क्‍या पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) को बि‍ना दवाओं के ठीक क‍िया जा सकता है? जानें क्‍या कहते हैं डॉक्‍टर

पीसीओएस का इलाज करने के ल‍िए आपको लाइफस्‍टाइल में कुछ बदलाव करने होंगे जैसे हेल्‍दी डाइट लेना, कसरत करना और अनहेल्‍दी चीजों का सेवन अवॉइड करना आद‍ि 

 
Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 02, 2021Updated at: Sep 02, 2021
क्‍या पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) को बि‍ना दवाओं के ठीक क‍िया जा सकता है? जानें क्‍या कहते हैं डॉक्‍टर

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम या पीसीओएस क्‍या होता है? ये मह‍िलाओं की ओवरी से जुड़ी गंभीर बीमारी है ज‍िसके चलते मह‍िलाओं के शरीर में हार्मोन का संतुलन ब‍िगड़ जाता है। इस बीमारी के कारण मेल हार्मोन का स्‍तर ज्‍यादा बढ़ने लगता है। पीसीओएस होने पर यूट्रस में गांठ या स‍िस्‍ट भी बन सकती है। पीसीओएस के कारण टाइप 2 डायब‍िटीज का खतरा भी बढ़ सकता है। इसे जीवनशैली से जुड़ा रोग माना जाता है क्‍योंक‍ि वजन बढ़ने के कारण, अनहेल्‍दी खाने के कारण आद‍ि आदतों से ये बीमारी होती है। पीसीओएस का इलाज पूरी तरह संभव नहीं है पर खानपान और जीवनशैली में बदलाव करके आप इस बीमारी से काफी हद तक बच सकते हैं। कई मह‍िलाएं ये जानना चाहती हैं क‍ि क्‍या ब‍िना दवाओं के पीसीओएस का इलाज मुमक‍िन है तो इस जवाब पर ज्‍यादा जानकारी के लि‍ए आपको पूरा लेख पढ़ना चाह‍िए। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने झलकारीबाई अस्‍पताल की गाइनोकॉलोज‍िस्‍ट डॉ दीपा शर्मा से बात की।

pcos treatment

(image source:cherokeewomenshealth)

क्‍या पीसीओएस को ब‍िना दवाओं के ठीक क‍िया जा सकता है? (Can you treat PCOS without medication)

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम को ब‍िना दवाओं के ठीक करना मुमक‍िन है पर उसके ल‍िए आपको सही डाइट और अच्‍छी जीवन शैली फॉलो करनी होगी। हालांक‍ि पीसीओएस को पूरी तरह से ठीक क‍िया नहीं जा सकता पर काफी हद तक आप इस बीमारी को कंट्रोल कर सकते हैं। पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम से कई मह‍िलाएं गर्भावस्‍था के चरण तक नहीं पहुंच पाती इसल‍िए आपको इसका इलाज और डायगनोस‍िस जल्‍द से जल्‍द करवाना चाह‍िए। हार्मोनल टेस्‍ट, अल्‍ट्रासाउंड के जर‍िए पीसीओएस का पता लगाया जाता है। अगर आपके डॉक्‍टर बोलते हैं क‍ि आपको पीसीओएस है तो आपको अपनी जीवनशैली बदलनी चाह‍िए, हालांक‍ि कुछ केस में मह‍िलाओं को दवा लेने की सलाह दी जाती है पर हर केस अलग होने के कारण आपको अपने डॉक्‍टर से इस पर राय ल‍ेनी चाहि‍ए।

इसे भी पढ़ें- PCOD का आयुर्वेदिक उपचार: 13 से 40 साल की महिलाओं को ज्यादा होता है पीसीओडी का खतरा, जानें लक्षण

पीसीओएस को ठीक करने के ल‍िए वजन घटाना जरूरी है (Weight loss is important to treat PCOS)

weight loss for pcos

(image source:eatthis.com)

पीसीओएस से पीड़‍ित मह‍िलाओं का वजन बढ़ जाता है और अगर आप ध्‍यान न दें तो मोटापे के लक्षण आपको घेर लेते हैं। अगर वजन और बीएमआई सामान्‍य से ज्‍यादा है तो आपको जल्‍द से जल्‍द डॉक्‍टर से म‍िलना चाह‍िए। पीसीओएस अनुवांश‍िक भी हो सकता है और वजन बढ़ने के कारण आप डायब‍िटीज का श‍िकार भी हो सकती हैं इसल‍िए रोजाना हेल्‍दी डाइट लें, व्‍यायाम करें और वजन को कंट्रोल करें। वजन कम करने वाले योगा में आपको कपालभात‍ि करना चाह‍िए। इसके अलावा अपनी डाइट से शुगर पूरी तरह से कम कर दें और फाइबर की मात्रा बढ़ाएं। वजन कम करने के लि‍ए आपको ताजा फल और सब्‍ज‍ियों का सेवन करना चाह‍िए। इसके अलावा वजन कम करने के ल‍िए अच्‍छी नींद लेनी है, स्‍ट्रेस को कम करना है और कसरत को रूटीन में एड करना है।

पीसीओएस को ठीक करने के ल‍िए डाइट में बदलाव करने होंगे (Diet changes to treat PCOS)

पीसीओएस का इलाज करने के लिए आपको कम कार्ब वाली चीजें खानी चाह‍िए और अपनी डाइट में ऐसी चीजों को शाम‍िल करना चाह‍िए ज‍िसमें कम ग्‍लाइसेम‍िक इंडेक्‍स हो। आपको डाइट में फल, हरी सब्‍जि‍यां, होल ग्रेन वीट आद‍ि को शाम‍िल करना चाह‍िए। पीसीओएस को ठीक करने के ल‍िए स‍िर्फ व्‍यायाम काफी नहीं है बल्‍क‍ि आपको पौष्‍ट‍िक आहार लेना भी जरूरी है। सही डाइट फॉलो करके आप डायब‍िटीज से बचाव भी कर सकते हैं। आपको फाइबर इंटेक बढ़ाने के लि‍ए ब्रोकली, बीन्‍स, पालक, बेरीज आद‍ि चीजों का सेवन करना चाह‍िए। हेल्‍दी फैट का सेवन करने के लि‍ए आपको कोकोनट ऑयल या ऑल‍िव ऑयल में पका खाना ही कन्‍ज्‍यूम करना चाह‍िए। दही को जरूर अपनी डाइट का ह‍िस्‍सा बनाएं, इससे आपके शरीर में गुड बैक्‍टीर‍िया बढ़ेंगे। आपको डाइट में एल्‍कोहॉल, स्‍मोकिंग, कैफीन को ब‍िल्‍कुल भी शाम‍िल नहीं करना है।

इसे भी पढ़ें- महिलाओं के चेहरे पर मुंहासे और अनचाहे बाल हो सकते हैं PCOD का संकेत, एक्सपर्ट से जानें इसका आयुर्वेदिक इलाज

पीसीओएस को ठीक करने के ल‍िए एक्‍सरसाइज को रूटीन में एड करें (Add exercise in your routine to treat PCOS)

exercise for pcos

(image source:helpguide.org)

पीसीओएस का इलाज करना है तो आपको हर द‍िन कम से कम 30 से 40 म‍िनट वॉक करना चाह‍िए। वजन घटाने के लि‍ए वॉक लाभदायक मानी जाती है। इसके अलावा आप कार्ड‍ियो वर्कआउट भी कर सकते हैं। धीरे-धीरे स्‍पीड बढ़ाकर आप रोज के अपने लक्षय को पूरा कर सकते हैं। एक्‍सरसाइज में आप पुश-अप्‍स कर सकते हैं, ल‍िफ्ट के बजाय सीढ़‍ियों का इस्‍तेमाल करना भी अपने आप में एक अच्‍छी एक्‍सरसाइज है। वैसे तो एक्‍सरसाइज करने के ल‍िए सुबह का समय सबसे अच्‍छा होता है पर आपको शेड्यूल बि‍जी रहता है तो आप शाम को भी कसरत कर सकते हैं। अगर आपके पास साइक‍िल है तो इससे अच्‍छी कसरत कोई और हो नहीं सकती है, सुबह-शाम कम से कम आधा घंटा साइक‍िल चलाएं। घर के काम करना भी अपने आप में एक तरह की कसरत है पर आप उससे क‍ितनी कैलोरीज घटा सकते हैं ये आपकी द‍िनचर्या पर न‍िर्भर करता है। 

पीसीओएस को ठीक करने के ल‍िए फैटी और ऑयली चीजों का सेवन न करें (Avoid fatty food to treat PCOS)

fatty oily things

(image source:123rf.com)

ऑयली फूड या फास्‍ट फूड खाने के नुकसान आप सब जानते हैं, ऑयली फूड न स‍िर्फ आपके लीवर को फैटी बनाता है बल्‍क‍ि आपका वजन हर तरफ से बढ़ने लगता है। फास्‍ट फूड में मौजूद फैट आपके शरीर में जाकर जमा हो जाता है और आप मोटे होने लगते हैं। ऑयली चीजों के अलावा आपको मीठी चीजों का सेवन भी कम से कम करना है। ऊपर से डाली हुई चीनी, मीठी चीजें पूरी तरह से अवॉइड करें। कोश‍िश करें क‍ि ज‍िन चीजों को आप डीप फ्राई तकनीक से बनाते हैं उसे शैलो फ्राई करें, पराठे की जगह रोटी खाएं। ट‍िक्‍की जैसी चीजों को तलने के बजाय तवे पर कम बटर डालकर सेकें। बर्गर, प‍िज्‍जा, पकौड़ी, पराठा, जैसी चीजों से क‍िनारा कर लें। भारतीय खाने में तेल का प्रयोग सब्‍ज‍ियों में भी बहुत अध‍िक होता है आपको कम कमी सब्‍ज‍ियों का सेवन करना चाह‍िए। फैट को कम करने के लि‍ए आपको पर्याप्‍त मात्रा में पानी का सेवन करना चाह‍िए। आपको हर द‍िन दो से तीन लीटर पानी का सेवन करना चाह‍िए। 

पीसीओएस का सही इलाज जानने के लि‍ए आपको डॉक्‍टर से सलाह जरूर ल‍ेनी चाह‍िए, अगर आप पीसीओएस की शुरूआती स्‍टेज पर हैं तो आप हेल्‍दी लाइफस्‍टाइल की मदद से इस समस्‍या के दुष्‍पर‍िणामों से बच सकते हैं। 

(main image source:drsitasharma.com,cdn-adm.imgix.net)

Read more on Women Health in Hindi 

Disclaimer