्यास का मकसद शरीर को पूरी तरह से नया करना है। इसमें शरीर पर बढ़ती उम्र के प्रभावों को भी कम करने पर ध्यान दिया गया है। कायाकल्प योग के नियमित अभ्यास से होने वाले फायदे इस प्रकार से हैं।

  • - कायाकल्प उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करने में फायदेमंद माना जाता है।
  • - इस योग का नियमित अभ्यास शरीर पर उम्र के प्रभाव को भी कम करने में उपयोगी है।
  • - इसके नियमित अभ्यास से शरीर की इम्यूनिटी बढ़ती है और इससे संक्रमण और बीमारियों से मुक्ति मिलती है।
  • - वंशानुगत समस्याओं के दुष्प्रभावों को कम करने में फायदेमंद माना जाता है।
  • - महिलाओं के प्रजनन प्रणाली के लिए फायदेमंद माना जाता है।
  • - महिलाओं में मासिक धर्म से जुड़ी दिक्कतों को कम करने में फायदेमंद होता है।

हमें उम्मीद है कि कायाकल्प योग को लेकर दी गयी यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी। कायाकल्प योग का अभ्यास किसी गुरु के देखरेख और मार्गदर्शन में किया जाता है। योगाभ्यास के अलावा इस योग के दौरान कई तरह की थेरेपी और हर्बल चिकित्सा का भी प्रयोग किया जाता है। अगर आपके पास कायाकल्प योग को लेकर कोई सवाल है तो उसे आप कमेंट बॉक्स में लिखकर हम तक भेज सकते हैं, हम आपके सवाल का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Read more Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer