महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन बढ़ने पर दिखते हैं ये लक्षण, जानें इसे कम करने के 6 उपाय

अनियमित मासिक धर्म, चेहरे पर बाल उगना महिलाओं के शरीर में बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन के लक्षण हो सकते हैं। जानें इसे कम करने के उपाय-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 09, 2022Updated at: Jun 09, 2022
महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन हॉर्मोन बढ़ने पर दिखते हैं ये लक्षण, जानें इसे कम करने के 6 उपाय

How to Reduce Testosterone Level: टेस्टोस्टेरोन हार्मोन, पुरुषों के शरीर में पाया जाने वाला एक मुख्य सेक्स हार्मोन है। इसका उत्पादन अंडकोष में होता है। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन पुरुषों के सेक्सुअप हेल्थ संबंधित होता है। यह हार्मोन पुरुषों में कामेच्छा बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है। लेकिन कुछ मात्रा में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन महिलाओं के शरीर में भी पाया जाता है। जब यह शरीर में सीमित मात्रा में होता है, तो आप स्वस्थ रह सकते हैं। लेकिन कई बार यह हार्मोन शरीर में बढ़ने लगता है। मोटापा, वजन बढ़ना, मुहांसे, मूड स्विंग, कंसीव करने में दिक्कत, चेहरे पर बाल उगना, अनियमित मासिक धर्म, आवाज का गहरा होना, स्वर बैठना, और ब्रेस्ट साइज में का छोटा होना महिलाओं के शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बढ़ने के लक्षण हो सकते हैं। इसे आप कुछ उपाय की मदद से कम कर सकते हैं।

तो चलिए जानते हैं महिलाओं के शरीर में बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन लेवल को कम कैसे करें-

soya products

1. सोया प्रोडक्ट्स (Soy Based Products)

टेस्टोस्टेरोन को कम करने के लिए आप सोया प्रोडक्ट्स का सेवन कर सकते हैं। सोया प्रोडक्ट्स जैसे टोफू, सोया दूध आदि खाने से टेस्टोस्टेरोन के स्तर में गिरावट आ सकती है। सोया प्रोडक्ट्स पाइटोस्ट्रोजन में हाई होते हैं। ये हार्मोन के लेवल को बदलकर टेस्टोस्टेरोन को कम करते हैं। 

2. पुदीना (Mint)

पुदीना भी टेस्टोस्टेरोन के लेवल को कम करने में मदद कर सकता है। इसके लिए आप पुदीने की चाय पी सकते हैं। अगर महिलाओं के शरीर में टेस्टोस्टेरोन लेवल बढ़ा है, तो वे पुदीने को अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं। इसके अलावा पुरुष भी पुदीने का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि कई बार पुरुषों के शरीर में भी यह हार्मोन जरूरत से ज्यादा बढ़ जाता है। इससे शरीर में बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन लेवल को कम करने में मदद मिलती है। 

इसे भी पढ़ें - महिलाओं में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन की कमी होने पर दिखते हैं ये 3 संकेत, जानें इसे बढ़ाने के 6 उपाय

3. मुलेठी की जड़ (Liquorice Root)

मुलेठी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है। मुलेठी के सेवन से कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर किया जा सकता है। मुलेठी की जड़ का उपयोग शरीर में टेस्टोस्टेरोन लेवल कम करने के लिए किया जा सकता है। इसके सेवन से मासिक धर्म को नियमित किया जा सकता है।  

4. वेजिटेबल ऑयल (Vegetable Oil)

कैनोला, सोयाबीन, मक्का और बिनौला वेजिटेबल ऑयल होते हैं। ये पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। फैटी एसिड को आमतौर पर हेल्दी फैट माना जाता है। वेजिटेबल ऑयल से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम किया जा सकता है। पॉलीएनसेचुरेटेड फैट इसके लक्षणों में कमी कर सकता है।  

5. अलसी के बीज (Flaxseeds)

अलसी के बीज सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। अलसी के बीज हार्ट हेल्थ के लिए लाभकारी होते हैं। इसमें हेल्दी फैट, फाइबर और कई विटामिन्स, मिनरल्स पाए जाते हैं। टेस्टोस्टेरोन लेवल को कम करने के लिए भी आप अलसी के बीजों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। अलसी के बीजों में लिग्नांस की मात्रा अधिक होती है, ये शरीर से टेस्टोस्टेरोन को कम करने में मदद करते हैं। अलसी को रोजाना लेने से इसके लक्षणों में कमी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - महिलाओं के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है प्रोजेस्टेरोन हार्मोन, जानें इसके 4 मुख्य फंक्शन

6. नट्स (Nuts)

नट्स या मेवे फाइबर, फोलिक एसिड, सेलेनियम और मैग्नीशियम जैसे मिनरल्स से भरपूर होते हैं। महिलाएं अपने बढ़े हुए टेस्टोस्टेरोन हार्मोन को कम करने के लिए अपनी डाइट में नट्स या मेवे शामिल कर सकती हैं। मेवे से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। 

अगर आपको भी टेस्टोस्टेरोन हार्मोन बढ़ने के लक्षण नजर आ रहे हैं, तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। क्योंकि यह किसी सामान्य या गंभीर कारण की वजह से हो सकता है। इस दौरान महिलाओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। बढ़े हुए टेस्टोस्टेरन के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करें। 

Disclaimer