आंतों में इंफेक्शन के क्या होते हैं कारण? जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

पेट में तेज दर्द और उल्टी होना आंत में इंफेक्शन की निशानी हो सकती है। चलिए इस समस्या के बारे में जानते हैं विस्तार से

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Sep 15, 2021 16:50 IST
आंतों में इंफेक्शन के क्या होते हैं कारण? जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

आंत हमारे शरीर का मुख्य हिस्सा होता है। खाने को पचाने में आंत की मुख्य भूमिका होती है। अगर इसमें किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न हो जाए, तो हमें कई तरह की परेशानी हो सकती है। इसलिए आंतों की देखभाल बहुत ही जरूरी है। हालंकि, इन दिनों गलत खानपान और बढ़ते प्रदूषण की वजह से लोगों को आंत से जुड़ी कई परेशानियां हो रही हैं। इन्हीं परेशानियों में से एक है आंत का इंफेक्शन। आंत में इंफेक्शन होने की मुख्य वजह गलत और दूषित खानपान होता है। 

दिल्ली के मनीपाल हॉस्पिटल के गैस्ट्रोलॉजिस्ट डॉक्टर कुणाल दास बताते हैं कि पेट या फिर आंत में इंफेक्शन होने की मुख्य वजह आपका खानपान होता है। अगर आप किसी भी तरह के दूषित खानपान का सेवन करते हैं, तो आपके आंत और पेट में इंफेक्शन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। खासतौर पर बरसात के दिनों में वायरस और बैक्टीरिया पनपने का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसी स्थिति में इन दिनों खानपान की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आपकी जरा सी भी लापरवाही आपके आंत को प्रभावित कर सकती है। आंत में इंफेक्शन होने से पेट में काफी तेज दर्द हो सकता है। इस स्थिति में मरीज के पेट के ऊपरी हिस्से में मरोड़ जैसा फील होता है, जिसके कारण उन्हें अन्य कार्य करने में परेशानी हो सकती है। इसलिए अगर आपको आंत में या पेट में किसी भी तरह की परेशानी महसूस हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। चलिए जानते हैं आंत में इंफेक्शन के बारे में विस्तार से-

आंत में इंफेक्शन के लक्षण (Symptoms of Intestine)

आंत में इंफेक्शन की समस्या को ठीक होने में करीब 15 से 16 दिन का वक्त लग सकता है। हालांकि, इसके लक्षण आपको कुछ ही दिनों में दिखने बंद हो सकते हैं। जो इस तरह हैं-

इसे भी पढ़ें - त्वचा पर धब्बे जैसे निशान हो सकते हैं 'टीनिया वर्सीकलर' इंफेक्शन का संकेत, जानें इसके कारण, लक्षण और इलाज

  • मतली और उल्टी जैसा अनुभव होना
  • मांसपेशियों में दर्द होना।
  • पेट दर्द होना।
  • पेट में ऐंठन होना।
  • कमजोरी महसूस होना।
  • डिहाइड्रेशन होना।
  • वजन का कम होना।
  • सिर दर्द होना।
  • थकान महसूस होना।
  • कुछ लोगों को बुखार भी हो सकता है।
  • मल से ब्लड या पस निकलना (यह लक्षण कुछ ही मामलों में दिखते हैं।)

आंत में इंफेक्शन के कारण (Causes of Intestine)

आंत में इंफेक्शन होने की मुख्य वजह रोटावायरस, एस्चेरिचिया कोलाई (Escherichia coli) और कैम्पिलोबैक्टर (Campylobacter) वायरस और बैक्टीरिया की वजह से हो सकता है। इसके अलावा कुछ गैर-संक्रामक वजहों की वजह से भी आंत में इंफेक्शन हो सकता है। लेकिन वायरल और बैक्टीरियल वजहों से आंत में इंफेक्शन मुख्य रूप से होता है। 

दूषित पानी या फिर भोजन के सेवन से वायरल एन्टराइटिस की समस्या हो सकती है। इसके अलावा अगर आप अपने बर्तन, तौलिया या फिर खाना किसी संक्रमित व्यक्ति से शेयर करते हैं, तो आपको वायरल गैस्ट्रोएन्टराइटिस की समस्या हो सकती है। वायरल आंत में इंफेक्शन मुख्य रूप से नोरोवायरस (Norovirus) और रोटावायरस (Rotavirus) की वजह से होता है। 

वहीं, बैक्टीरियल गैस्ट्रोएन्टराइटिस किसी भी व्यक्ति को तब होता है, जब वह दूषित बैक्टीरिया का सेवन करता है। उदाहरण के लिए गुड बैक्टीरिया युक्त भोजन जब कई घंटों तक फ्रिज में रखा रहता है, तो वह दूषित हो सकता है। ऐसे में इसमें खराब बैक्टीरिया की संख्या बढ़ जाती है। इस स्थिति में इस आहार को खाने वाला व्यक्ति दूषित हो सकता है। कच्चा या अधपका मांस,  समुद्री भोजन, अंकुरित अनाज इत्यादि खाद्य पदार्थों की वजह से बैक्टीरिया इंफेक्शन होने का खतरा रहता है। 

इसे भी पढ़ें - क्या कम उम्र में ही झड़ने लगे हैं आपके बाल? डॉक्टर से जानें इसके 9 कारण

आंत में इंफेक्शन का निदान (Diagnosis of Intestine)

आंत में इंफेक्शन के लक्षण महसूस होने पर जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं, तो वह सबसे पहले आपके पेट की जांच करते हैं। इसके बाद आपसे कुछ सवाल कर सकते हैं। अगर उन्हें आंत में इंफेक्शन होने की आंशका होती है, तो वह आपसे कुछ टेस्ट करवाने की सलाह दे सकते हैं। जैसे-

  • अल्ट्रा-साउंड
  • ब्लड टेस्ट
  • टूल टेस्ट

आंत में इंफेक्शन का इलाज (Treatment of Intestine)

आंत में इंफेक्शन की समस्या होने पर अगर आपके पेट में काफी ज्यादा दर्द होता है, तो इस स्थिति में डॉक्टर आपको सबसे पहले दर्द को कम करने की दवा या इंजेक्शन दे सकते हैं। वहीं, इसके बाद आपको इसके अन्य लक्षणों को कम करने के लिए कुछ दवाइयां दी जाती है। अगर आपकी परेशानी ज्यादा बढ़ गई है, तो इस स्थिति में आपका इलाज 10 से 15 दिनों तक चल सकता है। हालांकि, दवाई लेने के 2 से 3 दिनों में आपके लक्षण कम हो जाते हैं। 

आंत में इंफेक्शन होने पर किन चीजों से करें परहेज

  • आंत में या पेट में इंफेक्शन होने पर डेयरी उत्पादों का सेवन बिल्कुल न करेँ। क्योंकि इसमें लैक्टोज की अधिकता होती है, जिसे पचाने में परेशानी होती है। ऐसी स्थिति में डेयरी से युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना बेहतर होता है। 
  • आंत को सुरक्षित रखने के लिए चिकनाई वाले और वसायुक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। क्योंकि चिकनाई और गर्म चीजें आपकी पाचनशक्ति को खराब कर सकता है। जिसके कारण आंत की परेशानी काफी ज्यादा बढ़ सकती है। इसलिए मिर्च मसाले, लहसुन, प्याज, गर्म मसाले इत्यादि चीजों से दूर रहने की कोशिश करें। 
  • चीनी युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें। चीनी के सेवन से ब्लड में शर्करा का उत्पादन बढ़ता है, जिससे मतली की समस्या बढ़ सकती है।
  • अधिक फाइबर युक्त पदार्थों के सेवन से इस दौरान बचना चाहिए। दरअसल, फाइबर को पचाने में वक्त लगता है, जो आंत में इंफेक्शन की परेशानी को बढ़ा सकती है।
  • शराब या धूम्रपान के सेवन से भी आपको बचना चाहिए।

आंत में इंफेक्शन होने पर किन चीजों का करें सेवन

आंत में इंफेक्शन की समस्या होने पर डॉक्टर आपको हल्के-फुल्के आहार खाने की सलाह दे सकते हैं, जिसे पचाने में काफी आसानी होती है। साथ ही आपका आंत हेल्दी रह सके। ये खाद्य पदार्थ निम्न हो सकते हैं-

  • दाल-चावल
  • खिचड़ी
  • नारियल पानी
  • उबली सब्जियां
  • फल और सलाद
  • दलिया।
  • फलों के जूस इत्यादि। 

आंत में इंफेक्शन के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ताकि आपका सही समय पर इलाज किया जा सके। साथ ही डॉक्टर द्वारा बताए गए टिप्स को फॉलों करें। आंत में इंफेक्शन होने पर अधिक से अधिक पानी पिएं। अपने आहार में दाल-चावल और खिचड़ी का सेवन करें। इस दौरान हैवी आहार लेने से बचें। ताकि आपकी परेशानी को जल्द से जल्द कंट्रोल किया जा सके।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer