एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा से जानें चमत्कारासन के फायदे और करने का सही तरीका

एक्ट्रेस मलाइका अरोरा अपनी फिटनेस को लेकर बेहद एक्टिव रहती हैं, उन्होनें इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिये चमत्कारासन के फायदे और तरीके के बारे में बताया है।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 26, 2021Updated at: May 26, 2021
एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा से जानें चमत्कारासन के फायदे और करने का सही तरीका

मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए योग का नियमित अभ्यास बेहद फायदेमंद होता है। दिमाग और शरीर दोनों को संतुलित और फिट रखने के लिए लोग अनेकों योगासनों का अभ्यास करते हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री मलाइका अरोड़ा भी खुद को फिट और स्वस्थ रखने के लिए योगासनों का सहारा लेती हैं। उन्होनें हाल ही में योगासन का अभ्यास करते हुए एक फोटो अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर की है। इस इंटाग्राम पोस्ट में एक्ट्रेस मलाइका अरोरा ने चमत्कारासन (Camatkarasana) जिसे अंग्रेजी में Wild Thing Pose कहते हैं, को लेकर जानकारी दी है। आइये एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा से जानते हैं इस आसन के फायदे और करने के तरीके के बारे में।

चमत्कारासन या वाइल्ड थिंग पोज (Camatkarasana or Wild Thing Pose)

चमत्कारासन, बैकबेंड योग पोज का एक हिस्सा है जिसमें संतुलन और ताकत को साधने का काम किया जाता है। इस आसन का नाम संस्कृत के शब्द 'चमत्कार' से बना है। यह आसन फेफड़े, छाती और कंधों के लिए बेहद फायदेमंद होता है और इसके साथ ही इसके नियमित अभ्यास से मानसिक समस्याओं में भी फायदा मिलता है।

चमत्कारासन कैसे करें? (How to Do Camatkarasana?)

how-to-do-camatkarasana

मलाइका अरोड़ा ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट में चमत्कारासन के करने के तरीके के बारे में बताया है। उन्होनें अपने पोस्ट में लिखा, "सभी को नमस्ते! मुझे उम्मीद है कि आप सब ठीक होंगे और अपनी सेहत का अच्छी तरह से ध्यान रख रहे होंगे। इस हफ्ते का #MalaikasMoveOfTheWeek चमत्कारासन (वाइल्ड थिंग पोज़) है। यह आसन छाती, कंधों और कूल्हों को फैलाने और खोलने का काम करता है, इसके साथ ही इसका अभ्यास बाहों को मजबूती देता है। चमत्कारासन शरीर और दिमाग को ऊर्जा देने के लिए बहुत अच्छा है, इसके नियमित अभ्यास से आत्मविश्वास में भी सुधार होता है।" इसके बाद उन्होनें चमत्कारासन का अभ्यास कैसे करें उसके बारे में बताया है, आइये जानते हैं इसका अभ्यास करने के तरीके के बारे में।

इसे भी पढ़ें : जानें क्या है Yoga Block या Yoga Brick और कैसे करते हैं योगासन में इनका इस्तेमाल

1. मलाइका अरोड़ा के मुताबिक चमत्कारासन का अभ्यास करने के लिए सबसे पहले अधोमुख शवासन (डाउनवर्ड-फेसिंग डॉग पोज) में आएं, इसके बाद अपने बाएं पैर को उठाते हुए कूल्हों को फैलाएं और बाएं पैर के घुटने को मोड़ दें।

2. कूल्हों को खोलते हुए दाहिने पैर पर जोर दें और अपने पैरों की उंगलियों को पीछे की तरफ लें जाएं।

3. पुनः बैकबेंड की पोजीशन में वापस आएं।

4. अपने बाएं पैर को दाहिने पैर के आगे बाहर की तरफ लाएं।

इसे भी पढ़ें : वृश्चिकासन करने के फायदे और तरीका

5. दाहिने हाथ को ऊपर की तरफ उठाते हुए सामने की तरफ लेकर जाएं।

6. इस स्थिति में कुछ देर रहने की कोशिश करें।

7. इसके बाद वापस पहले की स्थिति में आकर इसका अभ्यास दूसरे पैर से करें।

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Malaika Arora (@malaikaaroraofficial)

चमत्कारासन करने के फायदे (Camarkarasana Health Benefits)

camatkarasana-health-benefits

वाइल्ड थिंग पोज या चमत्कारासन के फायदों में बारे में भी एक्ट्रेस मलाइका अरोड़ा ने अपने इंटाग्राम पोस्ट में लिखा है। उन्होनें इसके फायदे के बारे में लिखते हुए कहा कि, "इस आसन के नियमित अभ्यास से छाती, कंधे और फेफड़ों के साथ ही कूल्हों को फैलाने और खोलने में फायदा मिलता है। यह आसन हाथों को मजबूत बनाने में भी फायदेमंद होता है। इस आसन का अभ्यास शरीर और दिमाग को सक्रिय रखने और आत्मविश्वास को बढ़ाने का काम करता है।" चमत्कारासन के नियमित अभ्यास से होने वाले कुछ प्रमुख फायदे इस प्रकार हैं।

इसे भी पढ़ें : इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर ये 6 फायदे पहुंचाता है सूर्यभेदी प्राणायाम, जानें विधि और सावधानियां

  • - छाती, कंधे और फेफड़ों के डायफ्राम के लिए फायदेमंद।
  • - सांस को संतुलित रखने में उपयोगी।
  • - आलस और अवसाद में फायदेमंद।
  • - कूल्हे और पैर की मांसपेशियों के लिए फायदेमंद।
  • - शरीर के लचीलेपन को बनाये रखने का काम करता है।
  • - दिमाग और शरीर के संतुलन में उपयोगी।
  • - हाथों को मजबूती देता है।

हमें उम्मीद है कि चमत्कारासन को लेकर दी गयी यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी। चमत्कारासन का नियमित अभ्यास बेहद फायदेमंद होता है लकिन इसका अभ्यास शुरुआत में किसी प्रशिक्षक या एक्सपर्ट की देखरेख में ही किया जाना चाहिए। हड्डियों से जुड़ी किसी समस्या या गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को इसका अभ्यास करने से पहले अपने चिकित्सक की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Read more Articles on Yoga in Hindi

Disclaimer