हार्ट यानी आपका दिल कैसे फंक्शन करता है? दिल को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है दिल का काम समझना

हार्ट को हेल्‍दी रखने के ल‍िए उसके फंक्‍शन करने के सही तरीके को जानना जरूरी है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: May 01, 2022Updated at: May 01, 2022
हार्ट यानी आपका दिल कैसे फंक्शन करता है? दिल को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी है दिल का काम समझना

हार्ट हमारे शरीर का सबसे जरूर अंग है। ये हमारे पूरे शरीर में ब्‍लड को सप्‍लाई करने का काम करता है। ब्‍लड की मदद से शरीर में ऑक्‍सीजन और पोषक तत्‍वों को भेजा जाता है और कॉर्बन डाइऑक्‍साइड व अन्‍य अपश‍िष्‍ट पदार्थों को शरीर के बाहर न‍िकालने का काम करता है। हार्ट को हमारे कार्डियोवास्कुलर सिस्टम का सबसे जरूरी अंग माना जाता है। आइए जानते हैं कैसे काम करता है हमारा हार्ट।

heart function

image source: www.nurse.com

हार्ट कैसा द‍िखता है? (How heart look like) 

हार्ट ब्‍लड को पंप करके पूरे शरीर में पहुंचाने का काम करता है। हार्ट, सीने और फेफड़े के बीच मौजूद होता है। इसका आकार एक शंख जैसा होता है। हार्ट के वजन की बात करें तो इसका वजन करीब 299 ग्राम का होता है। हार्ट के दोनों चैम्‍बर्स को एट्र‍िया के रूप में जाना जाता है वहीं न‍िचले ह‍िस्‍से की बात करें तो इसे वेंट्र‍िकल कहा जाता है। इस मुताब‍िक हार्ट के दाह‍िने ह‍िस्‍से में एट्र‍िया और दाईं ह‍िस्‍से में वेंट्र‍िकल होते हैं। 

इसे भी पढ़ें- Gully Boy रैपर MC Tod Fod का निधन, 4 महीने में 2 बार आया हार्ट अटैक, जानें क्यों बढ़ रहे हैं ऐसे मामले

हार्ट कैसे काम करता है? (How heart works)  

  • ऑक्‍सीजन मुक्‍त ब्‍लड को दाएं एट्र‍िअम की मदद से हार्ट में प्रवेश करने को म‍िलता है और दाएं वेंट्र‍िकल से ब्‍लड फेफड़ों में जाता है ताक‍ि ऑक्‍सीजन भर सके और सीओटू छोड़ सके।
  • ताजा ऑक्‍सीजन से भरे ब्‍लड को फ‍िर से ड‍िवाइड करने के ल‍िए द‍िल के बाएं कक्ष से शरीर के बाक‍ि ह‍िस्‍सों में भेजा जाता है।
  • एट्र‍िआ और वेंट्र‍िकल एक साथ काम करते हैं जो हार्ट से ब्‍लड को पंप करते हुए शरीर में भेजते हैं और फ‍िर ब्‍लड को वाप‍िस लाने का काम करते हैं। 
  • हमारे हार्ट का काम होता है धम‍न‍ियों की मदद से ऑक्‍सीजन और पोषक तत्‍वों को शरीर के बाक‍ि ह‍िस्‍सों तक पंप करते हुए पहुंचाना।
  • एक नॉर्मल व्‍यक्‍त‍ि की बात की जाए तो एक सामान्‍य मानव का द‍िल एक म‍िनट में 72 से 80 बार धड़कता है।

हार्ट से जुड़े तथ्‍य (Facts related to heart)

  • जहां एक व्‍यस्‍क का हार्ट रेट 60 से 100 बीट्स प्रत‍ि म‍िनट होता है वहीं नवजात श‍िशु का हार्ट रेट 70 से 190 बीट्स पर म‍िनट होता है।
  • अगर आप एक महि‍ला और पुरुष के हार्ट को कंपेयर करें तो मह‍िला का द‍िल थोड़ा तेज धड़कता है।  
  • प्रेगनेंसी के चौथे हफ्ते बाद गर्भस्‍थ श‍िशु का द‍िल धड़कना शुरू हो जाता है।   
  • एक द‍िन की बात करें तो द‍िल करीब 100,000 बार धड़कता है और उसका आकार मुट्ठी के बराबर होता है। 
  • द‍िल तब तक धड़क सकता है जब तक उसे ऑक्‍सीजन म‍िलती है यानी अगर क‍िसी व्‍यक्‍त‍ि को ब्रेन डैड घोष‍ित कर द‍िया गया है तो भी उसका द‍िल थोड़े समय तक धड़क सकता है।

इसे भी पढ़ें- बिना दवाइयों के भी ठीक की जा सकती है दिल की बीमारी, जानें 9 आसान तरीके

हार्ट ड‍िसीज के लक्षण (Symptoms of heart disease)

heart in hindi tips

image source: slideplayer.com

अगर आपको द‍िल की बीमारी है तो आपको ये लक्षण नजर आ सकते हैं- 

  • द‍िल की धड़कन का अचानक से तेज होना।
  • सीने में दर्द या बेचैनी की समस्‍या होना।
  • बेहोशी या चक्‍कर आना भी बीमार द‍िल का लक्षण है।
  • पसीना आना या बगल में अचानक से तेज दर्द होना।
  • सांस लेने में परेशानी होना या जल्‍दी थक जाना।   

हार्ट से जुड़ी बीमार‍ियां (Heart related diseases)

हार्ट से जुड़ी कई बीमार‍ियां हैं जैसे-

  • कोरोनरी आरट्री ड‍िसीज 
  • हार्ट अटैक की बीमारी 
  • ड‍ीप वेन थ्राम्‍बोस‍िस 
  • रुमेट‍िक हार्ट ड‍िसीज 
  • जन्‍मजात हार्ट ड‍िसीज 
  • द‍िल की अन‍ियम‍ित धड़कन            

हार्ट को हेल्‍दी कैसे रख सकते हैं? (How to keep heart healthy)

  • हार्ट को हेल्‍दी रखने के ल‍िए आप रोजाना व्‍यायाम करें। 
  • आपको अपने हार्ट को हेल्‍दी रखने के ल‍िए तनाव कम करना चाह‍िए।
  • रोजाना योगा, मेड‍िटेशन, ब्रीद‍िंग एक्‍सरसाइज प्रैक्‍ट‍िस करें।     

हार्ट का फंक्‍शन तो आप समझ ही गए होंगे, इसके महत्‍व को समझते हुए आप हार्ट को हेल्‍दी रखने की ट‍िप्‍स को जरूर आजमाएं।

main image source: conehealth   

Disclaimer