World Hypertension Day: ब्लड प्रेशर बढ़ने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 संकेत, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी

हाई ब्लड प्रेशर एक गंभीर बीमारी है, जिसका खतरा युवाओं में तेजी से बढ़ रहा है। उच्च रक्तचाप की मुख्‍य वजह खराब जीवनशैली भी है।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Mar 23, 2019
World Hypertension Day: ब्लड प्रेशर बढ़ने पर शरीर में दिखते हैं ये 7 संकेत, नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी

ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) का बढ़ना खतरनाक होता है। हाई ब्लड प्रेशर को हाइपरटेंशन (Hypertension) या उच्च रक्तचाप भी कहते हैं। आजकल हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ी है। इसका कारण यह है कि लोगों की लाइफ स्टाइल में जिस तरह के परिवर्तन आ रहे हैं, वो इंसान के शरीर के अनुकूल नहीं हैं। खानपान में हानिकारक रसायनों और वसा का प्रयोग, देर रात तक जागना, सिगरेट और शराब का सेवन करना आदि सभी गलत आदतें शरीर में ब्लड प्रेशर बढ़ने का कारण बनती हैं।

हाई ब्लड प्रेशर स्वयं में खतरनाक है और ये कई अन्य बीमारियों का भी कारण बनता है। हाई ब्लड प्रेशर के कारण सबसे ज्यादा खतरा दिल की बीमारी का होता है। हार्ट अटैक, हार्ट फेल्योर और कार्डियक अरेस्ट जैसी कई बीमारियां हाई ब्लड प्रेशर के कारण हो सकती हैं। इसके अलावा ब्रेन स्ट्रोक और किडनी फेल्योर भी हाई ब्लड प्रेशर के कारण हो सकते हैं। शुरुआती अवस्था में हाई ब्लड प्रेशर के संकेत बहुत सामान्य दिखते हैं इसलिए लोग इसे नजरअंदाज कर देते हैं। हम आपको बता रहे हैं हाई ब्लड प्रेशर के ऐसे 7 सामान्य संकेत, जिन्हें आपको नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

उच्‍च रक्‍तचाप के शुरुआती लक्षण: Early Signs Of High Blood Pressure

उच्‍च रक्‍तचाप के प्रारंभिक लक्षण में संबंधित व्‍यक्ति के सिर के पीछे और गर्दन में दर्द रहने लगता है। कई बार इस तरह की परेशानी को वह नजरअंदाज कर जाता है, जो आगे चलकर गंभीर समस्‍या बन जाती है।

1. तनाव होना

यदि आप खुद को ज्‍यादा तनाव में महसूस कर रहे हैं, तो यह उच्‍च रक्‍तचाप का संकेत हो सकता है। ऐसे में व्‍यक्ति को छोटी-छोटी बातों पर गुस्‍सा आने लगता है। कई बार वह सही-गलत की भी पहचान भी नहीं कर पाता। किसी भी समस्‍या से बचने के लिए जरूरी है कि आप जांच करा लें।

इसे भी पढ़ें: दिन में एक मिनट की इन 5 एक्सरसाइज से नहीं होगी दिल की बीमारी

2. सिर चकराना

उच्‍च रक्‍तचाप के लक्षणों में सिर चकराना भी आम है। कई बार शरीर में कमजोरी के कारण भी सिर चकराने की परेशानी हो सकती है। ऐसे कोई लक्षण दिखाई दें, तो पहले अपने डॉक्‍टर से परामर्श कर लें।

3. थकावट होना

यदि आपको थोड़ा काम करने पर थकान महसूस होती है या जरा सा तेज चलने पर परेशानी होती है या फिर आप स‍ीढि़यां चढ़ने में काफी थक जाते हैं, तब भी आप उच्‍च रक्‍तचाप से ग्रस्‍त हो सकते हैं।

4. नाक से खून आना

सांस न आना, लंबी सांस आना या सांस लेने में परेशानी होने पर एक बार अपने चिकित्‍सक से संपर्क करें। ऐसे में व्‍यक्ति के उच्‍च रक्‍तचाप से ग्रस्‍त होने की प्रबल आशंका होती है। साथ ही यदि नाक से खून आए, तब भी आपको जांच करानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें:- साइलेंट हार्ट अटैक में नहीं दिखते गंभीर लक्षण, 8 सामान्य दिखने वाले संकेतों को न करें नजरअंदाज

5. नींद न आना

आमतौर पर उच्‍च रक्‍तचाप के रोगियों के साथ यह समस्‍या होती है कि उन्‍हें रात में नींद आने में परेशानी होती है। हालांकि यह परेशानी किसी चिंता के कारण या अनिंद्रा की वजह से भी हो सकती है।

6. हृदय की धड़कन बढ़ना

यदि आप महसूस करते हैं कि आपके हृदय की धड़कन पहले के मुकाबले तेज हो गई हैं या आपको अपने हृदय क्षेत्र में दर्द महसूस हो रहा है, तो यह उच्‍च रक्‍तचाप का भी कारण हो सकता है।

7. सांस लेने में तकलीफ

ब्लड प्रेशर के मरीजों को सांस लेने में तकलीफ की समस्या भी हो सकती है। दरअसल अचानक बढ़े ब्लड प्रेशर का असर फेफड़ों पर भी पड़ता है, जिससे व्यक्ति को ऐसी परेशानी आ सकती है।

Read More Articles On Heart Health In Hindi

Disclaimer