कितना सुरक्षित है प्रेगनेंसी में नूडल्स खाना? एक्सपर्ट से जानें

गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत सी चीजें असुरक्षित होती हैं जो उन्हें अवॉइड करनी चाहिए। आज जानते हैं इंस्टेंट नूडल्स इस दौरान कितना सुरक्षित है।

Monika Agarwal
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jun 27, 2021Updated at: Jun 27, 2021
कितना सुरक्षित है प्रेगनेंसी में नूडल्स खाना? एक्सपर्ट से जानें

प्रेग्नेंसी के नौ महीने बेहद संवेदनशील होते हैं। इस दौरान गर्भस्थ शिशु का ध्यान रखते हुए ही डाइट और तमाम स्वास्थ्य स्थितियों का ख्याल रखना होता है। अगर डाइट की बात करें तो, पहली तिमाही लगभग 350 कैलोरी और दूसरी तिमाही लगभग 450 कैलोरी अधिक लेना जरूरी होता है। लेकिन अधिक खाने का मतलब यह नहीं है कि आप कुछ भी खा सकती हैं। कुछ खाद्य पदार्थ जैसे कि अल्कोहल, कैफीन, जंक फूड आदि का कम ही सेवन करना चाहिए। ये आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक भी हो सकते हैं। लेकिन गर्भावस्था में नूडल्स (Noodles) खाना सुरक्षित है या नहीं, अगर आप भी इस बात को लेकर भ्रम में हैं तो आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी में नूडल्स खाने को लेकर क्या कहते हैं एक्सपर्ट। 

inside2noodlesinpregnancy

कितना सुरक्षित है प्रेगनेंसी में नूडल्स खाना?

डॉक्टर रंजना बेकन, गायनोकोलॉजिस्ट, कोलंबिया एशिया अस्पताल, के मुताबिक प्रेग्नेंसी के दौरान नूडल्स (Noodles) खाना आपके लिए एक बेस्ट चॉइस नहीं है। इसका सबसे पहला कारण है कि नूडल्स में कोई भी पौष्टिक तत्त्व नहीं होता यह केवल कुछ देर के लिए आपकी भूख शांत कर सकते हैं। इनमें टर्शरी ब्यूटाइलहाइड्रोक्विनोन नाम का एक प्रिजर्वेटिव होता है, जो काफी हानिकारक कैमिकल है। यह हानिकारक केमिकल अधिकांश स्नैक्स आइटम्स और बहुत से फ्रोजन फूड्स आदि में भी प्रयोग किया जाता है। यह केमिकल ब्यूटी प्रोडक्ट, पेंट और कीटनाशकों में भी इस्तेमाल होता है। इसलिए इस केमिकल को खाने से गर्भस्थ शिशु के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ता है।  

इसे भी पढ़ें : प्रेगनेंसी से डिलीवरी के 5 महीने बाद तक हार्ट फेल्योर का कारण बनता है 'पोस्टपार्टम कार्डियोमायोपैथी'

क्यों हैं नूडल्स आपके लिए हानिकारक (Noodles Are Harmful)

मैदा : मैदे में कोई भी पौष्टिक तत्त्व नहीं होता है और यह आपके शरीर के लिए पचा पाना भी थोड़ा मुश्किल होता है। यह लंबे समय तक आपके पाचन तंत्र में रहता है और इसमें फाइबर की मात्रा भी कम होती है और इससे आपको प्रेग्नेंसी में कब्ज होने का भी खतरा होता है।

प्रिजर्वेटिव : इंस्टेंट नूडल्स (Noodles) में आर्टिफिशियल कलर होता है जोकि नूडल्स को अधिक समय तक प्रयोग करने के लायक बनाता है। लेकिन अगर आप इसका प्रयोग करती हैं तो इससे आपके बच्चे के विकास पर फर्क पड़ सकता है।

ट्रांस फैट : यह बहुत से फास्ट फूड में पाया जाता हैं और इसका सेवन करने से आपके शरीर में अधिक कैलोरीज़ इकठ्ठी हो जाती हैं जोकि प्रेग्नेंसी के दौरान आपके लिए सुरक्षित नहीं है। इसलिए नूडल्स (Noodles) को इस अवस्था में अधिक न खाएं और जितना हो सके उतना अवॉइड करें।

नमक : नूडल्स (Noodles) में बहुत अधिक मात्रा में नमक होता है जो प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अधिक नहीं खाना चाहिए। अगर आप इस दौरान अधिक नमक का सेवन करती हैं तो आपको लंबे समय तक हाई बीपी की समस्या हो सकती है। इसलिए इसे न खाएं।

एमएसजी : मोनो सोडियम ग्लूटा मेट नूडल्स (Noodles) में एक तत्त्व होता है जो उनके स्वाद को बढ़ाता है। इसका कम मात्रा में सेवन करना आपके लिए हानिकारक नहीं होता लेकिन अगर आप अधिक मात्रा में सेवन करती हैं तो इससे बच्चे का रिस्क बढ़ जाता है। 

inside1boiledveges

इसे भी पढ़ें : गर्भवती महिलाएं कैसे उठा सकती हैं 'जननी सुरक्षा योजना' का लाभ? जानें इस योजना में मिलने वाले फायदे

नूडल्स को किस प्रकार हेल्दी बनाएं? (How to Eat Healthy Noodles)

अगर आपको प्रेगनेंसी के दौरान नूडल्स (Noodles) खाने की बहुत इच्छा हो रही है तो आप हफ्ते में एक बार नूडल्स ले सकती हैं और इन्हें हेल्दी बनाने के लिए इनमें बहुत सारी उबली हुई सब्जियां शामिल कर लें, ताकि आपको कम हानि पहुंचे और नमक भी केवल थोड़ा सा ही डालें।

नूडल्स के हेल्दी विकल्प(Healthy Options of Noodles)

अगर आपको नूडल्स (Noodles) की क्रेविंग हो रही है लेकिन आप अपने लिए  रिस्क नहीं  बढ़ाना चाहती हैं तो आप इसकी बजाय ओटमील का प्रयोग कर सकती हैं। यह एक हेल्दी ऑप्शन भी है और इसको आप कई तरह से बना कर खा सकती हैं। यहां तक कि आप ओटमील की स्मूदी भी बना कर पी सकती हैं।

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको न केवल नूडल्स (Noodles) बल्कि सभी तरह का जंक और प्रोसेस्ड फूड पूरी तरह बंद कर देना चाहिए। लेकिन अगर आपको बहुत मन हो रहा है तो आप इनके हेल्दी विकल्प चुन सकती हैं या उन्हें सब्जियों के साथ बना कर हेल्दी तरह से खा सकती हैं।

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer