बच्चों को ज्यादा पानी पीने की आदत कैसे डलवाएं? जानें 5 खास तरीके

बच्चों में पानी की कमी कई स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं पैदा कर सकता है। ऐसे में शुरुआत से ही अपने बच्चों में ज्यादा पानी पीने की आदत डालें। 

 
Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Oct 27, 2021
बच्चों को ज्यादा पानी पीने की आदत कैसे डलवाएं? जानें 5 खास तरीके

पानी की कमी (dehydration) किसी को भी हो सकती है और ये शरीर को प्रभावित करती है। पर बच्चों में पानी की कमी पर ज्यादातर लोगों का ध्यान नहीं जाता। आमतौर पर इसे लेकर माता-पिता भी तभी जागरूक होते हैं जब बच्चों में पानी की कमी के लक्षण (signs of dehydration in toddlers) नजर आते हैं। जैसे कि कम पेशाब आना, होंठों का फटना, मुंह में सूखापन, थकान, सुस्ती, कब्ज और चिड़चिड़ापन। ऐसे में इन लक्षणों को दूर करने के लिए आप डॉक्टर की मदद लेते हैं और फिर बच्चों को तरह-तरह से पानी वाली चीजों को खिलाते-पिलाते हैं। पर हर माता-पिता को इस बारे में पहले से ही सोचना चाहिए और अपने बच्चों में ज्यादा पानी पीने की आदत डालनी चाहिए। तो, अगर आपका बच्चा पानी नहीं पीना चाहता या बस काम भर का पानी पीता है, तो हमारे ये खास टिप्स बच्चों को ज्यादा पानी पीने की आदत डलवाने में आपकी मदद कर सकते हैं।

insidechildtodrinkmorewater

बच्चों को ज्यादा पानी पीने की आदत कैसे डलवाएं-How to motivate your child to drink more water? 

1. पीने के पानी के लिए समय तय करें

बच्चों में पानी पीने की आदत डलवाने के लिए सबसे पहले कुछ समय तय करें और उन्हें बताएं कि आपको इस समय पर जरूर पानी पीना है। क्योंकि अगर आप उन पर ये छोड़ देंगे कि कभी भी पानी पीना है, तो ये भूल जाएंगे और पानी नहीं पीएंगे। इसलिए बच्चों के लिए पानी पीने का समय तय करें। जैसे कि 

2. बच्चे के पास हमेशा एक पानी की बॉटल रखें

बच्चे को पानी पिलाने की आदत डालने के लिए उनके पास हमेशा एक बॉटल रखें। ताकि वे दिन भर पानी पीते रहें। आप उनके बॉटल के साथ भी कुछ नया कर सकते हैं, जैसे कि उनके लिए रंगीन बोतल चुनें। ऐसे में वे अपने पसंदीदा पानी की बोतल से पानी पीते रहेंगे।  इसके लिए बॉटल बच्चे को खुद ही चुनने दें और फिर उन्हें दिन भर इसका पानी पीने के लिए प्रोत्साहित करें।

इसे भी पढ़ें : बच्चों के तलवे सपाट होने (फ्लैट फुट) के हो सकते हैं 4 कारण, जानें इससे बचाव के उपाय

3. पानी को आकर्षक बनाएं।

स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी, संतरे के छिलकेऔर पुदीना डालकर सादे पानी को आकर्षक बनाएं। अगर आपके बच्चे को सिर्फ फलों का जूस पसंद है, तो उन्हें पानी से पतला करें और फिर अपने बच्चे को पीने दें। आप जूस को आइस ट्रे में भी फ्रीज कर सकते हैं और क्यूब्स को सादे पानी में मिला कर उन्हें दे सकते हैं। इसके अलावा अगर आपके बच्चे को सादा पीनी पीना ना पसंद हो तो उसे पानी में कुछ मीठा मिला कर भी दे सकते हैं। कुछ ना हो तो आप उन्हें ताजे फलों से बने जूस भी दे सकते हैं। कोशिश करें कि कैसे भी उनके शरीर में पानी जाए और उनका हाइड्रेशन सही रहे। 

insidehydratingfruits

4. पानी से भरपूर फल और सब्जियां दें

फल और सब्जियां भी पानी का एक अच्छा स्रोत हैं। आप अपने बच्चों को खीरा, टमाटर, सलाद, तरबूज और स्ट्रॉबेरी जैसे पानी से भरपूर फूड्स खाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। ये  शरीर में हाइड्रेशन बढ़ाने में मदद करते हैं। अगर आपके बच्चे ऐसे फल और सब्जियां नहीं खाना चाहते हो आप सब्जियों से कोई टेस्टी रेसिपी बना कर दे सकते हैं। इसके अलावा आप फ्रूट्स से स्मूदी और कस्टर्ड बना कर उन्हें दे सकते हैं। ये सब उनके लिए फायदेमंद होगा। इसके अलावा आप फ्रोजन फ्रूट्स ट्राई कर सकते हैं। इसके लिए सादे पानी में स्वाद जोड़ने के लिए बर्फ के टुकड़े के बजाय जमे हुए फल डालें। आप या तो ताजे फल खरीद सकते हैं और इसे फ्रीज कर सकते हैं या इसे फ्रोजन खरीद सकते हैं। जमे हुए फलों के काटने के आकार के टुकड़े तैयार करें ताकि आपका बच्चा इसे आसानी से पकड़ सके और खा सके।

इसे भी पढ़ें : शिशुओं के बार-बार जम्हाई या उबासी लेने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें इसे कंट्रोल करने के आसान तरीके

5. बच्चों में पानी पीने का रेस लगवाएं

बच्चों को अगर आपको खेल-खेल में पानी पीना सिखाना है तो आपको इसमें क्रिएटिविटी दिखानी होगी। जैसे कि आपको बच्चे के सामने पानी पीकर एक मिसाल कायम करना होगा। फिर उनके साथ पानी पीने का रेस लगाना होगा और जीतने वाले के लिए गिफ्ट रखना होगा। इसके अलावा आप अपने घर के बच्चों में या बच्चों के दोस्तों में पानी पीने का रेस लगवा सकते हैं। 

इस तरह आप धीमे-धीमे करके अपने बच्चों में ज्यादा पानी पीने की आदत डाल सकते हैं। इसके अलावा कोशिश करें कि बच्चों में बहुत छोटी उम्र से ही पानी पीने की आदत डालें। जैसे ही शिशु 6 महीने का हो जाता है और ठोस आहार खाना शुरू कर देता है, वैसे ही पानी देना शुरू कर दें। उसके बाद उम्र बढ़ने के साथ उसमें पानी पीने की आदत डालते जाएं।

all images credit: freepik

Disclaimer