साइलेंट हार्ट अटैक में नहीं दिखते गंभीर लक्षण, 8 सामान्य दिखने वाले संकेतों को न करें नजरअंदाज

साइलेंट हार्ट अटैक यानी ऐसा अटैक जिसमें कोई गंभीर लक्षण न दिखाई दें। साइलेंट हार्ट अटैक, सामान्य हार्ट अटैक से भी ज्यादा खतरनाक होता है। सामान्य हार्ट अटैक होने पर व्यक्ति को सीने में तेज दर्द होता है और जबड़े टेढ़े होने लगते हैं, मगर साइलेंट हार्

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Dec 28, 2017
साइलेंट हार्ट अटैक में नहीं दिखते गंभीर लक्षण, 8 सामान्य दिखने वाले संकेतों को न करें नजरअंदाज

साइलेंट हार्ट अटैक यानी ऐसा अटैक जिसमें कोई गंभीर लक्षण न दिखाई दें। साइलेंट हार्ट अटैक, सामान्य हार्ट अटैक से भी ज्यादा खतरनाक होता है। सामान्य हार्ट अटैक होने पर व्यक्ति को सीने में तेज दर्द होता है और जबड़े टेढ़े होने लगते हैं, मगर साइलेंट हार्ट अटैक में ऐसे कोई लक्षण नहीं दिखाई देते हैं। ऐसा अटैक होने पर व्यक्ति में इतने सामान्य लक्षण नजर आते हैं कि लोग उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं या गंभीरता से नहीं लेते हैं। इसी कारण साइलेंट हार्ट अटैक के कारण व्यक्ति की मौत होने की आशंका ज्यादा होती है। दुनियाभर में हार्ट अटैक के जितने मामले आते हैं, उनमें से 25% मामलों में साइलेंट हार्ट अटैक मौत का जिम्मेदार होता है।

इसे भी पढ़ें:- कहीं आपका दिल बीमार तो नहीं, यह रहे लक्षण



हार्ट अटैक के कुछ मामलों में ऐसा भी देखा गया है कि व्यक्ति को अचानक तेज गर्मी लगती है और शरीर से तेज पसीना निकलने लगता है। इसके कुछ समय बाद ही बिना कोई गंभीर लक्षण दिखे ही व्यक्ति की मौत हो जाती है। इसलिए ये एक खतरनाक हार्ट अटैक माना जाता है। साइलेंट हार्ट अटैक के ज्यादातर मामलों में लोग नासमझी कर जाते हैं, जिससे परिणाम गंभीर हो सकते हैं। आइए आपको बताते हैं किन लक्षणों का दिखना खतरनाक हो सकता है।

साइलेंट हार्ट अटैक के लक्षण

  • सीने में हल्का सा दर्द होना
  • सांस लेने में तकलीफ महसूस होना
  • अचानक से कमजोरी का एहसास होना
  • गले और जबड़े में तकलीफ होना
  • दिल में हल्का सा करंट लगने जैसा महसूस होना
  • पेट में गैस बनना और पेट में गड़बड़ महसूस होना
  • अचानक से तेज गर्मी लगना और पसीना आने लगना
  • अचानक से मितली और उल्टी होने लगना

ये लक्षण इतने सामान्य हैं कि इनके दिखने पर किसी का भी ध्यान हार्ट अटैक जैसी बड़ी बीमारी पर नहीं जाएगा। लेकिन अगर यही लक्षण 15 मिनट से ज्यादा समय तक महसूस हों या धीरे-धीरे बढ़ते जा रहे हों, तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। आमतौर पर ये हार्ट अटैक 50 की उम्र के बाद ही होते हैं। लेकिन अगर किसी को डाइबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियां हैं या स्मोकिंग और अल्कोहल की लत है, तो हार्ट अटैक 40 की उम्र तक भी आ सकता है। हार्ट अटैक कई बार इंसान को संभलने का ज्यादा वक्त नहीं देता है इसलिए जरूरी है कि बिना किसी रोग या रोग के लक्षण के भी आप साल में एक बार अपनी पूरी बॉडी का चेकअप करवाएं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Heart Health In Hindi

Disclaimer