क्या एक के बजाय दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करने से मिलता है सही रिजल्ट? एक्सपर्ट से जानें

अगर आपके दोनों हाथों की ब्लड प्रेशर रीडिंग में 10 मिमी एचजी से अधिक का अंतर आता है तो यह गंभीर समस्या हो सकती है, एक्सपर्ट से जानें कारण।

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 16, 2021Updated at: Jul 16, 2021
क्या एक के बजाय दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करने से मिलता है सही रिजल्ट? एक्सपर्ट से जानें

शरीर को स्वस्थ और सही तरीके से काम करने के लिए खून की आवश्यकता होती है। हमारे शरीर में हृदय के माध्यम से सभी अंगों तक ब्लड का सर्कुलेशन होता है। ब्लड सर्कुलेशन में दिक्कत आने पर ब्लड प्रेशर से जुड़ी समस्याएं होती हैं। दुनियाभर में हाई ब्लड प्रेशर (हाइपरटेंशन) और लो ब्लड प्रेशर की समस्या से लाखों लोग ग्रसित हैं। हाई ब्लड प्रेशर की वजह से लोगों की मौत भी हो सकती है। शरीर में ब्लड सर्कुलेशन की स्थिति जानने के लिए ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) की जांच की जाती है। जो लोग ब्लड प्रेशर से जुड़ी समस्याओं से ग्रसित हैं वो रोजाना अपने शरीर का ब्लड प्रेशर चेक करते हैं। लेकिन हाल में हुई एक रिसर्च की मानें तो सिर्फ एक हाथ में ब्लड प्रेशर चेक करना आपके लिए महंगा पड़ सकता है। अगर आपके बाएं और दाहिने हाथ की ब्लड प्रेशर की रीडिंग अलग-अलग है तो इसकी वजह से आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। कुछ लोगों का मानना है कि दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करना जरूरी होता है। क्या एक के बजाय दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करने से मिलता है सही रिजल्ट? क्या दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करना है जरूरी? इस मुद्दे को लेकर हमने हैदराबाद स्थित अपोलो हॉस्पिटल के डॉ सी वेंकट राम से जानकारी ली, आइये जानते हैं इस मुद्दे को लेकर उन्होनें क्या बातें साझा की।

क्यों जरूरी है दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर चेक करना? (Why is it Important to Check Your Blood Pressure in Both Arms?)

Importance-of-Checking-Blood-Pressure-from-Both-Arms

आमतौर पर ब्लड प्रेशर की जांच करने के लिए हम बाएं हाथ का ब्लड प्रेशर चेक करते हैं। लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि ब्लड प्रेशर की जांच दोनों हाथों में की जानी चहिये। कुछ लोगों में दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की रीडिंग अलग-अलग हो सकती है। दोनों हाथों की रीडिंग अलग होना दिल और रक्तचाप से जुड़ी कई समस्याओं का संकेत होता है। हालांकि अगर आपके दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर के बीच मामूली अंतर है तो घबराने की बात नहीं है।

इसे भी पढ़ें : World Hypertension Day: ब्लड प्रेशर बढ़ने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 संकेत, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी

दोनों हाथों में अगर ब्लड प्रेशर की जांच के बाद 10 मिलीमीटर (mm Hg) से कम का अंतर है तो इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। लेकिन इसका अंतर अधिक होने पर ये रीडिंग शरीर में दिल से जुड़ी कई बीमारियों का संकेत है। इसकी वजह से इंसान को दिल और बीपी से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपके दोनों हाथों की ब्लड प्रेशर रीडिंग में 10 मिलीमीटर (mm Hg) से अधिक का अंतर है तो इसका मतलब ये हो सकता है कि आपके शरीर में पेरिफरल वैस्कुलर डिजीज, स्ट्रोक और सेरेब्रोवास्कुलर डिजीज की संभावना है। जो व्यक्ति बीपी से जुड़ी बीमारियों से पीड़ित हैं उन्हें दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की जांच करानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : ब्‍लड प्रेशर, मोटापा, कमजोर नजर जैसी कई समस्याओं को ठीक करते हैं अरबी के पत्‍ते, जानें इसके 8 फायदे

Importance-of-Checking-Blood-Pressure-from-Both-Arms

कितना होना चाहिए ब्लड प्रेशर का स्तर? (What is Normal Blood Pressure Range?)

आज के समय में औसतन 5 में से 1 व्यक्ति ब्लड प्रेशर की समस्या से ग्रसित है। शरीर में ब्लड प्रेशर हाई होने पर कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण दिखने पर व्यक्ति को तुरंत चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। अगर आपको ब्लड प्रेशर का स्तर चेक करना है तो इसके लिए आप मशीन के सहायता से अपने शरीर का ब्लड प्रेशर नाप सकते हैं। आदर्श रूप से सामान्य और स्वस्थ व्यक्ति के शरीर का ब्लड प्रेशर 120/80 मिमी एचजी (mm Hg) माना जाता है। अगर आपका ब्लड प्रेशर 130/80 मिमी एचजी या 140/90 मिमी एचजी ज्यादा है तो आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है। सामान्य से कम रीडिंग आने पर व्यक्ति को लो ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है।

ब्लड प्रेशर नापने का सही तरीका? (How To Take Blood Pressure Correctly?)

ब्लड प्रेशर की जांच करने से पहले आपको यह जानना बेहद जरूरी है कि इसकी जांच सही तरीके से कैसे की जाती है? अगर आप अपना ब्लड प्रेशर चेक करने जा रहे हैं तो इन बातों को ध्यान में जरूर रखें।  

  • रीडिंग लेने से 2 घंटे पहले तक भरपेट भोजन न करें। 
  • ब्लड प्रेशर की जांच से पहले अपना ब्लैडर खाली करें। 
  • ब्लड प्रेशर की जांच के दौरान बातें न करें और आराम से बैठें। 
  • दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की जांच करें। 
  • कपड़ों के ऊपर से ब्लड प्रेशर की जांच न करें। 
Importance-of-Checking-Blood-Pressure-from-Both-Arms

हालांकि ब्लड प्रेशर की जांच में मामूली अंतर आने पर चिकित्सक इसे सामान्य घटना मानते हैं लेकिन अगर आपके दोनों हाथों के ब्लड प्रेशर की रीडिंग में लगातार काफी अंतर आ रहा है तो आपको सचेत हो जाना चाहिए। यह अंतर शरीर में दिल और हृदय से जुड़ी कई बीमारियों का संकेत हो सकता है। ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रसित लोगों को समय-समय पर अपने दोनों हाथों का ब्लड प्रेशर जरूर चेक कराना चाहिए।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer