आपके परिवार या दोस्तों में भी है ईटिंग डिसऑर्डर की समस्या? तो इन आसान तरीकों से उन्हें दिलाएं छुटकारा

अगर आपके परिवार या दोस्तों में कोई ईटिंग डिसऑर्डर का शिकार है तो इन आसान तरीकों से उन्हें दिलाएं छुटकारा।

Vishal Singh
स्वस्थ आहारWritten by: Vishal SinghPublished at: Oct 12, 2020Updated at: Oct 12, 2020
आपके परिवार या दोस्तों में भी है ईटिंग डिसऑर्डर की समस्या? तो इन आसान तरीकों से उन्हें दिलाएं छुटकारा

ईटिंग डिसऑर्डर (Eating Disorder) या खाने के विकार कई कारणों से हो सकते हैं, जिसमें खाने के व्यवहार में अत्यधिक गड़बड़ी शामिल हो सकती है। ईटिंग डिसऑर्डर या खाने के विकार में कई लोग तनाव जैसी स्थिति के कारण ज्यादा खाने लगते हैं तो कई लोग किसी दूसरे कारण से अपनी डाइट को बिलकुल त्याग देते हैं। जबकि यह नकारात्मक विचारों और भावनाओं को नुकसान पहुंचाते हैं जो हानिकारक व्यवहार को भी बढ़ावा देते हैं। खाने के विकार वाले लोग असहज या दर्दनाक भावनाओं से निपटने के लिए भोजन का इस्तेमाल करते हैं।

इसके अलावा अस्थाई रूप से खाने से उदासी, गुस्सा या अकेलापन दूर होता है। लेकिन अगर ये कई दिनों तक चलता रहे तो ये आपके या आपके किसी अपने के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए आज हम आपको इस लेख में बताएंगे कि अगर आपके परिवार या दोस्त में कोई ईटिंग डिसऑर्डर या खाने के विकार से गुजर रहा है तो आप उससे कैसे इस स्थिति से बाहर निकालने में मदद कर सकते हैं। लेकिन उससे पहले जरूरी है ये जानना कि खाने के विकार के प्रकार क्या है।

EATING SIDORDER

अगर आप किसी दोस्त या परिवार के सदस्य को ईटिंग डिसऑर्डर का शिकार होता देख रहे हैं तो आपके लिए बोलना महत्वपूर्ण है। पहले आपको किसी से भी ये बात बोलने में डर लग सकता है या आप ये महसूस कर सकते हैं कि आप गलत हैं। लेकिन ये आपके दोस्त और परिवार के किसी सदस्य के लिए जरूरी है। ऐसा कर आप उन्हें खतरनाक स्थिति से बचा सकते हैं और उन्हें स्वस्थ बना सकते है। 

इसे भी पढ़ें: टोमेटो सॉस और व्हाइट सॉस नहीं बल्कि इस्तेमाल करें मस्टर्ड सॉस, जानें बनाने की विधि और खाने के फायदे

कैसे किसी को उनके खाने के विकार के बारे में बताएं

  • एक समय चुनें जब आप और आपके दोस्त या परिवार के सदस्य अकेले में हों, अगर आप उन्हें सबके सामने कहेंगे तो ये शायद उनके लिए नकारात्मक हो सकता है और वो आपके नाराज भी हो सकते हैं। इसलिए आप उन्हें अकेले में भावनात्मक शांत के समय बात करें और उन्हें उनके विकार के बारे में बताएं। 
  • अपने करीबी को ये बताएं कि आप उनके विकार के लक्षण को कब से देख रहे हैं और आप उनके लिए क्यों चिंतित हैं। इससे वो अपने लक्षणों को समझने के साथ ये भी समझ सकेंगे कि आप उन्हें लिए क्यों चिंता कर रहे हैं। 
  • जब आप उन्हें उनके विकार के बारे में बता दें तो उन्हें ये भी बताएं कि आप उनके साथ है और ये कोई बड़ी बीमारी नहीं है जिससे वो छुटकारा नहीं पा सकते। आप उन्हें बताएं कि आप उनके साथ हैं। 

ईटिंग डिसऑर्डर से छुटकारा कैसे पायें

बार-बार खाने से रोकें

अगर आप अपने दोस्त या परिवार के सदस्य के साथ हैं तो आप उनके खाने की रूटीन पर नजर रखें। बार-बार खाने की आदत से उन्हें रोकने की कोशिश करें और उन्हें बताएं कि आप हेल्दी डाइट लें और बार-बार खाने से बचें। 

इसे भी पढ़ें: प्रोटीन और फाइबर से भरपूर ये 3 दाल करेंगी वजन घटाने में आपकी मदद, अपने वेट लॉस डाइट में जरूर करें शामिल

समय पर भोजन की आदत डालें

कई लोगों की आदत होती है कि वो भोजन समय पर नहीं करते जिसके कारण उन्हें अलग-अलग समय पर कुछ न कुछ खाने की आदत होती है। जबकि आपको अपने प्रियजनों पर ये ध्यान देना होगा कि वो समय पर भोजन कर रहे हैं या नहीं। अगर नहीं कर रहे हैं तो आप उन्हें आदत दें कि समय पर भोजन करना कितना जरूरी है। इससे उनकी खाने की रूटीन बनती है और बार-बार खाने की आदत से भी छुटकारा मिलता है। 

तनावमुक्त करें

अगर आपका दोस्त या परिवार का कोई सदस्य तनाव में है और वो ज्यादा खा रहा है तो आप उन्हें तनावमुक्त करने की कोशिश करें। अक्सर लोग तनाव के दौरान ईटिंग डिसऑर्डर का शिकार होते हैं। ऐसे में आप उनसे बात करें और उन्हें समझाएं कि इस तरह खाने खाने से उनका स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। 

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer