टीनएज में झुर्रियां आने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें बचाव के लिए कुछ जरूरी कदम

टीनेज होने के बाद भी अगर आपको अपने फेस पर झुर्रियां दिखाई दे रही हैं तो यह चिंता का विषय है लेकिन आप कुछ घरेलू उपाय उसे ने दूर कर सकते हैं।

Monika Agarwal
त्‍वचा की देखभालWritten by: Monika AgarwalPublished at: Mar 20, 2022Updated at: Mar 20, 2022
टीनएज में झुर्रियां आने के हो सकते हैं ये 5 कारण, जानें बचाव के लिए कुछ जरूरी कदम

कम उम्र में झुर्रियां आना हमारे आत्म विश्वास को काफी कम कर सकता है और इससे हम खुद को दूसरों से कंपेयर करना शुरू कर देते हैं। जो हमें काफी झिंझोड़ कर रख सकता है। युवावस्था में ही झुर्रियां आने के काफी कारण हो सकते हैं जिसमें हमारा आजकल का खराब लाइफस्टाइल, हार्मोनल बदलाव, स्ट्रेस लेना और पौष्टिक खाना न खाना शामिल हैं। अगर आप पहले ही इनसे बचने की टिप्स को फॉलो कर लेते हैं तो इस स्थिति से दूरी बनाने में मिल सकती है आपको मदद। तो आइए जानते हैं कम उम्र में झुर्रियां के कारण और उनसे बचाव के टिप्स।

Inside_wrinkles

टीनएज रिंकल्स के कारण- Causes of Premature wrinkles in teenage

1. ज्यादा शुगर का सेवन करना

अधिक मात्रा में चीनी से युक्त चीजें खाने से स्किन की एजिंग प्रक्रिया तेज हो सकती है। ऐसा स्किन के प्रोटीन और शुगर में होने वाली केमिकल क्रिया के कारण होता है। इससे स्किन की इलास्टिसिटी कम होती है। इसलिए सीमित मात्रा में ही चीनी का सेवन करें।

2. काफी समय तक धूप में रहना

कम उम्र में हम स्किन को लेकर ज्यादा चिंता नहीं करते। हमें सनस्क्रीन का प्रयोग करना व्यर्थ लगता है। लेकिन जब झुर्रियां देखने को मिलती हैं तब अफसोस होता है। इसलिए अगर आप स्कूल जाते समय या किसी और काम को करते समय धूप में चलना पड़ता है तो अपने चेहरे को या तो ढंक लें और सनस्क्रीन का प्रयोग करना तो बिल्कुल न भूलें।

इसे भी पढ़ें: सेंसिटिव स्किन वाले लोगों के मन में अक्सर उठते हैं ये 6 सवाल, एक्सपर्ट से जानें इनके सही जवाब

3. धूम्रपान करना

इस उम्र में बहुत से लड़के लड़कियों को धूम्रपान करने का भी चाह शुरू हो जाता है। हालांकि ऐसा करना पूरी सेहत के लिए ही खराब होता है। तंबाखू में पाए जाने वाले कुछ तत्व स्किन के लिए काफी हानिकारक होते हैं और एजिंग प्रक्रिया को तेज बना देते हैं।

4. अधिक स्ट्रेस लेना 

टीनेज में रिलेशनशिप होना या फिर पढ़ाई की चिंता करना जैसे कई सारे विषय हो जाते हैं, जिनकी वजह से बच्चों के दिमाग पर काफी स्ट्रेस पड़ने लगता है। स्ट्रेस लेने से कॉर्टिसोल हार्मोन रिलीज होता है। इस हार्मोन के बढ़ने से शरीर में एजिंग प्रक्रिया तेज हो जाती है जिसके कारण झुर्रियां देखने को मिलती हैं।

5. ड्राई स्किन 

अगर स्किन में मॉइश्चर कम है तो स्किन सेल्स काफी प्रभावित होती हैं। ड्राई स्किन में बैरियर ढंग से काम नहीं कर पाते हैं जिस कारण स्किन की लेयर प्रदूषण या बाहरी फैक्टर्स से स्किन को होने वाले नुकसान से नहीं बचा पाती है। इसलिए ही स्किन में रिंकल्स देखने को मिलते हैं।

Inside_honeyforskin

इसे भी पढ़ें: सोया मिल्क चेहरे पर लगाने से मिलते हैं ये 4 फायदे, जानें कैसे बनाएं फेस पैक

झुर्रियों से बचाव के टिप्स-How to remove wrinkles quickly

स्किन पर शहद अप्लाई करें : शहद में ऐसे एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं जो फ्री रेडिकल्स को खत्म करते हैं जिनके कारण आपको झुर्रियां दिखती हैं। इसमें ऐसे कंपाउंड भी होते हैं जो डेड स्किन सेल्स को खत्म करते हैं और फाइन लाइंस को कम करते हैं।

फेस मसाज करें : ऑलिव ऑयल या बादाम के तेल से फेस मसाज करने से स्किन में ब्लड सर्कुलेशन में सुधार आता है। इससे झुर्रियां काफी स्मूद हो सकती हैं। ऐसा करने से पहले स्किन को हल्के गर्म पानी से अच्छे से साफ कर लें। इसके बाद भांप भी जरूर लें।

एलो वेरा का प्रयोग करें : एलो वेरा जेल से स्किन में कोलेजन की मात्रा बढ़ती है। कोलेजन स्किन इलास्टिसिटी को बढ़ाने और झुर्रियों को कम करने में एक अच्छी भूमिका निभाता है। आपको अपने चेहरे को साफ करने के बाद एलो वेरा जेल अप्लाई करना है और उसकी 10 मिनट तक मसाज करते रहें।

इसके अलावा विटामिन सी क्रीम्स का प्रयोग और एग व्हाइट मास्क का प्रयोग करना भी स्किन को जवां बनाए रखने में सहायक हैं। इसके अलावा इसे ठीक करने के लिए टॉपिकल ट्रीटमेंट का प्रयोग कर सकते हैं।

all images credit: freepik

Disclaimer